UP election 2022 : यूपी विस के छठे चरण के लिये आज शाम थम जायेगा प्रचार, पढ़े ताजा अपडेट

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के छठे चरण का प्रचार मंगलवार शाम छह बजे थम जायेगा। इस चरण में 10 जिलों की 57 विधानसभा सीटों के लिये तीन मार्च को मतदान होगा। मतदान के छठे चरण में पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की प्रतिष्ठा दांव पर होगी। इसके अलावा भाजपा छोड़कर सपा में शामिल हुये पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य जनता की कसौटी पर परखे जायेंगे।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने सोमवार को बताया कि छठवें चरण के मतदान को स्वतंत्र,निष्पक्ष, पारदर्शी एवं कोविड सुरक्षित तरीके से सम्पन्न कराने के लिये जरूरी तैयारियों एवं व्यवस्थाओं के लिए निर्देश दिए गए हैं। छठवें चरण में प्रदेश के 10 जिलों की 57 विधान सभा सीटों के लिए तीन मार्च को सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक मतदान करने का समय निर्धारित है।

छठवें चरण के 10 जिलों में अम्बेडकरनगर, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, बस्ती, संतकबीर नगर, महाराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया एवं बलिया के विधान सभा क्षेत्रों में मतदान होगा। छठवें चरण के निर्वाचन के लिए एक मार्च को शाम छह बजे के बाद से जनप्रतिनिधियों द्वारा किए जा रहे प्रचार-प्रसार पर प्रभावी रूप से रोक लग जायेगी और यह रोक छठवें चरण का मतदान समाप्त होने तक अर्थात 48 घण्टे तक प्रभावी रहेगी।

निर्वाचन कार्यक्रम के अनुसार तीन मार्च को छठवें चरण की जिन 57 विधान सभा सीटों के लिये मतदान होना है, उसमें कटेहरी, टांडा, आलापुर (अजा), जलालपुर, अकबरपुर,तुलसीपुर,गैंसड़ी,उतरौला,बलरामपुर (अजा),शोहरतगढ़, कपिलवस्तु (अजा), बांसी,इटवा, डुमरियागंज, हरैया, कप्तानगंज, रूधौली, बस्ती सदर, महादेवा (अजा), मेंहदावल, खलीलाबाद, धनघटा (अजा), फरेंदा, नौतनवा, सिसवा, महराजगंज (अजा), पनियरा, कैम्पियरगंज,पिपराइच,गोरखपुर शहर, गोरखपुर ग्रामीण,सहज़नवा,खज़नी (अजा),चौरी-चौरा, बांसगांव (अजा),चिल्लूपार,खड्डा,पडरौना,तमकुही राज, फाज़िलनगर,कुशीनगर,हाटा,रामकोला (अजा),रूद्रपुर,देवरिया,पथरदेवा,रामपुर कारखाना,भाटपार रानी,सलेमपुर (अजा),बरहज,बेल्थरा रोड (अजा),रसड़ा,सिकन्दरपुर,फेफना,बलिया नगर,बांसडीह एवं बैरिया विधान सभा शामिल है। श्री शुक्ला ने बताया कि प्रत्येक पोलिंग बूथ पर मतदाताओं को किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े, इसके लिए समुचित व्यवस्था कराने हेतु प्रशासन को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं।