Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / अमेठी-रायबरेली / UP Election 2022 : ईवीएम को लेकर नेताओं की उड़ी नींद, घर-बार छोड़कर बने चौकीदार

UP Election 2022 : ईवीएम को लेकर नेताओं की उड़ी नींद, घर-बार छोड़कर बने चौकीदार

रायबरेली । ईवीएम को लेकर अखिलेश यादव की चेतावनी के बाद नेताओं और उम्मीदवारों की नींद उड़ गई है। मंगलवार देर रात ईवीएम स्ट्रांग रूम के बाद सभी सपा उम्मीदवार और वरिष्ठ नेता समर्थकों सहित रात भर डटे रहे। ठंड में रात भर जाग कर पहरेदारी कर रहे कार्यकर्ता किसी भी कीमत पर आयोग पर भरोसा करने को तैयार नहीं है। स्ट्रांग रूम के बाहर टेंट और रजाई गद्दे की व्यवस्था की गई है और खाने पीने का व्यवस्थित इंतजाम भी संगठन द्वारा हो रहा है।

हालांकि इसको देखते हुए भारी मात्रा में सुरक्षा बलों को भी तैनात किया गया है। बावजूद इसके सपा नेताओं को अधिकारियों पर भरोसा नहीं है।ईवीएम स्ट्रांग रूम के बाहर डटे ऊंचाहार से सपा उम्मीदवार और पूर्व मंत्री मनोज पांडे का कहना है कि जिस तरह वाराणसी, लखनऊ, जौनपुर में घटनाएं हुईं है उससे साफ हो रहा है कि जनमत की चोरी करने की साजिश हो रही है। यह लोकतंत्र के इतिहास में अब तक नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि अधिकारी शासन के इशारे पर काम कर रहे हैं औऱ आयोग किसी भी शिकायत पर संज्ञान नहीं ले रहा है। पांडे ने कहा कि सभी सपा कार्यकर्ता मुस्तैदी से डटे हुए हैं और लोकतंत्र की लड़ाई में अपना सर्वस्व देने को तैयार हैं। इस बीच रायबरेली में समाजवादी पार्टी की ओर से मतगणना प्रभारी बनाई गई पूर्व सांसद अन्नू टंडन भी पहुंची और सभी उम्मीदवारों सहित कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की।

छोड़ा घर बार, नेता बने चौकीदार

रायबरेली में मतदान के बाद से समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं ने अपना घर बार छोड़ रखा है। 15 दिन से अब सब चौकीदार बने ईवीएम की निगरानी में जुटे हैं। गौराबाजार स्थित स्ट्रांग रूम के बाहर रजाई और गद्दे का भी इंतज़ाम है। होटल से खाने पीने की व्यवस्था हो रही है।इसके लिए पांच पांच कार्यकर्ताओं की टोली बनाई गई है जो इस काम मे पूरी मुस्तैदी से जुटे हुए हैं। इसके साथ ही बीच बीच में वरिष्ठ नेता भी आते जाते रहते हैं। सपा नेताओं की चिंता चुनाव परिणाम के पहले ईवीएम को लेकर है जिसके लिए सब अपने घर बार को छोड़कर चौकीदारी में जुटे हुए हैं।

Check Also

Report : 10 महीने से पृथ्वी के तापमान की रिकॉर्ड वृद्धि दर्ज, सबसे गर्म महीना बना…

वाशिंगटन (ईएमएस)। ताजा आंकड़ों से पता चला है कि बीता मार्च महीना धरती के अब ...