UP Assembly Elections 2022: जानें सबसे पहले किस विधानसभा का आएगा परिणाम

UP Assembly Elections 2022: गुरुवार की सुबह 8 बजे से शुरू होगी जिले के आठ विधानसभा क्षेत्रों में सात मार्च को हुए मतदान के मतों की गिनती। मतगणना पहड़िया मंडी स्थित मतगणना स्थल पर होगी। इसके लिए सारे इंतजाम लगभग पूरे कर लिए गए हैं। पहड़िया मंडी में मतों की गिनती के लिए विधानसभावार पंडाल बनाए गए हैं।

वाराणसी. UP Assembly Elections 2022: गुरुवार की सुबह आठ बजे से पहडिया मंडी में बने मतगणना स्थल पर शुरू होगी। मतों की गिनती के लिए मंडी में विधानसभावार पंडाल लगाए गए हैं। हर पंडाल में 14 टेबल लगाए जा रहे हैं। एक टेबल पर एक सुपरवाइजर तीन कर्मचारी और दो मतगणना सहायक को लगाया जाएगा जो मतों की गिनती करेंगे। साथ ही मतगणना की पल-पल की निगरानी के लिए हर टेबल पर माइक्रो आब्जर्वर भी होंगे।

सबसे पहले पोस्टल बैलेट के मतों की गणना
जिला निर्वाचन कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार विधानसभावार 40-42 चक्र में मतगणना होगी। मतगणना के लिए कुल 868 कर्मचारी तैनात किए गए हैं। बताया गया कि सबसे पहले पोस्टल बैलेट की गिनती होगी। ये गिनती होने के बाद ईवीएम में पड़े मतों की गिनती शुरू होगी। उप जिला निर्वाचन अधिकारी/ अपर जिलाधिकारी प्रशासन रणविजय सिंह के अनुसार 7700 से ज्यादा बुजुर्गों और विकलांग मतदाताओं, मतदान कर्मियों और सर्विस वोटरों ने पोस्टल बैलेट से मतदान किया है। ऐेसे में पोस्टल मतों की गणना क दौरान संबंधित विधानसभा क्षेत्र के रिटर्निंग ऑफिसर के टेबल पर पार्टी का एक अभिकर्ता भी होगा।

मतगणना एजेंट बनने को आरओ ऑफिस में करना होगा आवेदन
उप जिला निर्वाचन अधिकारी के अनुसार विभिन्न दलों के ऐसे लोग जो मतगणना एजेंट बनना चाहते हैं उन्हें संबंधित क्षेत्र आरओ ऑफिस में आवेदन करना होगा। आरओ ही एजेंट को पास जारी करेंगे।
मतगणना के दौरान एक टेबल पर एक एजेंट
मतगणना के लिए 14 टेबल होगी और हर टेबल पर एक अभिकर्ता रहेंगे। एक अभिकर्ता आरओ टेबल पर होगा।
आरओ और पर्यवेक्षकों की निगरानी में स्ट्रांग रूम से निकाले जाएंगे ईवीएम
मतगणना सुबह आठ बजे से शुरू होगी। सबसे पहले आरओ और पर्यवेक्षक की मौजूदगी में स्ट्रांग रूम से ईवीएम निकाले जाएंगे। इस दौरान सभी पार्टियों के प्रत्याशी और एजेंट उपस्थित रहेंगे।
दक्षिणी का परिणाम सबसे पहले
विधानसभा क्षेत्र के बूथों की संख्या के आधार पर परिणाम की घोषणा होगी। ऐसे में शहर दक्षिणी में सबसे कम बूथ रहे। ऐसे में सबसे पहले दक्षिणी विधानसभा क्षेत्र का परिणाम आएगा। वहीं रोहनिया और कैंट विधानसभा क्षेत्र में ज्यादा बूथ थे तो इन दोनों के परिणाम देर से घोषित होंगे।