UP Assembly Elections 2022 : जानें आजमगढ़ जिले की सभी सीटों के बारे में, पार्टियों के बीच कड़ा मुकाबला

यूपी विधानसभा चुनाव के सातवें चरण में आजमगढ़ की सभी सीटों पर भी मतदान होगा. साल 2017 के चुनाव में बीजेपी यहां खाता भी नहीं खोल पाई थी. इस बार भी बीजेपी को सपा-बसपा से कड़ी चुनौती मिल रही है.

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Elections 2022) के सातवें और आखिरी चरण का मतदान 7 मार्च को होगा. इस चरण में 54 सीटों पर मतदान होना है. प्रत्याशियों की बात करें तो 613 व्यक्ति चुनाव मैदान में हैं. इस चरण में नक्सल प्रभावित चकिया, दुद्धी और राबर्ट्सगंज सीट पर भी मतदान होना है. बता दें कि मतदान सुबह 7 बजे से शुरू होकर शाम 4 बजे तक होगा इसलिए इन सीटों पर मतदान से 48 घंटे पहले शनिवार शाम 4 बजे तक ही चुनाव प्रचार हुआ. अन्य सीटों पर शाम 6 बजे तक चुनाव प्रचार हुआ.

अपने इस लेख में हम आपको आजमगढ़ जिले की सभी सीटों के बारे में बताएंगे.   

आजमगढ़ जिले की गोपालपुर विधानसभा सीट से साल 2017 में सपा के प्रत्याशी ने जीत हासिल की थी. सपा के नफीस जावेद ने भाजपा के श्री कृष्ण पाल को 14,960 वोटों से मात दी थी. सपा ने फिर से नफीस जावेद को ही अपना प्रत्याशी बनाया है. भाजपा ने इस बार उनके खिलाफ सत्येंद्र राय को चुनाव मैदान में उतारा है. कांग्रेस की बात करें तो उन्होंने मिर्जा आलम बेग पर दांव चला है. बसपा ने रमेश चंद यादव को यहां से टिकट दिया है. वहीं, आम आदमी पार्टी ने ई. सुनील कुमार यादव पर दांव चला है.

आजमगढ़ जिले की सगड़ी विधानसभा सीट पर साल 2017 में बसपा की उम्मीदवार ने सपा के उम्मीदवार को हराया था. बसपा की बंदना सिंह ने सपा के जयराम पटेल को 5,475 वोटों से मात दी थी. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 से पहले ही बंदना सिंह ने बसपा छोड़कर बीजेपी का दामन थाम लिया था. इस बार बंदना सिंह भाजपा के टिकट पर यहां से चुनाव लड़ रही है. सपा ने उनके सामने हृदय नारायण सिंह पटेल को चुनाव मैदान में उतारा है. कांग्रेस ने राना खातून को अपना प्रत्याशी बनाया है. वहीं, बसपा की बात करें तो उन्होंने शंकर यादव पर दांव चला है. आम आदमी पार्टी ने यहां से मुकेश राय को टिकट दिया है.

आजमगढ़ जिले की मुबारकपुर विधानसभा सीट पर साल 2017 में बसपा के उम्मीदवार ने सपा के उम्मीदवार को हराया था. बसपा के शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली ने सपा के अखिलेश यादव को 688 वोटों से मात दी थी. बसपा ने इस बार यहां से अब्दुस सलाम को टिकट दिया है. भाजपा की बात करें तो उन्होंने अरविंद जायसवाल पर दांव चला है. सपा ने इस सीट से फिर से अखिलेश यादव को अपना प्रत्याशी बनाया है. कांग्रेस की बात करें तो उन्होंने प्रवीन बानो को यहां से टिकट दिया है. आम आदमी पार्टी ने नरेंद्र सिंह चौहान पर दांव चला है.

आजमगढ़ जिले की आजमगढ़ विधानसभा सीट पर साल 2017 में सपा के दुर्गा प्रसाद ने बीजेपी के अखिलेश को 26,268 वोटों से हराया था. सपा ने फिर से दुर्गा प्रसाद को यहां से टिकट दिया है. भाजपा ने उनके खिलाफ अखिलेश मिश्रा को अपना प्रत्याशी बनाया है. कांग्रेस की बात करें तो उन्होंने प्रवीण कुमार सिंह पर दांव चला है. बसपा ने यहां से सुशील कुमार सिंह को टिकट दिया है.

आजमगढ़ जिले की मेहनगर (सुरक्षित) विधानसभा सीट पर साल 2017 के चुनाव में सपा के उम्मीदवार ने सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी की प्रत्याशी को हराया था. सपा के कल्पनाथ पासवान ने मंजू सरोज को 5,412 वोटों से मात दी थी. इस बार मंजू सरोज भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रही है. सपा ने उनके सामने पूजा को चुनाव मैदान में उतारा है. वहीं, आम आदमी पार्टी की बात करें तो उन्होंने गीतांजलि देवी को अपना प्रत्याशी बनाया है. कांग्रेस ने यहां से निर्मला भारती को टिकट दिया है. बसपा ने पंकज कुमारी पर दांव चला है.

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के सातवें चरण में इन 54 विधानसभा सीटों पर होगा मतदान

ओबरा, अतरौला, अजगर, औराई, भदोही, चकिया, छांबी, दुद्धी, दीदारगंज, गोपालपुर, घोसी, ज्ञानपुर, मधुबन, मुबारकपुर, मोहम्मदाबाद गहना, मऊ, मछली शहर, मिर्जापुर, मरियाहू, मझवां, मोहम्मदाबाद, मुगलसराय, मुंगरा बादशाहपुर, रॉबर्ट्सगंज, रोहनियां, सकलडीहा, सागरी, शिवपुर, सेवापुरी, सैयदपुर, चुनार, शाहगंज, जौनपुर, मल्हानी,बदलापुर, पिंडारा, आजमगढ़, निजामाबाद, जमानिया, फूलपुर- पवई, लालगंज, मेहरगढ़, जाफराबाद, सैदपुर, मरिहां, घोरावल, वाराणसी उत्तर, वाराणसी दक्षिण, वाराणसी कैंट, गाजीपुर, जंगीपुर और जहूराबाद.