Agnipath Scheme Protest : जौनपुर में अग्निपथ के विरोध में जमकर बवाल, उपद्रवियों ने बाइकें, बसें फूंकी

0
296

Agnipath Scheme Protest : यूपी के जौनपुर जिले में अग्निपथ योजना के खिलाफ आज लगातार  प्रदर्शन हो रहा है। शनिवार सुबह ही सैकड़ों की संख्या में युवक ए​क बार फिर सड़कों पर उतर आए हैं। इस दौरान, बदलापुर और लालाबाजार में भारी बवाल और तोड़फोड़ किया गया है। खबरों के मुताबिक जौनपुर-प्रयागराज हाईवे पर लाला बाजार स्थित शिवगुलाम गंज तिराहे पर प्रदर्शनकारियों ने कई बाइकें, दो रोडवेज बसें, एक पुलिस की गाड़ी समेत कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। इस दौरान कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया है।

मौके पर जब पुलिस पहुंची को पुलिसकर्मियों पर जमकर पथराव किया गया। बेकाबू हालात को संभालने के लिए पुलिस ने पहले आंसू गैस के गोले छोड़े फिर हवाई फायरिंग की गयी। मौके पर प्रशासन और पुलिस के आलाधिकारी पहुंच गए हैं पर स्थिति पूरी तरह से तनावपूर्ण बनी हुई है।

गुस्साए उपद्रवियासें ने राज्य सूचना आयुक्त प्रमोद तिवारी को एस्कॉर्ट कर ले जा रहे पुलिस वाहन पर भी बदलापुर के समीप पूरामुकुंद गांव के पास पथराव कर दिया, जिसमें एसआई राजेन्द्र यादव व सिपाही राम सुजान यादव घायल हो गए हैं। जौनपुर-प्रयागराज हाईवे पर लंबा जाम लगा है।

उपद्रवियों पर नियंत्रण के लिए कई थानों की पुलिस को तैनात किया गया

बदलापुर के इंदिरा चौक पर सुबह सात बजे से ही जाम लगाने की कोशिश में प्रदर्शनकारी लगे रहे थे। करीब साढ़े आठ बजे युवाओं ने रोडवेज बसों को रोकते हुए सड़क जाम कर दिया। पुलिस ने समझाने की कोशिश की तो मामला बिगड़ गया। विरोध प्रदर्शन में शामिल युवाओं ने पुलिस पर पथराव कर दिया।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक करीब एक किमी तक पुरानी बाजार गांव के पास तक प्रदर्शनकारी और पुलिस के बीच पथराव का दौर चला। इस दौरान थानाध्यक्ष महराजगंज संतोष शुक्ला समेत कई लोग घायल भी हो गए। इसके बाद प्रदर्शनकारी श्रीकृष्ण नगर रेलवे स्टेशन की ओर चले गए।

ट्रेन रोकने की आशंका के मद्देनजर प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बदलापुर, महराजगंज, सिंगरामऊ थाने की फोर्स पहुंच गई है। सूचना पर एएसपी ग्रामीण शैलेंद्र कुमार सिंह भी मौके पर पहुंच गए हैं। साथ ही पुलिस लाइन से बड़ी संख्या में जवानों को बुलाया गया है। सेना में चार साल के लिए बतौर अग्निवीर की तरह भर्ती प्रक्रिया की घोषणा से सेना की तैयारी करने वाले युवकों में आक्रोश है। युवाओं का कहना है कि देश के लिए जुनून है, लेकिन सरकार उनके बारे में नहीं सोच रही है।