Breaking News
Home / अपराध / हैवानियत : पीलीभीत में छात्रा की दरिंदगी के बाद हत्या, खेत में बिना कपड़ों के मिला शव

हैवानियत : पीलीभीत में छात्रा की दरिंदगी के बाद हत्या, खेत में बिना कपड़ों के मिला शव

पीलीभीत में 12वीं की एक नाबालिग छात्रा के साथ सनसनीखेज वारदात सामने आई है। यहां के बरखेड़ा थाना क्षेत्र में ट्यूशन पढ़ने निकली छात्रा के साथ गन्ने के खेत में मुंह में कपड़ा ठूंसकर दुष्कर्म किया गया। उसके बाद उसकी गला दबाकर हत्या कर दी गई। देर रात उसका शव घर से 500 मीटर की दूरी पर खेत में मिला। उसके शरीर पर कपड़े नहीं थे। छात्रा शनिवार सुबह ट्यूशन पढ़ने के लिए निकली थी।

छात्रा के शरीर पर कई जगह चोट के निशान थे। शव के आसपास खून बिखरा हुआ था। खेत से कुछ ही दूरी पर छात्रा की किताबें, बैग, साइकिल और जूते बरामद हुए। पुलिस को घटनास्थल पर 4 बीयर की बोतलें, नमकीन और सिगरेट के टुकड़े मिले हैं। आशंका है कि आरोपियों में दो से ज्यादा लोग हो सकते हैं।

पिता का आरोप- पुलिस जबरन पोस्टमार्टम के लिए ले गई शव

छात्रा के पिता कहना है कि उनकी 16 साल की बेटी शनिवार सुबह अपने स्कूल के पास ट्यूशन जाने के लिए घर से निकली थी, लेकिन काफी देर तक वापस नहीं लौटी। इस पर घर वालों ने सोचा कि ट्यूशन से सीधे स्कूल चली गई होगी, लेकिन शाम 5 बजे तक वह वापस नहीं आई तो लोगों को चिंता हुई। पुलिस से शिकायत की गई और बेटी के अपहरण किए जाने की आशंका जताई। पुलिस ने अपहरण का केस दर्ज कर लिया, लेकिन रविवार सुबह मामला देखने की बात कहकर छात्रा की तलाश नहीं की।

फिर भी परिजन नहीं माने। वे गांव आसपास और खेतों में उसकी तलाश करते रहे। देर रात 11 बजे छात्रा के भाई को गांव से 500 मीटर दूर गन्ने के खेत में उसकी बहन की साइकिल दिखी। पास पहुंचे तो छात्रा का शव नग्न अवस्था में बरामद हुआ। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। पिता ने आरोप लगाया है कि पुलिस जबरन शव को पोस्टमॉर्टम के लिए ले गई।

गैंगरेप और हत्या का मुकदमा दर्ज
एसपी दिनेश पी ने बताया कि पिता ने गैंगरेप के बाद हत्या की आशंका जताई है। इस आधार पर पुलिस ने गैंगरेप, हत्या, पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है। घटना के अनावरण हेतु चार टीमें गठित की गई हैं। जांच-पड़ताल की जा रही है। शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है।

पूर्व मंत्री छात्रा के पिता से की मुलाकात
घटना की जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंचे सपा सरकार में मंत्री रहे हेमराज वर्मा ने छात्रा के पिता से मुलाकात की। उन्होंने हरसंभव मदद का आश्वासन दिया। पूर्व मंत्री हेमराज वर्मा ने पुलिस-प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि समय सूचना मिलने के बाद भी पुलिस छात्रा को ढूंढ नहीं पाई। जब छात्रा का शव मिला तो परिजनों की मर्जी के बगैर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। पुलिस-प्रशासन मनमानी पर उतारु हो गया है।

Check Also

विधानसभा चुनाव : पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अपने ही बुने जाल फंस रही सपा, जानें पूरा मामला

– सपा-रालोद की 29 प्रत्याशियों की पहली लिस्ट में 9 मुस्लिमों के नाम से जाटों ...