Breaking News
Home / बड़ी खबर / देश / संयुक्त राष्ट्र ने चेताया, रूस-यूक्रेन युद्ध से मानव तस्करी का खतरा बढ़ा; पढ़े पूरी रिपोर्ट

संयुक्त राष्ट्र ने चेताया, रूस-यूक्रेन युद्ध से मानव तस्करी का खतरा बढ़ा; पढ़े पूरी रिपोर्ट

– यूनिसेफ का दावा, हर मिनट 55 बच्चे शरणार्थी बनने को मजबूर

कीव  (हि.स.)। यूक्रेन पर रूसी हमला : संयुक्त राष्ट्र संघ ने इस युद्ध को लेकर बेहद गंभीर चेतावनी जारी की है। संयुक्त राष्ट्र संघ ने चेताया है कि रूस व यूक्रेन के बीच युद्ध से अन्य संकटों के साथ मानव तस्करी का खतरा भी पैदा हो गया है।

तमाम अंतरराष्ट्रीय कोशिशों के बावजूद रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध रुकने का नाम नहीं ले रहा है। लगातार जारी युद्ध के प्रति चिंता जाहिर करते हुए संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने ट्वीट कर कहा है कि मानव तस्करों के लिए यूक्रेन में जारी युद्ध एक आपदा नहीं है। वे इसे अवसर मान रहे हैं और बच्चे व महिलाएं उनके निशाने पर हैं। उन्हें हर कदम पर मदद व सुरक्षा की जरूरत है।

संयुक्त राष्ट्र से जुड़ी संस्थाएं यूक्रेन से हो रहे पलायन को लेकर तो चिंतित थी हीं, अब मानव तस्करी का खतरा चिंताजनक स्थितियों में सामने आया है। युद्ध के शुरुआती दिनों में अब तक यूक्रेन छोड़कर जाने वालों की संख्या तीस लाख से अधिक हो चुकी है। ये लोग आसपास के देशों में शरण ले रहे हैं। तमाम बच्चे व महिलाएं मानव तस्करों के चंगुल में फंसने को भी मजबूर हैं।

यूनिसेफ के मुताबिक यूक्रेन में रोज लगभग 75 हजार बच्चे शरणार्थी बन रहे हैं। युद्ध के कारण हर एक मिनट में यूक्रेन के 55 बच्चे शरणार्थी बनने को विवश हैं यानी हर सेकंड औसतन एक बच्चा शरणार्थी बन जाता है। इस स्थिति से निपटने के लिए तुरंत युद्ध रोकने और शरणार्थियों को मानव तस्करों से बचाने के पुख्ता इंतजाम करने की मांग की गयी है।

Check Also

इस बार वरुण गांधी की जगह पीलीभीत सीट से संजय सिंह गंगवार को मिल सकता टिकट !

लखनऊ (ईएमएस)। यूपी की पीलीभीत सीट से बीजेपी इस बार वरुण गांधी का पत्ता काट ...