विस चुनावः अंतिम चरण में कई मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर, मतदान सात मार्च को

लखनऊ । उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के सातवें एवं अंतिम चरण का प्रचार शनिवार शाम को समाप्त हो गया। इस चरण में प्रदेश के नौ जिलों की 54 सीटों पर सात मार्च को मतदान होना है। प्रदेश सरकार के कई मंत्री समेत 613 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं। मतदाताओं की कुल संख्या करीब 2.05 करोड़ है।
प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने शनिवार को बताया कि जनप्रतिनिधियों द्वारा किए जा रहे प्रचार-प्रसार पर आज शाम को प्रभावी रूप से रोक लग गयी और यह रोक सातवें चरण का मतदान समाप्त होने तक प्रभावी रहेगी। सातवें चरण में तीन विधानसभा सीटों- चकिया (अजा), राबर्ट्सगंज और दुद्धी (अजजा) में प्रचार पर रोक अपराह्न चार बजे से ही प्रभावी हो गया, जबकि शेष 51 विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव प्रचार सायं छह बजे थमा। मतदान सात मार्च को सुबह सात से शाम छह बजे तक होना है। हालांकि चकिया (अजा), राबर्ट्सगंज और दुद्धी (अजजा) विधानसभा सीटों के लिए मतदान सुबह सात बजे से अपराह्न चार बजे तक ही होगा।
अंतिम चरण की 54 विधानसभा सीटों में से 11 सीटें अनुसूचित जाति एवं 02 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं। इस चरण में कुल 613 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं। इनमें सबसे अधिक 25 प्रत्याशी जौनपुर सीट पर और सबसे कम छह-छह उम्मीदवार वाराणसी की शिवपुर और पिंडरा सीट पर हैं। कुल 2,05,51,521 (दो करोड़ पांच लाख इक्यावन हजार पांच सौ इक्कीस) मतदाता हैं। इसमें 1,09,01,009 पुरुष, 96,49,495 महिला और 1017 थर्ड जेंडर शामिल हैं।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि इस चरण के मतदान को भी स्वतंत्र, निष्पक्ष, पारदर्शी एवं कोविड सुरक्षित तरीके से सम्पन्न कराने को लेकर आवश्यक तैयारियों के निर्देश दिए गए हैं। पोलिंग बूथों पर आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिए गए हैं। पोलिंग पार्टियां मतदान केंद्रों पर रविवार शाम तक पहुंच जाएंगी।
इन नौ जिलों में है मतदान
आजमगढ़, मऊ, जौनपुर, गाजीपुर, चन्दौली, वाराणसी, मिर्जापुर, भदोही एवं सोनभद्र की 54 विधानसभा पर सातवें यानी अंतिम चरण का मतदान है।
सातवें चरण की सीटें
सातवें चरण की 54 विधानसभा सीटों में अतरौलिया, गोपालपुर, सगड़ी, मुबारकपुर, आजमगढ़, निजामाबाद, फूलपुर-पवई, दीदारगंज, लालगंज (अजा), मेहनगर (अजा), मधुबन, घोसी, मुहम्मदाबाद-गोहना (अजा), मऊ, बदलापुर, शाहगंज, जौनपुर, मल्हनी, मुंगरा बादशाहपुर, मछलीशहर (अजा), मड़ियाहू, जफराबाद, केराकत (अजा), जखनियां (अजा), सैदपुर (अजा), गाजीपुर, जंगीपुर, जहूराबाद, मोहम्मदाबाद, जमानिया, मुगलसराय, सकलडीहा, सैयदराजा, चकिया (अजा), पिण्ड्रा, अजगरा (अजा), शिवपुर, रोहनिया, वाराणसी उत्तर, वाराणसी दक्षिण, वाराणसी कैन्ट, सेवापुरी, भदोही, ज्ञानपुर, औराई (अजा), छानबे (अजा), मिर्जापुर, मझवां, चुनार, मड़िहान, घोरावल, राबर्ट्सगंज, ओबरा (अजजा) एवं दुद्धी (अजजा) शामिल हैं।
अंतिम चरण में कई मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर
सातवें चरण के मतदान में योगी सरकार के आठ मंत्रियों की परीक्षा होगी। हालांकि इनमें से एक मंत्री, दारा सिंह चैहान मंत्रिमंडल से इस्तीफा देकर सपा के टिकट से मऊ की घोसी सीट से चुनाव मैंदान में हैं। शेष सात मंत्रियों में कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर वाराणसी की शिवपुर सीट से फिर किस्मत आजमा रहे हैं। वहीं स्वतंत्र प्रभार के पर्यटन राज्यमंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी वाराणसी दक्षिणी, स्टांप एवं निबंधन राज्य मंत्री (स्वतंत्रप्रभार) रवींद्र जायसवाल वाराणसी उत्तर, आवास एवं शहरी नियोजन राज्य मंत्री गिरीश यादव जौनपुर, ऊर्जा राज्य मंत्री रमाशंकर सिंह पटेल मीरजापुर की मड़िहान, संगीता बलवंत गाजीपुर सदर और संजीव गोंड सोनभद्र के ओबरा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव मैदान में हैं।