Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / विभागीय अनियमितता के चलते दबंगों ने किया गरीबों के फ्लैटों पर कब्जा

विभागीय अनियमितता के चलते दबंगों ने किया गरीबों के फ्लैटों पर कब्जा

करीब 9.37 करोड़ से डूडा ने तैयार करवाए थे गरीबों के आशियाने

मथुरा,जिला नगरीय विकास अभिकरण (डूडा) की आवासीय योजना के अंतर्गत निर्मित किए गए फ्लैटों की आवंटन प्रक्रिया में बड़े स्तर पर अनियमितता प्रकाश में आई है l योजना आरंभ होने के 12 वर्ष उपरांत भी पंजीकृत आवंटीयों को मकान हैंडअोवर नहीं किए जा सके हैं इसका मुख्य कारण पंजीकृत आवंटियो के स्थान पर अन्य लोगों ने फ्लैटों पर कब्जा जमा लिया हैं l डूडा विभाग के अफसरो द्वारा कार्यदाई संस्था सीएंडडीएस पर हैंडओवर में देरी का आरोप लगाकर अपना पल्ला झाड़ा जा रहा हैं,वही सीएंडडीएस अधिकारियों का कहना है कि डूडा विभाग द्वारा 10 प्रतिशत धनराशि ना देने के चलते हैंडओवर प्रक्रिया में देरी हुई है l

गौरतलब है कि गरीबों के लिए आवास योजना के तहत जिला नगरीय विकास अभिकरण (डूडा) ने वृंदावन-पानी गांव लिंक मार्ग पर वर्ष 2009 में इंटीग्रेटेड हाउसिंग एंड स्लम डेवलपमेंट प्रोग्राम (आईएचएसडीपी) योजना के अंतर्गत 276 फ्लैटों का निर्माण कार्यदाई संस्था कंस्ट्रक्शन एंड डिजाइन सर्विसेज (सीएंडडीएस) से करवाया था l योजना के तहत बनाए गए करीब 100 फ्लैटो पर पंजीकृत आवंटियो के स्थान पर अन्य लोगों ने कब्जा जमा लिया l

सरकार द्वारा यह मकान झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले लोगों के लिए बनाए गए थे l उक्त फ्लैटों के निर्माण पर करीब 9.37 करोड़ रुपए खर्च हुए थे l 12 साल बाद सभी मकानों का आवंटन 5 अक्टूबर को जिला प्रशासन द्वारा किया जा चुका है लेकिन अनियमितता और लापरवाही की पराकाष्ठा देखिए, कि गरीब लाभार्थियों को कब्जा मिलने से पहले ही अन्य लोगों ने फ्लैटो पर कब्जा जमा लिया l हालांकि शुक्रवार को पुलिस का सहयोग लेते हुए कुछ कब्जा धारियों से फ्लैटों को खाली करवाया गया है, लेकिन अभी भी काफी फ्लैट पर कब्जा बरकरार है l सीएंडडीएस के प्रोजेक्ट मैनेजर भूपेंद्र चौधरी का कहना है कि जो लोग गैर कानूनी तरीके से कब्जा किए हुए थे उन्हें हटाया गया है, कुछ रह गए हैं जिनसे जल्द ही फ्लैटों को कब्जा रहित करा लिया जाएगा l इधर परियोजना प्रबंधक डूडा रमेश कुमार कौशिक का कहना है कि उक्त प्रोजेक्ट के लिए धनराशि ढूंढा से स्वीकृत की गई थी, जिसका निर्माण कार्यदाई संस्था सीएंडडीएस से कराया गया है उन्हें मकान बनाकर हमें हैंड ओवर करने थे लेकिन फ्लैटों के हैंडअोवर में उनके द्वारा देरी की गई l

Check Also

प्रतापगढ़ : 42 वर्षों से रामपुर खास में फहरा रहा है कांग्रेस का झण्डा

– पिता से विरासत में मिली विधायिकी को बचाना मोना के लिये चुनौती लालगंज, प्रतापगढ़। ...