Breaking News
Home / Slider News / विधानसभा चुनाव 2022 : वोटर खामोश, मझधार में है कईयों की नाव

विधानसभा चुनाव 2022 : वोटर खामोश, मझधार में है कईयों की नाव

ऽ पांच विधानसभा क्षेत्रों में से 2017 में चार पर था भाजपा का कब्जा
ऽ माननीयों और छुट्टा जानवरों से मतदाताओं को हैं भारी नाराजगी
सुलतानपुर। अवध क्षेत्र का यह जिला उत्तर प्रदेश ही नहीं, बल्कि पूरे देश की राजनीति को मथता रहा है, हिलाता रहा है। अयोध्या और प्रयागराज के बीच बसे सुलतानपुर जिले में पिछले पांच सालों में महिलाओं के खिलाफ हुए कई अपराधों और पुलिस की मनमानी कार्रवाई सुर्खियों में रही। साल 2017 के विधानसभा चुनाव में जीतकर आए चारों भाजपा विधायकों पर जनता की तरफ से यह गम्भीर आरोप लगे कि जब कोरोना संक्रमण से लोगों की जान जा रही थी तो ये माननीय कहां थे ? जिन लोगो ंने अपने प्रियजन, परिवारीजनों को खोया, ये माननीय कभी शोक संवेदना व्यक्त करने भी उनके घर नहीं पहुंचे।

जिले में दो विधायकों में लम्भुआ विधायक देवमणि द्विवेदी व सुलतानपुर विधायक सूर्यभान सिंह का भाजपा हाईकमान ने टिकट काट दिया और सदर के विधायक सीताराम वर्मा का जातीय समीकरण बैठाने के लिए क्षेत्र बदल दिया गया। इस पर लोगों का कहना है कि अच्छा हुआ, जो दोनों विधायकों का टिकट कट गया। लेकिन एक विधायक सीताराम वर्मा से उनके कामकाज को लेकर क्षेत्र की जनता बेहद नाराज थी और उनको सबक सिखाने के लिए चुनाव का इन्तजार कर रही थी। लेकिन अन्तिम समय में पार्टी हाईकमान ने उनका क्षेत्र बदलते हुए सदर से लम्भुआ भेज दिया, जो ठीक नहीं हुआ। विधायक सीताराम वर्मा पर जनता का गमीर आरोप यह है कि वे पूरे पांच साल न कभी क्षेत्र के लोगों से मिले और न ही उन्होंने जनता का कोई काम किया। यहां के लोग सरकार के कामकाज से तो खुश हैं, लेकिन माननीयों और छुट्टा जानवरों से बेहद खफा हैं। मतदाता कुछ बोल नहीं रहा है। वोटरों की रहस्यमयी चुप्पी प्रत्याशियों को संशय में डाल रही है। देखना है कि 10 मार्च को किन किन की नाव पार लगेगी।

 हर मतदान केन्द्र पर एक ही ईवीएम से होगा मतदान

जिले के पांचों विधानसभा क्षेत्रों में प्रत्याशियों की संख्या अधिक न होने के कारण हर मतदान केन्द्र पर एक ही ईवीएम से मतदान सम्पन्न होगा। इसौली विधानसभा क्षेत्र में भाजपा के ओम प्रकाश पाण्डेय बजरंगी, कांग्रेस से बृजमोहन यादव, बसपा के यशभद्र सिंह मोनू, सपा के मो0ताहिर खान, आप के फिरदौस बानो, एआईएमआईएम के मजहर, अपना देश पार्टी के अशोक कुमार, निर्दल नूतन पाण्डेय व फिरोज खान सहित कुल 9उम्मीदवार मैदान में हैं। सुलतानपुर विधानसभा क्षेत्र के 11 प्रत्याशियों में बसपा के डीएस मिश्र, कांग्रेस के फिरोज खान, भाजपा के विनोद सिंह, सपा के अनूप सण्डा, एआईएमआईएम के मिर्जा अकरम बेग, आप के धर्मेश कुमार, बहुजन मुक्ति पार्टी के सिद्धार्थ भीम, विकासशील इंसान पार्टी के विन्ध्या, आम जनता पार्टी की शान्ति पटेल तथा निर्दलीय मिर्जा अख्तर बेग है।

सदर विधानसभा से कांग्रेस के अभिषेक सिंह राणा, सपा के अरूण वर्मा, बसपा के ओपी सिंह, भाजपा के राज प्रसाद उपाध्याय, मोस्ट बैकवर्ड के अनिल कुमार, आजाद समाज पार्टी के अनीस अहमद, आप के बृजेश कुमार की किस्मत दांव पर लगी हैं। लम्भुआ में बसपा से अवनीश कुमार सिंह, कांग्रेस से विनय विक्रम सिंह, सपा से संतोष पाण्डेय, भाजपा के सीताराम वर्मा, मौलिक अधिकार पार्टी के अमृतलाल, जन अधिकार पार्टी के इस्लाम, बहुजन मुक्ति पार्टी के धर्मराज, आम जनता पार्टी मंजूलता, आजाद समाज पार्टी से राकेश कुमार, सोशलिस्ट पार्टी से राजेन्द्र, वीआईपी से राम संुदर सहित कुल 11 प्रत्याशी चुनाव में डटे हैं। वहीं कादीपुर सु0 से कांग्रेस की निकलेश सरोज, सपा के भगेलूराम, भाजपा के राजेश गौतम, बसपा के हीरालाल, आम जनता पार्टी के मुखराम, निर्दलीय धर्मेन्द्र कुमार व हरीलाल सहित 7 उम्मीदवार मैदान में हैं। इस तरह जिले में कुल 45 उम्मीदवार अपना भाग्य अजमा रहे हैं। जिनमें पांच महिला उम्मीदवार हैं।

Check Also

सांप के जहर को भी काट देता है ऊंट का आंसू, ‎क्यों माना जाता है करामाती

-दुबई की सीवीआरएल में हो रहा शोध, जल्दी ही प‎‎रिणाम आने की उम्मीद दुबई (ईएमएस)। ...