वाराणसी : बाबा विश्वनाथ के गर्भगृह में आज से फिर भक्तों को मिलेगा प्रवेश

विश्वनाथ मंदिर प्रशासन की तरफ से जारी किए गए निर्देश के मुताबिक, श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में स्पर्श दर्शन शुरू हो गया है. साथ ही आज दोपहर बाद से गर्भगृह में भी भक्तों को प्रवेश मिलने लगेगा. भक्तों की ओर से लगातार इसकी मांग की जा रही थी.

वाराणसी: कोविड-19 की तीसरी लहर की शुरुआत के साथ तमाम बंदिशों को फिर से लागू किया गया था. वह बंदिशें धीरे-धीरे खत्म होने लगी हैं. शायद यही वजह है कि काशी विश्वनाथ मंदिर में लंबे वक्त से बंद चल रहे स्पर्श दर्शन की व्यवस्था को फिर से बहाल किया गया है. विश्वनाथ मंदिर प्रशासन की तरफ से जारी किए गए निर्देश के मुताबिक श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में स्पर्श दर्शन पुनः शुरू हो गया है, क्योंकि भक्तों की लगातार डिमांड आ रही थी.

दरअसल दिसंबर महीने में कोविड-19 की तीसरी लहर की दस्तक और लगातार तेजी से बढ़ रहे संक्रमण की वजह से श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर आने वाले भक्तों के लिए स्पर्श दर्शन व्यवस्था को बंद कर दिया गया था, लेकिन अब वाराणसी में रिकवरी रेट 98 प्रतिशत से ऊपर पहुंच चुका है. यही वजह है कि लगातार संक्रमण में हो रही कमी की वजह से विश्वनाथ मंदिर प्रशासन ने एक बार पुनः स्पर्श दर्शन की व्यवस्था शुरू कर दी है, लेकिन इस स्पर्श दर्शन की व्यवस्था भक्तों को सिर्फ आधे घंटे के लिए सुबह 4 बजे से 4:30 बजे तक उपलब्ध हो सकेगी.

सुबह मंगला आरती के बाद भक्त बाबा विश्वनाथ के स्पर्श दर्शन का लाभ ले सकेंगे. भक्तों को गर्भगृह में भी आज दोपहर के बाद से प्रवेश दिया जाएगा. लंबे वक्त से बाबा विश्वनाथ के गर्भगृह में प्रवेश को लेकर भक्तों की तरफ से मंदिर प्रशासन से गुहार लगाई जा रही थी. इसे लेकर लगातार मंदिर प्रशासन के अलावा लोगों ने धर्मार्थ कार्य पर्यटन मंत्री नीलकंठ तिवारी से भी मुलाकात करके गर्भगृह में प्रवेश कराने की सुविधा पुनः शुरू करने के लिए कहा था.