Home / Slider / लखीमपुर खीरी हिंसा : केंद्रीय मंत्री के आरोपी बेटे ने पुलिस के सामने किया सरेंडर, पुलिस ने लगाए बैरिकेड

लखीमपुर खीरी हिंसा : केंद्रीय मंत्री के आरोपी बेटे ने पुलिस के सामने किया सरेंडर, पुलिस ने लगाए बैरिकेड

लखीमपुर हिंसा के सातवें दिन मुख्य आरोपी और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र का बेटा आशीष आज क्राइम ब्रांच के सामने पेश हो गया। उसे क्राइम ब्रांच की ऑफिस में 11 बजे बुलाया गया था, लेकिन वह 10:36 पर 24 मिनट पहले पहुंच गया। रुमाल से उसने अपना मुंह छिपा रखा था। पुलिस उसे क्राइम ब्रांच के पिछले दरवाजे से भीतर ले गई। पुलिस के सामने भीड़ लगी है। पुलिस ने बैरिकेड लगाए हैं।

DIG, SP विजय ढुल मौके पर हैं। गिरफ्तारी होगी या नहीं? इस सवाल का जवाब देने से हर अधिकारी बचता नजर आया। आशीष के साथ कौन आया है? इसकी जानकारी साझा नहीं की गई है। मंत्री पिता अजय मिश्र टेनी सुबह ही अपने कार्यालय पहुंच गए थे। वहां भी काफी गहमा-गहमी है।

लखीमपुर पुलिस ने शुक्रवार को मंत्री के घर पर दोबारा नोटिस चिपकाकर कर आशीष को शनिवार को यानी आज 11 बजे पूछताछ के लिए बुलाया था। इससे पहले पुलिस ने गुरुवार को नोटिस लगाकर शुक्रवार को 10 बजे पेश होने के लिए कहा था, लेकिन आशीष नहीं पहुंचा। बाद में आशीष ने एक चिट्‌ठी लिखकर बताया था कि वह बीमार है इसलिए 9 अक्टूबर को पुलिस के सामने पेश होगा।

इधर, पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिद्धू ने अपना मौन व्रत तोड़ दिया है। सिद्धू शुक्रवार को लखीमपुर पहुंचे थे। सिद्धू पहले हिंसा में मारे गए किसान लवप्रीत और फिर पत्रकार रमन के यहां पहुंचे। उन्होंने लिखकर कहा था कि जब तक केंद्रीय मंत्री का आरोपी बेटा गिरफ्तार नहीं कर लिया जाता, तब तक मौन धारण कर भूख हड़ताल पर बैठे रहेंगे। सिद्धू करीब 20 घंटे से मौन व्रत पर थे।

LIVE अपडेटस…

  • आशीष 12 से अधिक पेन ड्राइव लेकर पहुंचे हैं। सूत्र बताते हैं कि पेन ड्राइव में वह सभी वीडियो हैं जो उनकी मौजूदगी साबित करेंगे की घटना के वक्त वह कहां मौजूद थे?
  • आशीष से पूछताछ के लिए करीब 40 सवालों की लंबी फेहरिस्त बनाई गई है। उससे पूछा जाएगा कि वह हिंसा के वक्त कहां था?
  • लखीमपुर में पुलिस लाइन के सामने भारी भीड़ है। एसपी ने कहा कि समय-समय पर अपडेट दिया जाएगा। भीड़ न लगाएं। गिरफ्तारी होगी या नहीं इस सवाल से बचते नजर आए एसपी।
  • आशीष के कानूनी सलाहकार अवधेश कुमार ने कहा था कि हम नोटिस का सम्मान करेंगे और जांच में सहयोग करेंगे।
  • मंत्री अजय मिश्र लखीमपुर में अपने कार्यालय पर हैं। कार्यालय पर काफी गहमागहमी है।

आशीष मिश्र की हो सकती है गिरफ्तारी
आशीष मिश्र से पूछताछ के बाद उनकी गिरफ्तारी तय मानी जा रही है। स्थानीय लोग दावा कर रहे हैं कि जिस थार जीप ने किसानों को कुचला था उसके पीछे निकली फॉर्च्यूनर में आशीष मिश्र बैठे थे। माना जा रहा है कि यह सबूत सामने आने पर आशीष की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

बड़े नेता के इशारे पर हुई आशीष की पेशी

गुरुवार को केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र दिल्ली में थे। सूत्रों का कहना है कि आशीष को पुलिस के सामने पेश होने के लिए अजय मिश्र के पास किसी बड़े नेता ने संदेश भेजा था। इसके बाद वे लखनऊ के लिए रवाना हुए और कहा कि आशीष शनिवार को पुलिस के सामने सामने पेश हो जाएंगे और जांच में सहयोग करेंगे। केंद्रीय मंत्री का ये बयान सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बाद सामने आया है, क्योंकि इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने UP सरकार को फटकार लगाई है।

लखीमपुर में तीसरी बार बंद हुई इंटरनेट सेवाएं

लखीमपुर में 3 अक्टूबर को हिंसा के बाद पहली बार इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई थीं। इसके बाद 5 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी, सीतापुर और बहराइच में इंटरनेट सेवाएं बंद की गईं। अब 8 अक्टूबर की शाम से लखीमपुर में इंटरनेट फिर से बंद कर दिया गया है।

शुक्रवार को दिन भर क्या-क्या हुआ?

  • मंत्री अजय मिश्र लखनऊ पहुंचे। उन्होंने बेटे आशीष का बचाव किया। कहा, “मेरा बेटा कहीं भागा नहीं है, वह निर्दोष है।” इसके अलावा इस्तीफे की मांग को लेकर अजय मिश्र ने कहा कि विपक्ष का काम ही है इस्तीफा मांगना।
  • अजय मिश्र शुक्रवार को लखनऊ में सांसद-विधायकों और संगठन की मीटिंग में शामिल हुए। उधर, राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने UP सरकार को नोटिस जारी कर लखीमपुर हिंसा की पूरी रिपोर्ट मांगी है।
  • सुप्रीम कोर्ट ने UP सरकार से पूछा कि जब मामला 302 (हत्या) का है तो गिरफ्तारी अब तक क्यों नहीं हुई? सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वह जांच के लिए UP सरकार द्वारा उठाए गए कदमों से संतुष्ट नहीं है।
  • आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह बहराइच गए। उन्होंने 2 पीड़ित परिवारों से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से उनकी बात करवाई। केजरीवाल ने कहा कि आरोपी अब तक गिरफ्तार नहीं हुए हैं, पूरा देश देख रहा है। लोगों में बहुत गुस्सा है।
  • सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बहराइच में दो पीड़ित परिवारों से मुलाकात की। उन्होंने केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र का इस्तीफा और उनके बेटे की गिरफ्तारी की मांग उठाई।

Check Also

खुशखबरी: गोरखपुर शहर को मिलेगा मल्टीलेवल पार्किंग का तोहफा, जानिए कैसे उठा सकते हैं इसका लाभ

गोरखपुर। महानगर में बहुप्रतीक्षित मल्टीलेवल पार्किंग अब जल्द ही लोगों के लिए खोल दी जाएगी। ...