Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / रामगंगा नदी खतरे के निशान को छूने केे लिए बेताब, चेतावनी स्तर से सिर्फ 46 सेंटीमीटर की बची है दूरी

रामगंगा नदी खतरे के निशान को छूने केे लिए बेताब, चेतावनी स्तर से सिर्फ 46 सेंटीमीटर की बची है दूरी

– सोमवार शाम को रामगंगा का जलस्तर 190.14 मीटर नोट किया गया

मुरादाबाद (हि.स.)। नदियों का बढ़ता जलस्तर तटीय लोगों की चिंता बढ़ा रहा है। मुरादाबाद में रामगंगा नदी खतरे के निशान को छूने केे लिए बेताब है। नदी किनारे रहने वाले लोगों को यही डर सता रहा है कि अगर बाढ़ आ गई, तो स्थिति बहुत खराब होगी। रोज ही नदियों के जलस्तर में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। मुरादाबाद कटघर में रामगंगा नदी का जलस्तर सोमवार शाम को 190.14 मीटर रहा, जो चेतावनी स्तर से सिर्फ 46 सेंटीमीटर नीचे हैं।

मुरादाबाद बाढ़ खंड कंट्रोल रूम के अनुसार सोमवार शाम 7 बजे मुरादाबाद में कटघर पुल के पास रामगंगा नदी का जलस्तर 190.14 मीटर रिकार्ड दर्ज किया गया था जो चेतावनी स्तर 190.60 मीटर से सिर्फ 46 सेंटीमीटर नीचे हैं। मुरादाबाद में दूसरी प्रमुख नदी गांगन नदी का जलस्तर आज 189.47 मीटर दर्ज किया गया, जबकि यहां खतरे का निशान 192 मीटर पर हैं।

वहीं कालागढ़ का जलस्तर 337.300 मीटर रहा, जो बढ़ते क्रम में हैं, जबकि कालागढ़ में खतरे का निशान 365.300 मीटर पर हैं। आसपास के खेतों में भी घुसा हुआ है। मुरादाबाद में रामगंगा नदी चेतावनी स्तर से सिर्फ 47 सेंटीमीटर दूर है। नदी किनारे वाले मोहल्ले के लोग भी सहमे हैं। प्रशासन ने नदी के तटीय 105 गांवों के प्रधानों और लेखपालों को सतर्क कर दिया है।

Check Also

हर भारतीय के किचन में पहुंची मैगी…..सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक !

नई दिल्ली (ईएमएस)। नेस्ले इंडिया ने हाल ही में खुलासा किया है कि भारत में ...