राजस्थान में कोरोना संकट : तीन गुना तेजी से बढ़ रहे है जयपुर में केस, लापरवाही से बच्चों को खतरा

0
16

राजस्थान में स्कूल खुलने के बाद राजधानी जयपुर के एसएमएस (सवाई मान सिंह) स्कूल में दो बच्चों के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद हड़कंप मचा हुआ है। इस बीच एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। कोरोना पॉजिटिव मिले बच्चों के पेरेंट्स भी संक्रमित थे। बच्चों सहित परिवार दो दिन पहले किसी शादी में गया था। वहां से संक्रमण होने की आशंका जताई जा रही है। खास बात यह है कि बच्चों और मां में कोई लक्षण नहीं है, जबकि पिता बुखार से पीड़ित हैं। इसके बाद जब उनकी जांच गई तो बच्चे भी कोरोना पॉजिटिव मिले। अब तक प्रशासन ने बाकी स्कूलों में बच्चों की जांच नहीं करवाई है।

जयपुर सीएमएचओ डॉ. नरोत्तम शर्मा ने बताया कि परिवार में मुखिया के एक दिन पहले बुखार आया था। लक्षण के आधार पर जब जांच करवाई तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद परिवार के अन्य सदस्यों ने जांच कराई। सभी पॉजिटिव आए हैं। इसके बाद जिस स्कूल में इस परिवार के दोनों बच्चे पढ़ रहे हैं, उस स्कूल को 4 दिनों के लिए बंद कर दिया गया है। सभी बच्चों की ऑनलाइन क्लास करवाई जाएगी।

तीन गुना तेजी से बढ़ रहे है जयपुर में केस

अक्टूबर से तुलना करें तो नवंबर में 3 गुना तेजी से केस बढ़ रहे हैं। अक्टूबर में जयपुर में 31 दिन के अंदर कुल 45 नए मरीज मिले थे, जबकि नवंबर के 15 दिन में अब तक 68 नए केस मिल चुके हैं। इनमें 90 फीसदी केस पिछले 8 दिन के अंदर आए हैं, जो दीपावली के बाद से बढ़ने लगे हैं। इनमें ज्यादातर पॉजिटिव वे लोग हुए हैं, जो वैक्सीन लगवा चुके हैं।

लापरवाही से बच्चों को खतरा

विशेषज्ञों की मानें तो बड़ों की लापरवाही बच्चों पर भारी पड़ सकती है। केस बढ़ने का कारण लापरवाही है। दक्षिण भारत के राज्यों केरल और तमिलनाडु में भी केसों में कमी होने की स्पीड पर ब्रेक लग गया है। बड़े तो वैक्सीनेट हो चुके हैं। इसलिए उन्हें खतरा कम है। बड़ों के साथ घर के बच्चे भी चपेट में आएंगे। बच्चों के लिए ऐसी स्थिति खतरनाक है।