रहें सतर्क : जानिए यूपी में कोरोना का हाल, यहां देखिए एकदम ताजा आंकड़ा

उत्तर प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर का असर अब खत्म होने की कगार पर है. वायरस का प्रसार अब कम हो गया है. मंगलवार सुबह राज्य में 250 नए मरीज रिपोर्ट किए गए. फाइनल रिपोर्ट दोपहर बाद आएगी.

लखनऊ : कोरोना की तीसरी लहर का असर अब खत्म होने की कगार पर है. वायरस का प्रसार अब कम हो गया है. मंगलवार सुबह राज्य में 250 नए मरीज रिपोर्ट किए गए. वहीं दो लोगों की वायरस ने जान ले ली. फाइनल रिपोर्ट दोपहर बाद आएगी.

सोमवार को 24 घंटे में एक लाख 35 हजार से अधिक कोरोना टेस्ट किए गए. इसमें 459 नए मरीज़ों में कोरोना की पुष्टि हुई. साथ ही 879 मरीज डिस्चार्ज किए गए. यूपी में देश में सर्वाधिक 10 करोड़ 28 लाख से अधिक टेस्ट किए गए. यहां एक व्यक्ति के पॉजिटिव आने पर 55 लोगों की जांच की जा रही है. यह डब्ल्यूएचओ के मानक से अधिक है. इस दौरान केजीएमयू, एसजीपीजीआई, बीएचयू, सीडीआरआई की लैब के अलावा गोरखपुर, झांसी व मेरठ में जीन सिक्वेंसिंग टेस्ट शुरू करने के निर्देश दिए गए. दूसरी लहर में सिर्फ दो डेल्टा प्लस के केस रहे. वहीं 90 फीसद से ज्यादा डेल्टा वैरिएंट ही पाया गया. अब तीसरी लहर में 90 फीसद ओमिक्रोन वैरिएंट पाया जा रहा है. 17 जनवरी को दैनिक संक्रमण दर 7.11 फीसद, 19 जनवरी को सबसे अधिक 7.78 फीसद थी, जो अब घटकर 0.95 फीसद पर आ गई.

अब तक 359 ओमीक्रोन के मरीज

17 दिसम्बर को गाजियाबाद में दो मरीजों में ओमीक्रोन की पुष्टि हुई है. यह महाराष्ट्र से आये थे. वहीं 25 दिसम्बर को रायबरेली की महिला में ओमिक्रोन वैरिएंट पाया गया. यह महिला अमेरिका से आई थी. चार जनवरी को 23 मरीज मिले. अब तक कुल 526 सैम्पल की जीन सीक्वेंसिंग की गई. इसमें 359 ओमीक्रोन के मरीज पाए गए हैं.

घटकर 6 हजार हुए एक्टिव केस

राज्य में जनवरी शुरुआत में तीसरी लहर पीक पर थी. इस दौरान एक लाख 16 हजार 366 एक्टिव केस थे. वहीं अब 6,552 रह गए हैं. अस्पतालों में 551 ऑक्सीजन प्लांट शुरू हो गए हैं. इनके संचालन के लिए आईटीआई पास कर्मी तैनात किए जा रहे हैं. वहीं 56 हजार से अधिक आईसोलेशन बेड, 18 हजार आईसीयू बेड, 6700 पीकू-नीकू बेड तैयार हो गए हैं. 30 हजार ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर अस्पतालों को दिए गए.