Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / योगमय रहा गोरखपुर, 08 लाख लोगों ने किया योग, देखें तस्वीरें

योगमय रहा गोरखपुर, 08 लाख लोगों ने किया योग, देखें तस्वीरें

– पार्क, सार्वजनिक स्थान, स्कूल, महाविद्यालय व विश्वविद्यालय में आयोजित हुए योग शिविर

– लोगों ने योग कर लिया निरोग जीवन का संकल्प

गोरखपुर (हि.स.)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में पूरा गोरखपुर यौगिक क्रिया में डूबा रहा। बुधवार का पूरा शहर योगमय दिखा। पार्कों, सार्वजनिक स्थानों, स्कूलों, महाविद्यालयों व विश्वविद्यालयों में योग शिविर आयोजित हुए। बड़ी संख्या में लोगों ने योग के जरिये निरोग रहने का मंत्र सीखा और इसे अपने जीवन का हिस्सा बनाने का संकल्प लिया। आयुष विभाग के अनुसार, आठ लाख से अधिक लोगों ने योग किया।

मेडिकल कालेज रोड स्थित आरोग्य मंदिर में आयोजित योग शिविर में एक हजार लोगों ने एक साथ योग किया तो पुलिस लाइन में आयोजित शिविर में जवानों ने योग कर निरोग रहने का संकल्प लिया। खेल के मैदान, रीजनल स्टेडियम के साथ राजकीय उद्यान केंद्र परिसर में भी योग करने वालों की संख्या हजारों में रही। योगाचार्यों ने बीमारियों से निजात में भी योग के महत्व को बताया

चयनित स्थलों पर योग कराने आये योगाचार्यों ने न सिर्फ योगासन व प्राणायाम कराया बल्कि इनके जरिये स्वस्थ रहने की कला भी सिखाई। योग को एक निरोगी जीवन का आधार बताया और इसे अनेक नीमारियों से छुटकारा दिलाने वाला बताया।

शुद्ध प्राकृतिक वातावरण में हुआ योग

योग करने के लिए चयनित स्थलों का वातावरण पूरी तरह प्राकृतिक रहा। इसलिए शुद्ध प्राकृतिक वातावरण में योग कर रहे लोगों के चेहरे पर चमक थी। हरियाली से भरपूर परिसरों में बड़ी संख्या में महिला-पुरुष भागीदारी कर रहे थे। सभी स्थलों पर यौगिक क्रियाओं का शुभारम्भ सुबह लगभग 06 बजे से शुरू हो गया था। लोगों ने पहले व्यायाम कर शरीर की मांसपेशियों को सक्रिय किया। पहले कलाई संचालन की, फिर कुहनी संचालन, ग्रीवा संचालन, स्कंध संचालन आदि व्यायाम किया।

इस दौरान लोगों ने अपने अपने स्थान पर खड़े होकर ताड़ासन, वृक्षासन, पादहस्तासन, त्रिकोणासन आदि किया। बैठकर करने वाले योगासनों में मंडूकासन, शशांकासन व लेटकर किये जाने वाले उत्तानपादासन, अर्धपादासन, पवन मुक्तासन व शवासन आदि शामिल रहे। योगासनों के बाद प्राणायाम की प्रक्रिया शुरू हुई जिसमें कपालभांति, नाड़ी शोधन, अनुलोम-विलोम व भ्रामरी आदि प्रयोग कराए गए। ओंकार और शांति पाठ से शिविरों का समापन हुआ।

Check Also

बाराबंकी : संदिग्ध परिस्थितियों में बालिका की मौत, कहीं हत्या तो नहीं

देवा थाना क्षेत्र के मोहल्ला कचेहरान में 12 वर्षीय बालिका का शव छत में लगे ...