Breaking News
Home / बड़ी खबर / यूरिन को रोककर रखने से क्या होता है? जान लेंगे तो कभी नहीं करेंगे ये गलती

यूरिन को रोककर रखने से क्या होता है? जान लेंगे तो कभी नहीं करेंगे ये गलती

नई दिल्ली । यूरिन को रोकना काफी खतरनाक साबित हो सकता है। हेल्थ एक्सपर्ट का कहना है कि यूरिन को रोककर रखना आपकी सेहत के लिए काफी नुकसानदाक साबित हो सकता है।हेल्थ गुरु स्टेफ़नी टेलर का कहना है कि ब्लैडर फुल होने पर उसे बार-बार इग्नोर करने से आपको कई तरह की दिक्कतें हो सकती हैं।उन्होंने कहा यूरिन को बहुत देर तक होल्ड करने से आपका पेल्विक फ्लोर डैमेज हो सकता है।

स्टेफ़नी ने कहा कि बहुत देर तक यूरिन को होल्ड करके रखने से ब्लैडर में मौजूद मसल्स जरूरत पड़ने पर सिकुड़ने की क्षमता को खो बैठते हैं।जिसके कारण आपका ब्लैडर पूरी तरह से खाली नहीं हो पाता।यूरिन को रोककर रखने से कई बार आप चाहकर भी यूरिन पास नहीं कर पाते।इतना ही नहीं, यूरिन को काफी देर तक रोककर रखने से कई बार ड्राइनेस की समस्या का सामना करने के साथ अपने आप ही यूरिन निकलने की समस्या का भी सामना करना पड़ता है।एक एवरेज एडल्ट का ब्लैडर 2 कप यूरिन को रोककर रख सकता है।जब यह लगभग एक चौथाई भर जाता है तो यह आपके मस्तिष्क को एक संदेश भेजता है।जब आप यूरिन को काफी देर तक रोककर रखते हैं तो इससे खतरनाक बैक्टीरिया पैदा होने लगते हैं जिससे आपको यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन का सामना करना पड़ता है। यूटीआई काफी ज्यादा दर्दनाक होता है और इसमें यूरिन पास करते समय काफी ज्यादा दर्द का सामना करना पड़ता है।अगर यूटीआई का समय पर इलाज नहीं होता और बैक्टीरिया फैलने लगता है तो यह सेप्सिस में बदल सकता है।स्टेफ़नी ने बताया कि ऐसे कई संकेत हैं जिनसे आप इस बात का पता लगा सकते हैं कि आपका पेल्विक फ्लोर सही से काम नहीं कर पा रहा है।

इसमें शामिल है, खांसते और छींकते समय यूरिन का लीक होना और बार-बार यूरिन पास करने की जरूरत महसूस होना।आपको पेल्विक एरिया और सेक्स के दौरान दर्द का अनुभव भी हो सकता है।कब्ज और मल त्याग करते समय लगातार होने वाला दर्द भी इस ओर इशारा करता है कि आपका पेल्विक फ्लोर काफी कमजोर है।स्टेफ़नी ने बताया कि आगे आने वाली दिक्कतों से बचने के लिए आप कुछ चीजें कर सकते हैं।स्टेफ़नी ने कहा कि कई लोग पार्टी में शराब का सेवन करते हैं जिससे आपको यूरिन काफी जल्दी-जल्दी आता है।इसके अलावा शराब के सेवन से आपका ब्लैडर भी डिस्टर्ब होता है।ऐसे में जरूरी है कि आप सीमित मात्रा में ही शराब का सेवन करें।स्टेफ़नी ने यह भी कहा कि पीरियड्स के आखिरी दिनों में पेल्विक फ्लोर की मसल्स कम एस्ट्रोजन लेवल के कारण काफी कमजोर हो जाती हैं जिससे आपको बार-बार यूरिन पास करने की जरूरत महसूस होती है।स्टेफ़नी ने सुझाव दिया कि पैड और टैम्पून की बजाय मेंस्ट्रुअल कप ब्लड को पांच गुना ज्यादा रोककर रखता है और यह 12 घंटों तक चलता भी है।

Check Also

हर भारतीय के किचन में पहुंची मैगी…..सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक !

नई दिल्ली (ईएमएस)। नेस्ले इंडिया ने हाल ही में खुलासा किया है कि भारत में ...