यूपी में कितना रह गया कोरोना? कितने नए मरीज और क्लीन है कौन सा जिला?

उत्तर प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर दिनों दिन घट रही है. संक्रमण अब न्यूनतम स्तर पर पहुंच गया है. शनिवार सुबह 280 नए मरीज रिपोर्ट किए गए. वहीं एक लोगों की वायरस ने जान ले ली.

लखनऊ : यूपी में कोरोना की तीसरी लहर दिनों दिन घट रही है. संक्रमण अब न्यूनतम स्तर पर पहुंच गया है. शनिवार सुबह 280 नए मरीज रिपोर्ट किए गए. वहीं एक लोगों की वायरस ने जान ले ली.

शुक्रवार को 24 घंटे में एक लाख 50 हजार से अधिक कोरोना टेस्ट किए गए। इसमें 471 नए मरीज़ों में कोरोना की पुष्टि हुई। साथ ही 823 मरीज डिस्चार्ज किए गए। यूपी में देश में सर्वाधिक 10 करोड़ 37 लाख से अधिक टेस्ट किए गए। यहां एक व्यक्ति के पॉजिटिव आने पर 55 लोगों की जांच की जा रही है। यह डब्ल्यूएचओ के मानक से अधिक है। इस दौरान केजीएमयू, एसजीपीजीआई, बीएचयू, सीडीआरआई की लैब के अलावा गोरखपुर, झांसी व मेरठ में जीन सिक्वेंसिंग टेस्ट शुरू करने के निर्देश दिए गए। दूसरी लहर में सिर्फ दो डेल्टा प्लस के केस रहे। वहीं 90 फीसद से ज्यादा डेल्टा वैरिएंट ही पाया गया। अब तीसरी लहर में 90 फीसद ओमिक्रोन वैरिएंट पाया जा रहा है। 17 जनवरी को दैनिक संक्रमण दर 7.11 फीसद, 19 जनवरी को सबसे अधिक 7.78 फीसद थी, जो अब घटकर 0.95 फीसद पर आ गई।

अब तक 359 ओमीक्रोन के मरीज

17 दिसम्बर को गाजियाबाद में दो मरीजों में ओमीक्रोन की पुष्टि हुई है। यह महाराष्ट्र से आये थे। वहीं 25 दिसम्बर को रायबरेली की महिला में ओमिक्रोन वैरिएंट पाया गया। यह महिला अमेरिका से आई थी। चार जनवरी को 23 मरीज मिले। अब तक कुल 526 सैम्पल की जीन सीक्वेंसिंग की गई। इसमें 359 ओमिक्रोन के मरीज पाए गए हैं।

घटकर 4 हजार हुए एक्टिव केस

राज्य में जनवरी शुरुआत में तीसरी लहर पीक पर थी। इस दौरान एक लाख 16 हजार 366 एक्टिव केस थे। वहीं अब 4,409 रह गए हैं । अस्पतालों में 551 ऑक्सीजन प्लांट शुरू हो गए हैं। इनके संचालन के लिए आईटीआई पास कर्मी तैनात किए जा रहे हैं। वहीं 56 हजार से अधिक आईसोलेशन बेड, 18 हजार आईसीयू बेड, 6700 पीकू-नीकू बेड तैयार हो गए हैं। 30 हजार ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर अस्पतालों को दिए गए।

फरवरी : एक फरवरी 4901 केस, दो फरवरी 5052 केस , तीन फरवरी 5,316, चार फरवरी 3807, पांच फरवरी को 3,555 केस, छह फरवरी को 2779 केस, सात फरवरी 2414 केस, आठ फरवरी 1997, नौ फ़रवरी 2,127 केस, 10 फरवरी 2326 केस, 11 फरवरी 1,972 केस, 12 फरवरी 1,776, 13 दिसम्बर 14,214 केस, 14 दिसम्बर 1235 केस, 15 फरवरी 1207 केस, 16 फरवरी 923 केस, 17 फरवरी 861 केस, 18 फरवरी 844 केस, 19 फरवरी 772, 20 फरवरी 6790 केस, 22 फरवरी 540 केस, 23 फरवरी 468, 24 फरवरी 492, 25 फरवरी 471 केस।

अब 0.90 फीसद पर आई संक्रमण दर

मरीजों की कुल पॉजिटीविटी रेट 2 फीसद है। इसके अलावा राज्य में दैनिक पॉजिटीविटी रेट 0.90फीसद रह गई है। जून में प्रदेश में संक्रमण दर का औसत 1 फीसद रहा, जबकि जुलाई में 0.3 फीसद पॉजिटीविटी रेट की गई। अक्टूबर में संक्रमण दर 0.01 फीसद थी।

98.6 फीसद रिकवरी रेट

30 अप्रैल 2021 को यूपी में सर्वाधिक एक्टिव केस 3 लाख 10 हजार 783 रहे। अब यह संख्या 4 हजार हो गयी। वहीं रिकवरी रेट मार्च में जहां 98.6 फीसद थी। अप्रैल में घटकर 76 फीसद तक पहुंच गई। वर्तमान में फिर रिकवरी रेट 97 फीसद रह गयी है। राज्य में 24 अप्रैल 2021 को सबसे भयावह दिन रहा। इस दिन सर्वाधिक 38 हजार 55 मरीज पाए गए। वहीं 12 मई को एक दिन में 329 की जान चली गई।