यूपी : जुमे की नमाज पर अलर्ट, लखनऊ में हर किसी पर ड्रोन से नजर, पढ़ें लाइव अपडेट्स

0
902

लखनऊ: बीते 3 जून को कानपुर में हुई हिंसा के बाद आज जुमे की नमाज को लेकर राजधानी लखनऊ, कानपुर, आगरा, बरेली, फिरोजाबाद, शाहजहांपुर समेत प्रदेश के कई बड़े शहरों और जिलों में सुरक्षा के तगड़े इंतजाम किए गए हैं. लखनऊ में जुमे पर किसी बड़ी घटना की आशंका के चलते पुलिस ने शस्त्रागार से असलहे बाहर निकाल लिए हैं. वहीं, कानपुर में ड्रोन से निगरानी की जा रही है. फर्रुखाबाद के धर्मगुरुओं ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. वहीं, प्रदेश के लगभग हर जिले में पुलिस और प्रशासन ने किसी भी तरह के हालात के लिए रिहर्सल करने के साथ सभी तैयारियां कर ली हैं.

भाजपा नेता के बयान से बिगड़े हालात: भाजपा नेता नूपुर शर्मा के पैगम्बर मोहम्मद पर दिए गए विवादित बयान के बाद कानपुर में पिछले दिनों हालात बिगड़ गए थे. जमकर पत्थरबाजी हुई थी. इस पर एक्शन लेते हुए पुलिस ने तमाम आरोपियों को गिरफ्तार भी किया है. जुमे पर उसी तरह की घटना की पुनरावृति न हो इसे लेकर प्रदेशभर में पुलिस ने सक्रियता बढ़ा दी है. बरेलवी धर्मगुरु व इत्तेहाद-ए-मिल्लत के अध्यक्ष मौलाना तौकीर रजा ने जुमे पर प्रदेश भर के सभी मुस्लिमों को एकजुट करने की बात कही है.

लखनऊ की टीले वाली मस्जिद पर भारी पुलिस फोर्स तैनात: जुमे की नमाज से पहले लखनऊ में टीले वाली मस्जिद समेत कई बड़ी मस्जिदों के बाहर भारी संख्या में पुलिस फोर्स मौजूद है. टीले वाली मस्जिद को चारो तरफ से घेर लिया गया है. अशांति फैलाने वालों पर पुलिस की कड़ी नजर है. इसके लिए पुराने लखनऊ के आसपास के इलाकों में ड्रोन के जरिए नजर रखी जा रही है. खासतौर पर घर की छतों और गलियों में ड्रोन से निगरानी की जा रही है. किसी तरह की भीड़ इकट्ठा होने या फिर छत के ऊपर ईंट पत्थर पाए जाने पर कार्रवाई के लिए पुलिस तैयार है. जुमे की नमाज से पहले 4 कंपनी पीएसी, 1 कंपनी RPF, 500 पुलिस के जवान सुरक्षा में तैनात किए गए हैं. यही नहीं पुराने लखनऊ को 9 सेक्टर्स में बांटा गया है, जिस पर 3 ड्रोन के जरिए नजर रखी जा रही हैं.

लखनऊ में हर किसी पर ड्रोन से नजर: पुराने लखनऊ के मुस्लिम बाहुल्य इलाके के हर थाने को अतिरिक्त फोर्स और हथियार मुहैया कराये गये हैं. गुरुवार को अफसरों ने असलहों का स्वयं जायजा लिया. इसका रिहर्सल भी कराया गया. चौक, ठाकुरगंज, सआदतगंज, बाजारखाला थानों में रिजर्व पुलिस लाइन से भारी मात्रा में असलहे भेजे गए हैं. पुलिस ने जुमे से एक दिन पहले ही पुराने लखनऊ के मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में ड्रोन छोड़ दिए हैं. हर घर की छत और गली की निगरानी ड्रोन से की जा रही है. नजर रखी जा रही है कि कहीं किसी छत पर पत्थर तो इकट्ठे नहीं किए गए हैं. इसके लिए एक कंट्रोल रूम भी बनाया गया है. पुलिस मुख्यालय को हर घंटे की फुटेज भेजी जा रही है.

बुलन्दशहर में प्रशासन अलर्ट: वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बुलन्दशहर श्लोक कुमार के निर्देशन में शुक्रवार को अपर पुलिस अधीक्षर नगर सुरेन्द्र नाथ तिवारी, अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण बजरंग बली चौरसिया व समस्त क्षेत्राधिकरियों एवं थानाप्रभारियों द्वारा पुलिस फोर्स के साथ अपने-अपने क्षेत्रों में पैदल गश्त की गयी. समस्त पुलिस अधिकारी/कर्मचारीगण द्वारा अपने-अपने क्षेत्र के मिश्रित आबादी वाले क्षेत्रों, मुख्य मार्गों, चौराहों, बाजारों, रेलवे स्टेशन, बस अड्डे, होटल, धर्मशाला सहित धार्मिक स्थलों, कस्बों एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पैदल गश्त कर आमजन को सुरक्षा का अहसास दिलाया गया. जुमे की नमाज को लेकर पुलिस प्रशासन अलर्ट है. इस बीच मुस्लिम धर्मगुरुओं ने जुमे की नमाज से पहले शांति की अपील की है.

आगरा में सेक्टर स्कीम लागू-12 जोन और 67 सेक्टरों में बंटा शहर: आगरा में जुमे की नमाज को लेकर अलर्ट जारी है. जिसको लेकर जिला में सेक्टर स्कीम लागू की गयी है. इस सेक्टर स्कीम के बाद पूरे शहर को 12 जोन और 67 सेक्टरों में बांट दिया गया है. इन 12 जोन ओर 67 सेक्टरों पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों का सख्त पहरा रहेगा. कड़ी सुरक्षा में जुमे की नमाज अदा होगी. एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि हर जोन में एसपी स्तर के अधिकारी रहेंगे. सेक्टर में मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं. थाना पुलिस को भ्रमण करने के लिए कहा है. मोबाइल टीमें बनाई गई हैं. संवेदनशील इलाकों में पिकेट लगाई है. एसएसपी ने साइबर सेल को सोशल मीडिया पर नज़र रखने के आदेश दिए हैं. वहीं, शहर के तमाम मुस्लिम संगठनों ने शुक्रवार को अदा होने वाली जुमे की नमाज पर लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. मुस्लिम नेताओं का कहना है कि शहर में किसी तरह के बंद का कोई ऐलान नहीं है. शांति से जुमे की नमाज अदा कर सभी लोग अपने काम-धंधों पर ध्यान दें. किसी की बातों में या भड़काऊ भाषण सुनकर ऐसा कोई काम न करें, जिससे शहर की फिजा खराब हो.

कानपुर के चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाबल तैनात: कानपुर में बवाल के बाद शुक्रवार को जुमे की नमाज होगी. इस बार शहर में कोई उपद्रव न हो इसके लिए पुलिस-प्रशासन ने तैयारी पूरी कर ली है. किसी भी तरह के बवाल से निपटने के लिए भारी संख्या में पुलिस फोर्स पैदल गस्त कर रही है. सभी संवेदन शील इलाकों में गस्त जारी है. ड्रोन के जरिए संवेदनशील इलाकों की निगरानी की जा रही है. पुलिस और प्रशासन के सभी आलाधिकारी सड़कों पर निकलकर आम जनमानस में सुरक्षा का एहसास जगा रहे हैं. इसमें पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीणा, ज्वाइंट कमिश्नर आनंद प्रकाश तिवारी, डीसीपी क्राईम सलमान ताज पाटिल, राहुल मिठास सहित सभी धर्मगुरु भी शामिल हैं. कानपुर पुलिस इस बार कोई चूक नहीं करना चाहती है. इसके लिए पुलिस ने एक दर्जन से अधिक ई-रिक्शा पर लाउडस्पीकर बांधे हैं. ई-रिक्शा में पुलिस सिपाही बैठकर संवेदनशील इलाकों गश्त करे रहे हैं और माइक से शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए अपील कर रहे हैं.