Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / यूपी : इस जिले में गर्मी ने तोड़ा दस साल का रिकॉर्ड, 7 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से चल रही हवाएं

यूपी : इस जिले में गर्मी ने तोड़ा दस साल का रिकॉर्ड, 7 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से चल रही हवाएं

वाराणसी में मौसम तेजी से करवट ले रहा है। यहां का अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। दिन और रात दोनों पहर में तापमान सामान्य से 5 डिग्री ज्यादा है। गर्मी ने बीते 10 साल में तीसरी बार अप्रैल के महीने में रिकॉर्ड तोड़ा है। इससे पहले 2010 और 2019 में वाराणसी का तापमान 45°C को छू पाया था।

7 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से चल रही हवाएं

बीती रात इतनी ज्यादा गर्मी थी कि 1 मीटर दूर कूलर की हवा भी असर नहीं कर पा रही थी। जिनके घर एयरकंडीशन नहीं हैं उनकी रात भी दिन की तरह जागते हुए गुजरी। गर्मी ने इस कदर बेहाल किया है कि लोग न घर में रह पा रहे और न ही शाम तक घूमने-फिरने कहीं बाहर ही जा पा रहे हैं।

तापमान का ऐसा सितम इस बार अप्रैल में ही ढाएगा, ऐसा किसी ने सोचा ही नहीं था। यह गर्मी अब इसलिए भी परेशान कर रही है क्योंकि दिन में हवा में नमी कम होने से लोग दोपहर तक झुलस जा रहे, वहीं शाम के वक्त हवा में नमी का बढ़ना पसीना और उमस से भर दे रहा है।

इस समय हवा में नमी 71% तक जा पहुंची है। वहीं सुबह के समय हवा 7 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से बह रही है। यह हवा पूरब की ओर से आ रही है, जिसमें नमी भी है। इस लिहाज से वाराणसी में 4 मई से मौसम बदलने का संकेत मिल रहा है।

बारिश में 6°C तक गिर सकता है तापमान

मौसम विज्ञान विभाग ने अलर्ट जारी कर बताया है कि वाराणसी में 4 मई के बाद बारिश होने के आसार हैं। थंडरस्ट्रॉम वाली बारिश होगी यानी कि गरज-चमक के साथ बादल बरस सकते हैं। बारिश के दिनों में दिन का तापमान 38°C और रात का 22°C तक पहुंच सकता है। काशी हिंदू विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिक प्रोफेसर मनोज कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि पूरब की ओर से आ रही नमी बनारस में 2-3 बारिश करा सकती है। इससे तप रहे मौसम से थोड़ी-बहुत तो राहत मिल ही सकती है।

वाराणसी​​​​​​ में बढ़ रहा पॉल्यूशन

वाराणसी में इन दिनों पॉल्यूशन का लेवल तेजी से बढ़ रहा है। शहर का एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) आज 141 अंक पर है। जबकि दो दिन पहले यह 100 अंक से कम ही था। वातावरण की हवा मॉडरेट की कटेगरी में है। वाराणसी में धूल कणों (PM-10) और धुआं (PM2.5) की मात्रा तेजी से बढ़ रही है।

इससे पूरा शहर परेशान हो रहा है। आज वाराणसी के सबसे ज्यादा प्रदूषित इलाके भेलूपुर और मलदहिया रहे। इन दोनों स्थान का AQI 149 अंक दर्ज किया गया। इसके बाद अर्दली बाजार में 148 अंक और बीएचयू में 117 प्रदूषण का स्तर अंक मापा गया।

मई के बाद गंगा के जलस्तर में कमी आएगी

आज गंगा का जलस्तर 59 मीटर पर ही बना हुआ है। मार्च में यह 65 मीटर के आस-पास था। अनुमान है कि मई के बाद गंगा के जलस्तर में काफी कमी दर्ज की जा सकती है।

Check Also

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बादलों की आवाजाही के साथ धूल भरी आंधी की संभावना, पढ़ें मौसम का ताज़ा अपडेट

कानपुर (हि.स.)। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि मौसमी सिस्टम की वजह से पश्चिमी उत्तर ...