यूपी इलेक्शन 2022 : किसमें कितना है दम, जनता के पाले में गेंद, मतदान के बाद मिलेगा रूझान

-प्रधानमंत्री मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, अखिलेश यादव, राहुल-प्रियंका ने प्रचार में दिखाया दमखम

वाराणसी, । प्रदेश विधानसभा चुनाव के आखिरी चरण का प्रचार शनिवार शाम थम गया। वाराणसी सहित पूर्वांचल के नौ जिलों की 54 विधानसभा सीटों को अपने पाले में लाने के लिए भाजपा के स्टार प्रचारक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान, स्मृति ईरानी, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह की अगुवाई में केन्द्र और प्रदेश सरकार के मंत्रियों ने पूरा दम लगा दिया।

वहीं, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव, रालोद मुखिया जयंत चौधरी, सुभासपा प्रमुख ओमप्रकाश राजभर ने गठबंधन के सहयोगी नेताओं के साथ चुनाव प्रचार में पूरी ताकत से आक्रामक तेवर के साथ लगे रहे। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी, पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी कोई कोर कसर नही छोड़ी। पार्टी के खोये जनाधार को पाने के लिए रोडशो, जनसभाओं के जरिये लगातार प्रयास करते रहे।

अन्तिम दिन प्रचार थमते ही गेंद अब जनता के पाले में है। सात मार्च को वाराणसी सहित सोनभद्र, मऊ, आजमगढ़, जौनपुर, मीरजापुर, गाजीपुर, चंदौली और भदोही की 54 सीटों पर मतदान होगा। इसके बाद विजय की राह पर कौन चल रहा है, रूझान आने लगेगा। अन्तिम मुहर मतगणना परिणाम आने पर लगेगी।