Breaking News
Home / बड़ी खबर / देश / यह बिजनेस आपको कर देगा मालामाल, 1 लाख की पूंजी लगाकर कमाएं 8 लाख; ये है पूरा तरीका

यह बिजनेस आपको कर देगा मालामाल, 1 लाख की पूंजी लगाकर कमाएं 8 लाख; ये है पूरा तरीका

आजकल लोग कई तरह के कार्य करके अच्छी आमदनी कर रहे हैं। बात जब खेती की आती है तो वो दिन गए जब किसान सिर्फ पारम्परिक खेती कर आमदनी के लिए संघर्षरत रहा करते थे। अब किसान अलग-अलग तरह की फसलों, सब्जियों व फलों की खेती करके अपनी आमदनी को कई गुना बढ़ा रहे हैं। वे अपनी खेती में नई तकनीकों का भी प्रयोग कर रहे हैं।

आज हम आपको खेती से जुड़े एक ऐसे व्यवसाय के बारे में बताएंगे जो आपको लाखों रुपए की आमदनी देगी।

करें खीरे का व्यवसाय
आजकल लोगों के बीच खेती का क्रेज बढ़ता जा रहा है। ऐसे में आप भी चाहें तो इसकी छोटी शुरुआत कर सकते हैं। आप खेती को व्यापार का रूप भी दे सकते हैं। आप चाहे तो खेत में खीरे को उगाकर इससे अच्छा-खासा लाभ अर्जित कर सकते हैं। आप 1 लाख रुपए की लागत के साथ इसका व्यापार प्रारंभ कर हर माह 8 लाख रुपए कमा सकते हैं।

अगर आप खीरे की खेती कर रहे हैं और इससे पैसा कमाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अधिक इंतजार की आवश्यकता नहीं होगी। क्योंकि इसकी खेती में ज्यादा वक्त नहीं लगता है। आप इसकी बुआई के 4 माह के उपरांत ही इससे फल प्राप्त कर सकते हैं और पैसे कमा सकते हैं। हालांकि आपको इस बात का ध्यान रखना है कि अगर आप खीरे को व्यवसाय का स्वरूप देना चाहते हैं तो इसके लिए खास किस्म के खीरे की बुआई करनी होगी। इसकी खेती के लिए आपको सरकार की तरफ से सब्सिडी भी मिलेगा जिससे इसका खेती करना आसान हो जाएगा।

खीरे की खेती के लिए बरसात का मौसम अनुकूल
जानकारी के अनुसार खीरे की खेती ज्यादातर बरसात के मौसम में ही होती है। अगर आप इसकी खेती प्रारंभ करना चाहते हैं तो इसके लिए आपके खेत का पीएच मान 5.5-6.8 होना चाहिए। हालांकि इसकी ज्यादातर खेती पानी वालों इलाकों जैसे नदियों व तालाबों के किनारे होना अच्छा होता है। इसकी बुआई के बाद मात्र 80 दिन से आप इतने पैसे कमा सकते हैं।

अगर आप खीरे की बुआई करना चाहते है तो आपको अपने खेतों में सेडनेट बनवाना होगा। यूपी के एक किसान जिनका नाम दुर्गाप्रसाद है उन्होंने इसकी खेती की है और आज इसे व्यापार का रूप देकर अच्छा लाभ अर्जित कर रहे हैं। इसके बीज के लिए वह नीदरलैंड से सम्पर्क कर 72 हजार का बीज खरीदे और खेतों में उगाया। उन्होंने अपने खेती के लिए सरकार से सब्सिडी के तौर पर 18 लाख रुपये लिए थे।

हमेशा रहती है मांग
इस खीरे का मांग हमारे बाजारों में अधिक है क्यूंकि देशी खीरे के अपेक्षा इसमें बीज अधिक नहीं होते। इसका मूल्य भी अधिक है जिस कारण किसान इससे अधिक लाभ कमा सकते हैं। ये खीरा 45 रुपए प्रतिकिलोग्राम बिकता है जिससे किसान इसकी खेती अधिक मात्रा में कर रहे हैं। हमारे बाजार में इसकी मांग हमेशा इसलिए रहता है क्यूंकि लोग खीरे का उपयोग ज्यादातर सलाद या अन्य व्यंजनों के तौर पर करते हैं।

 

Check Also

लोकसभा निर्वाचनः प्रथम चरण में मप्र के छह संसदीय क्षेत्र में शुक्रवार को मतदान, जानें क्या है तैयारी

– मतदान दल आज मतदान सामग्री लेकर होंगे रवाना भोपाल । लोकसभा निर्वाचन-2024 के कार्यक्रम ...