Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / मौसम अपडेट : 122 साल का रिकॉर्ड टूटा, 2 मई के बाद ढीले पड़ेंगे गर्मी के तेवर

मौसम अपडेट : 122 साल का रिकॉर्ड टूटा, 2 मई के बाद ढीले पड़ेंगे गर्मी के तेवर

सूरज लगातार आसमान से आग उगल रहा है। बढ़ते तापमान और तेज हवाओं के कारण लगभग पूरा उत्तर भारत लू के चपेट में है। सबसे ज्यादा तापमान उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र के बांदा जिले का रहा। यहां तापमान 47 डिग्री सेल्सियस को पार कर गया। दिल्ली, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, पंजाब, चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश में तापमान सामान्य से 4 डिग्री सेल्सियस ज्यादा रहा।

122 साल का रिकॉर्ड टूटा
अप्रैल महीने में गर्मी ने 122 साल के रिकॉर्ड तोड़ दिए। उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में अप्रैल महीना सबसे गर्म रहा। उत्तर पश्चिम के 9 राज्यों जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली और उत्तर प्रदेश में अप्रैल का औसत तापमान 35.900 (न्यूनतम-अधिकतम का औसत) दर्ज हुआ, जो सामान्य से 3.35 डिग्री अधिक था। इसी तरह मध्य भारत के 6 राज्यों गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा, मप्र, छत्तीसगढ़ और ओडिशा में औसत तापमान 37.780 दर्ज हुआ, जो सामान्य से 1.490 अधिक था। मौसम विभाग 1901 से मौसम संबंधी आंकड़े जमा कर रहा है। उसके बाद पहली बार अप्रैल इतना गर्म रहा।

2 मई के बाद ढीले पड़ेंगे गर्मी के तेवर
2 मई से ही गर्मी कम होने लगेगी। पूरे महीने में देशभर में कई जगह तेज हवाओं के साथ बारिश के आसार हैं। 5 मई के बाद बंगाल की खाड़ी में साइक्लोन बनने के आसार हैं। इसके असर से आधे भारत में बारिश होगी। मई का तीसरा हफ्ता सबसे ठंडा रह सकता है। लेकिन, गुजरात, राजस्थान और पंजाब में राहत नहीं मिलेगी।

गर्मी की वजह से 6 साल बाद इतनी बिजली कटौती

16 राज्यों में कुछ दिनों से लगातार बिजली कटौती हो रही है। यूपी, राजस्थान, झारखंड, हरियाणा, मध्यप्रदेश आदि में डिमांड के मुकाबले सप्लाई 10% तक कम है। इसका प्रमुख कारण बिजली प्लांटों में कोयले की कमी है। कई राज्यों में 10-10 घंटे के कट लग रहे हैं। इससे पहले ऐसी स्थिति 2016 में बनी थी।

2010 के बाद सबसे ज्यादा हीटवेव, 5 साल की सबसे ज्यादा बारिश भी

  • आईएमडी के महानिदेशक डॉ. मृत्युंजय महापात्र ने बताया कि अप्रैल में पूरे देश का औसत तापमान 33.94 डिग्री सेल्सियस रहता है, जो इस बार 35.05 डिग्री दर्ज हुआ है। यानी 1.12 डिग्री ज्यादा।
  • इससे ज्यादा औसत तापमान 122 साल के इतिहास में केवल तीन बार 1973 में 35.30 डिग्री, 2016 में 35.32 डिग्री और 2010 में 35.42 डिग्री दर्ज हुआ था।
  • इस साल अब तक देश में हीटवेव और सीवियर हीटवेव के दिन 2010 के बाद सबसे ज्यादा रहे। अप्रैल के दौरान कुल 6 पश्चिमी विक्षोभ आए, लेकिन उनमें से केवल एक ही मामूली असर छोड़ पाया।
  • उत्तर-पश्चिम भारत में मार्च और अप्रैल के महीने बेहद सूखे रहे। उत्तर-पश्चिम में प्री-मानसूनी बारिश सामान्य से 84% और दक्षिणी भारत में सामान्य से 54% कम हुई।

राजस्थान: 9 शहरों का पारा 45 पार, बीकानेर, जैसलमेर, जोधपुर सहित 8 जिलों में 2-3 मई को होगी बारिश

राजस्थान में अप्रैल महीने के आखिरी दिन भी गर्मी के तेवर तेज रहे। राज्य के 9 शहरों में शनिवार दिन का अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस या उससे ऊपर दर्ज हुआ। धौलपुर में लगातार तीसरे दिन पारा 46 डिग्री सेल्सियस से ऊपर रिकॉर्ड हुआ। दिन ही नहीं रात में भी तेज गर्मी पड़ने लगी है। वहीं, रेगिस्तानी इलाके बाड़मेर में बूंदाबांदी हुई। मौसम विभाग की मानें तो 2-3 मई को मौसम में बदलाव हो सकता है। यहां पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से पश्चिमी (बीकानेर, चूरू, नागौर, जैसलमेर और जोधपुर) और उत्तरी राजस्थान (गंगानगर, हनुमानगढ़ और झुंझुनू) के कुछ भागों में आंधी और बारिश होने के भी प्रबल आसार हैं।
 
आधे MP में हीटवेव का अलर्ट: अभी और ज्यादा तमतमाएगा सूरज; भोपाल-इंदौर में न्यूनतम पारा भी मारेगा उबाल
मध्यप्रदेश की रातें भी अब गर्म होने लगी हैं। प्रदेश में इस सीजन पहली बार रायसेन और जबलपुर में रात का पारा 29 डिग्री के पार 30 डिग्री तक पहुंच गया। रायसेन में न्यूनतम तापमान 30 डिग्री, दतिया में 29.4 और जबलपुर में 29.3 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ। ग्वालियर में भी रात का तापमान 28 डिग्री के ऊपर पहुंच गया। भोपाल और इंदौर में भी रातें अब तपिश वाली होने लगी हैं। रात के तापमान में और बढ़त हो सकती है।

भोपाल में न्यूनतम तापमान 25.8 और इंदौर में 24.4 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि अभी गर्मी और बढ़ेगी। दिन का तापमान 45 के आसपास बना रहेगा, जबकि रात में यह 30 डिग्री तक जा सकता है। ऐसे में दिन के साथ अब रात में भी गर्मी बढ़ेगी। दो दिन बाद तापमान कुछ नीचे आ सकता है। पारा कहीं-कहीं दो डिग्री तक गिर सकता है

बिहार: 38 जिलों में अलग-अलग मौसम; कहीं लू चलने तो कहीं बिजली गिरने का खतरा

प्रचंड गर्मी के बीच बारिश, सुनकर अजीब लगता है, लेकिन बिहार में ऐसा ही हो रहा है। मौसम दो तरह का हो गया है। कहीं लू का तो कहीं बिजली गिरने का खतरा है। मौसम विभाग को भी दोहरा अलर्ट जारी करना पड़ रहा है। आधा बिहार प्रचंड गर्मी से परेशान हो रहा है तो आधे में बारिश और बिजली गिरने से खतरा बना हुआ है।

मौसम विभाग ने लू और वज्रपात से जान को खतरा बताते हुए लोगों को सावधानी बरतने की चेतावनी दी है। मौसम विभाग ने दक्षिण बिहार में लू और उत्तर बिहार में बिजली गिरने को लेकर लोगों को अलर्ट किया है।

छत्तीसगढ़: महासमुंद सबसे गर्म, पारा 46.9; रायपुर में भी 10 साल का टूटा रिकॉर्ड

अप्रैल महीने में चल रही लू ने गर्मी के सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। शनिवार को छत्तीसगढ़ में महासमुंद सबसे गर्म रहा। यहां अधिकतम तापमान 46.9 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया। यह अप्रैल में मापा गया दूसरा सबसे अधिक तापमान बताया जा रहा है। इससे पहले 1980 में जांजगीर-चांपा में अधिकतम तापमान 46.9 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा था। राजनांदगांव में भी अब का सबसे अधिक तापमान 44.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। इससे पहले 2010 में 44.4 डिग्री सेल्सियस का रिकार्ड था।

UP: लखनऊ में गर्मी ने तोड़ा 23 साल का रिकॉर्ड, 45 डिग्री के पार पहुंचा पारा, बांदा रहा सबसे गर्म

उत्तर प्रदेश में अप्रैल के आखिरी दिन गर्मी अपने चरम पर है। शुक्रवार को बांदा प्रदेश का सबसे गर्म जिला रहा। यहां का अधिकतम तापमान 47 डिग्री दर्ज किया गया। यूपी के 4 शहरों लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज और झांसी में पारा 45 डिग्री के पार पहुंच गया है। मौसम विभाग ने 1 मई से 5 मई के बीच अलग-अलग स्थानों पर बारिश की संभावना जताई है।

लखनऊ में अप्रैल के महीने में गर्मी ने 23 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। 23 साल बाद यानी सन 1999 के बाद शुक्रवार को सीजन में पहली बार राजधानी का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस को पार कर गया। यहां का अधिकतम तापमान 45.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। साथ ही दिन भर लू चली। इस वजह से मौसम बेहद गर्म रहा।

पंजाब-हरियाणा में सोमवार तक गर्मी से राहत नहीं; हिमाचल में 4 तक मौसम रहेगा खराब

पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस की ओर बढ़ रहा है। गर्म हवाएं चलने के कारण लोग मजबूरी में ही घर से बाहर निकल रहे हैं। बढ़ती गर्मी की तपिश को लगातार हो रही बिजली कटौती ने और बढ़ा दिया है। खासकर हरियाणा और पंजाब में 5 से 6 बार बिजली कटौती से लोग ज्यादा परेशान हो रहे हैं।

मैसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक पंजाब और हरियाणा में सोमवार तक अभी तापमान और बढ़ेगा, ऐसे में अभी गर्मी से राहत की कोई उम्मीद नहीं है। हिमाचल और चंडीगढ़ में 4 मई तक मौसम खराब रहने से गर्मी से राहत मिल सकती है।

Check Also

सांप के जहर को भी काट देता है ऊंट का आंसू, ‎क्यों माना जाता है करामाती

-दुबई की सीवीआरएल में हो रहा शोध, जल्दी ही प‎‎रिणाम आने की उम्मीद दुबई (ईएमएस)। ...