Breaking News
Home / Slider News / महाराष्ट्र में सियासी बवाल : राज्यपाल ने उद्धव को दिया गुरुवार को बहुमत साबित करने का आदेश

महाराष्ट्र में सियासी बवाल : राज्यपाल ने उद्धव को दिया गुरुवार को बहुमत साबित करने का आदेश

मुंबई । महाराष्ट्र में राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी ने मंगलवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर गुरुवार को विधानसभा का विशेष अधिवेशन बुलाकर शाम 5 बजे तक बहुमत साबित करने का आदेश दिया है। साथ ही राज्यपाल ने अधिवेशन में बहुमत साबित करने के दौरान विधायकों की गिनती करते करने का निर्देश दिया है। राज्यपाल ने यह पत्र महाराष्ट्र विधानमंडल सचिवालय तथा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को भेजा है।

राज्यपाल ने कहा है कि विधान भवन सत्र में विधायकों के आने के बाद उपस्थित विधायकों की कुल संख्या की गणना की जाए ,जिससे पता चल सके कि विधानसभा में कितने विधायक हैं। साथ ही राज्यपाल ने उपाध्यक्ष को ध्वनि मत न लेने और सदन को खारिज नहीं करने का निर्देश दिया है। राज्यपाल ने उपाध्यक्ष नरहरि झिजवल को किसी भी हालत में विशेष अधिवेशन को शाम 5 बजे तक समाप्त करने का निर्देश दिया है, जिससे सदन का कामकाज किसी भी कारण से स्थगित नहीं किया जा सकता है। इसके साथ ही राज्यपाल ने इस विशेष अधिवेशन का सीधा प्रसारण भी करने का भी आदेश दिया है ।

उल्लेखनीय है कि पूर्व मुख्यमंत्री तथा विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस समेत भाजपा नेताओं ने मंगलवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात कर विशेष अधिवेशन बुलाने की मांग की थी। फडणवीस ने राज्यपाल को बताया था कि महा विकास आघाड़ी सरकार शिवसेना के कुछ विधायकों के बाहर होने से अल्पमत में है, इसलिए फ्लोर टेस्ट जरूरी हो गया है।

महाराष्ट्र के राज्यपाल के फ्लोर टेस्ट के आदेश पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज शाम 5 बजे

सुप्रीम कोर्ट आज शाम पांच बजे शिवसेना के चीफ व्हिप सुनील प्रभु की 30 जून को फ्लोर टेस्ट के राज्यपाल के आदेश को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई करेगा। आज प्रभु की ओर से वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने सुप्रीम कोर्ट में इस मामले पर जल्द सुनवाई की मांग की।

कोर्ट ने सिंघवी से कहा कि आप तीन बजे तक कोर्ट समेत सभी पक्षों को याचिका की प्रति उपलब्ध कराएं। हम पांच बजे सुनवाई करेंगे।

भाजपा विधायकों को आज शाम पांच बजे तक मुंबई बुलाया गया

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपने सभी विधायकों को बुधवार शाम तक मुंबई पहुंचने का आदेश दिया है। महाराष्ट्र विधानसभा के गुरुवार को होने वाले विशेष अधिवेशन के लिए भाजपा नेता बुधवार दोपहर देवेंद्र फडणवीस के आवास पर बैठक करने वाले हैं। इस बैठक में देवेंद्र फडणवीस, चंद्रकांत पाटिल, सुधीर मुनगंटीवार, आशीष शेलार और गिरीश महाजन जैसे नेता मौजूद रहेंगे।

इसी बैठक में शक्ति परीक्षण के लिए पार्टी की तैयारी की समीक्षा की जाएगी। उद्धव ठाकरे सरकार अगर अल्पमत में आती है देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनने के आसार हैं।

उल्लेखनीय है कि विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने मंगलवार को राज्यपाल से मुलाकात कर विशेष अधिवेशन बुलाने का आग्रह किया था। इसके बाद राज्यपाल ने मुख्यमंत्री को विधानसभा में बहुमत साबित करने का आदेश दिया है।

राज्यपाल का विशेष सत्र बुलाने का आदेश असंवैधानिक: संजय राऊत

शिवसेना प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य संजय राऊत ने कहा है कि राज्यपाल का विशेष सत्र बुलाने का आदेश असंवैधानिक है। इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट में अपील की जाएगी। संजय राऊत ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में अभी भी 16 विधायकों को अपात्र साबित किए जाने का निर्णय नहीं लिया है और इस संबंध में विधानसभा को यथास्थिति बनाए रखने के लिए कहा है।

संजय राऊत ने कहा कि वह राज्यपाल का सम्मान करते हैं। लेकिन कल विपक्ष राज्यपाल से मिला और इसके बाद उन्होंने विशेष अधिवेशन बुलाने का आदेश दिया है। पिछले ढाई साल से राज्यपाल के पास विधान परिषद के 12 विधायकों की नियुक्ति का पत्र पड़ा हुआ है, अभी तक निर्णय नहीं ले सके हैं।

राऊत ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी संविधान के खिलाफ काम कर रही है और महा विकास आघाड़ी सरकार के लड़खड़ाने का इंतजार कर रही थी। उन्हें लगता है कि उनके सपने के पूरे होने की घड़ी नजदीक आ रही है। हालांकि, यह इतना आसान और सरल नहीं है। राऊत ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष महा विकास आघाड़ी सरकार बनने के पहले दिन से ही सरकार गिराने का प्रयास कर रहे थे, अगर सरकार गिरती है तो देवेंद्र फडणवीस को शुभकामना। उन्होंने कहा कि शिवसेना कानूनी सलाह के लिए शिवसेना नेता अनिल देसाई, अनिल परब तथा अरविंद सावंत को नियुक्त किया गया है।

 

 

Check Also

Report : 10 महीने से पृथ्वी के तापमान की रिकॉर्ड वृद्धि दर्ज, सबसे गर्म महीना बना…

वाशिंगटन (ईएमएस)। ताजा आंकड़ों से पता चला है कि बीता मार्च महीना धरती के अब ...