Breaking News
Home / बड़ी खबर / देश / महाराष्ट्र में ओमीक्रोन वेरिएंट के बढ़ते केसों ने बढ़ाई चिंता, एक क्लिक पढ़े पूरी रिपोर्ट

महाराष्ट्र में ओमीक्रोन वेरिएंट के बढ़ते केसों ने बढ़ाई चिंता, एक क्लिक पढ़े पूरी रिपोर्ट

-देश के 73 मामलों में 32 महाराष्ट्र के, मुंबई में धारा 144 प्रभावशील

मुंबई (ईएमएस)। कोरोना के घातक वायरस के प्रकोप की दूसरी लहर झेल चुके भारत में अब इसके नए वेरिएंट ‘ओमीक्रोन’ के बढ़ते मामलों ने चिंता बढ़ा दी हैं। हारातों के मद्देनजर अन्य राज्य सरकारों ने पाबंदियां लगाना शुरू कर दिया हैं। पूरे देश में कुल मामले बढ़कर 73 पहुंच गए हैं। ओमीक्रोम के मामलों में महाराष्ट्र टॉप पर है। महाराष्ट्र में लगातार केसेस सामने आ रहे हैं। राज्य में ओमीक्रोन वैरिएंट वाले कोविड मामले बढ़कर 32 हो गए हैं। इधर राज्य में स्वास्थ्य विभाग ने अलर्ट जारी किया है। चिंता जाहिर की जा रही है कि केसेस जनवरी और फरवरी में रफ्तार पकड़ सकते हैं। इधर मुंबई में 31 दिसंबर तक धारा 144 लागू कर दी गई है।

महाराष्ट्र में बुधवार को ओमीक्रोन के चार नए मामले पाए गए, राज्य में कोरोना वायरस के नए स्वरूप के मामलों की संख्या बढ़कर 32 हो गई है। वहीं मंगलवार को 8 मरीजों में ओमीक्रोन की पुष्टि हुई थी। इनमें से सात मुंबई के थे। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के ओमीक्रोन स्वरूप के मामलों में जनवरी में तेजी आने की आशंका है। स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसे लेकर अलर्ट जारी किया है। चार मरीजों में से दो उस्मानाबाद के, एक-एक मुंबई का और बुलढाणा का है। महाराष्ट्र के सार्वजनिक स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डा. प्रदीप व्यास ने कहा, ‘कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप का संक्रमण दुनिया भर में तेजी से फैल रहा है और महाराष्ट्र में अगले साल जनवरी में इसमें तेजी आने की आशंका है। ओमीक्रोन स्वरूप के मामले ग्रामीण क्षेत्रों के अलावा शहरों में भी मिलेंगे।

महाराष्ट्र के बुलढाना में बुधवार को कोरोना वायरस के ‘ओमीक्रोन’ स्वरूप के पहले मामले की पुष्टि हुई। दुबई से लौटे 67 वर्षीय बुजुर्ग के इस स्वरूप से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। बुलढाना के आवासीय उपकलेक्टर दिनेश गीते ने बताया कि वरिष्ठ नागरिक स्थानीय निवासी हैं और वह तीन दिसंबर को दुबई से बुलढाना लौटे थे। वह आठ दिसंबर को कोविड-19 से संक्रमित पाए गए थे जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उनके नमूने को जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजा गया था। गीते ने कहा कि मरीज की हालत स्थिर है और वह ठीक हैं। उन्होंने बताया कि उनके परिवार के सदस्यों और करीबी संपर्कों की भी जांच कराई गई थी लेकिन रिपोर्ट निगेटिव आई है।

महाराष्ट्र में बुधवार को कोरोना वायरस से संक्रमित 925 और मरीजों की पुष्टि हुई जिनमें से चार मामले ‘ओमीक्रोन’ स्वरूप के हैं तथा 10 संक्रमितों की मौत हो गई। राज्य में कुल मामले 66,46,061 पहुंच गए हैं जबकि मृतक संख्या 1,41,298 हो गई है। मंगलवार को महाराष्ट्र में 684 मामले आए थे और 24 मरीजों ने दम तोड़ा था। इस बीच मुख्यमंत्री उद्वव ठाकरे ने सभी पात्र लोगों को टीके की दूसरी खुराक लगाने के लिए अतिरिक्त प्रयास करने का निर्देश दिया। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के संक्रमण से मुक्त होने की दर 97.72 प्रतिशत है जबकि मृत्यु दर 2.12 फीसदी है।
बुलेटिन के मुताबिक, पुणे मंडल में 297 नए मामले दर्ज किए हैं जबकि नासिक मंडल में 123, औरंगाबाद मंडल में 15, लातूर मंडल में 22, कोल्हापुर मंडल में 34, नागपुर मंडल में आठ और अकोला मंडल में नौ संक्रमित मिले हैं। पुणे मंडल में छह लोगों की मौत हुई है जबकि नागपुर, अकोला, औरंगाबाद और कोल्हापुर मंडल में किसी भी संक्रमित के दम तोड़ने की पुष्टि नहीं हुई है।

Check Also

प्रतापगढ़ : 42 वर्षों से रामपुर खास में फहरा रहा है कांग्रेस का झण्डा

– पिता से विरासत में मिली विधायिकी को बचाना मोना के लिये चुनौती लालगंज, प्रतापगढ़। ...