Home / उत्तर प्रदेश / इटावा / मंडप में ही चल बसी दूल्हन, शव के सामने साली से की शादी

मंडप में ही चल बसी दूल्हन, शव के सामने साली से की शादी

इटावा
उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में शादी समारोह का माहौल उस समय मातम में बदल गया जब शादी की रस्मों में बंधने जा रही दुल्हन की अचानक हार्ट अटैक से मौत हो गई। शादी को लेकर सभी रस्में पूरी हो रहीं थी। तभी अचानक दुल्हन को चक्कर आ गए और दुल्हन मंडप में गिर गई। इसी दौरान आनन-फानन में दुल्हन को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

जानकारी के मुताबिक, इटावा के थाना भरथना क्षेत्र के ग्राम समसपुर में दुल्हन सुरभि पुत्री स्वर्गीय रमापति की शादी मंजेश कुमार पुत्र अनिल कुमार ग्राम नवाली चितभवन इटावा के साथ बड़ी ही धूमधाम से शादी समारोह चल रहा था। बारात के आने पर दुल्हन पक्ष ने बड़े ही आदर सत्कार के साथ बारात का स्वागत किया। खानपान आदि विवाह की रस्मों में वरमाला, मांग भराई समेत अन्य कई रस्में पूर्ण हो चुकी थीं। सात फेरे(भांवरें) पड़ने के लिए दूल्हा-दुल्हन दोनों पक्ष तैयारी में जुटे थे।

इसी बीच दुल्हन बनी सुरभी अचानक बेहोश हो गई। दुल्हन के बेहोश होते ही शादी वाले घर में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में परिजनों दुल्हन सुरभी को गांव स्थित एक डॉक्टर के पास ले गए। जहां पर डॉक्टर ने जांच पड़ताल कर दुल्हन सुरभी को मृत घोषित कर दिया।

शादी समारोह में मौजूद रिश्तेदारों और सगे-संबंधियों, दूल्हा पक्ष के लोगों और मां जयदेवी उर्फ गुड्डी देवी की आपसी सहमति पर घर में मृत बहन सुरभी का शव रखे होने के साथ मृतका की छोटी बहन निशा को दुल्हन बनना पड़ा और दूल्हा के साथ शेष बची शादी की रस्मों को पूर्ण कर निशा ने सात फेरे लेकर परिजनों के दुख पर मरहम लगाने का प्रयास किया।

परिजनों ने निशा और दूल्हा मंजेश के सात फेरे पूरे कराकर ससुराल के लिए विदा कर दिया। इसके बाद परिवारीजनों ने सुरभी के शव का अन्तिम संस्कार कर दिया।

Check Also

खुशखबरी: गोरखपुर शहर को मिलेगा मल्टीलेवल पार्किंग का तोहफा, जानिए कैसे उठा सकते हैं इसका लाभ

गोरखपुर। महानगर में बहुप्रतीक्षित मल्टीलेवल पार्किंग अब जल्द ही लोगों के लिए खोल दी जाएगी। ...

Leave a Reply

Your email address will not be published.