Breaking News
Home / अपराध / भारी बवाल के बाद पुलिस के घेरे में हुआ नाबालिग का अंतिम संस्कार, दुष्कर्मी हत्यारे के घर चला बुलडोजर

भारी बवाल के बाद पुलिस के घेरे में हुआ नाबालिग का अंतिम संस्कार, दुष्कर्मी हत्यारे के घर चला बुलडोजर

– दुष्कर्मी हत्यारे के घर चला बुलडोजर तब माने युवती के परिजन
– घटना में लापरवाही बरतने व सेटिंग करने वाले कर्मियों पर कार्रवाई की मांग

फतेहपुर । जिले में लव जिहाद के बाद हिंदू नाबालिग लड़की की हत्या के मामले में मृतका के परिजनों की मांग पर जिला प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए आरोपी युवक के घर पर बुलडोजर चलवा दिया। बुलडोजर की इस कार्यवाई से आसपास के क्षेत्र में हड़कंप मच गया। शांति के मद्देनजर जिला प्रशासन ने चप्पे चप्पे पर पुलिस और पीएसी की तैनाती की थी।

बता दें कि सदर कोतवाली क्षेत्र के ज्वालागंज के रहने वाले दुष्कर्म व हत्या के आरोपी सोनू उर्फ सिकंदर पुत्र इस्लाम अहमद के घर पर जिला प्रशासन ने विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल के कार्यकर्ताओं व युवती के परिजनों के भारी बवाल के बाद बुलडोजर चलाया है। इससे पहले पुलिस पर दिवंगत बेटी के परिजनो ने आरोप लगाया था कि पुलिस ने मुख्य आरोपी को जेल भेजकर अन्य आरोपियों व हत्या में प्रयोग की गई लक्जरी गाड़ियां छोड़ दी हैं जिसमे भारी लेन देन का भी आरोप था। बीती पूरी रात पुलिस बेटी के अंतिम संस्कार करवाने का प्रयास करती रही मगर परिजन आरोपियों पर सख्त कार्रवाई करने के बाद ही अंतिम संस्कार के लिए कहते रहे। पूरी रात पुलिस व ग्रामीणों में बवाल हुआ। सुबह परिजन बेटी के शव को लेकर जाम लगाने के लिए निकले थे मगर पुलिस ने परिजनों को समझा कर आरोपी के घर बुलडोजर चलवाया तब परिजन अंतिम संस्कार के लिए माने। मंगलवार दोपहर बेटी का अंतिम संस्कार भिटौरा में हुआ जहां भारी पुलिस बल मौजूद रहा।
आपको बता दें कि जिले के राधा नगर थाना क्षेत्र के उमरी गांव का रहने वाला एक हिंदू परिवार सूरत में रहता है। वह 22 जून को शादी में शामिल होने के लिए गांव आया हुआ था। साथ में उसकी 17 वर्षीय बेटी भी आई थी।

जो बिंदकी कोतवाली इलाके के अक्सा मैरिज हाल से रात करीब 11 बजे लापता हो गई थी। परिजनों ने काफी खोजबीन की लेकिन उसका कोई पता नही चल सका। जिसके बाद पिता ने बेटी की लापता होने की सूचना देर रात ही जोनिहा चौकी व कोतवाली में दी थी लेकिन पुलिस ने इसे नजरंदाज कर दिया। 23 जून की सुबह लहूलुहान हालत में पास के निर्माणाधीन मकान में नाबालिग लड़की मरणासन्न अवस्था मे मिली जिसे उपचार के लिए कानपुर के हैलेट अस्पताल में भर्ती कराया गया। सोमवार को उपचार के दौरान लड़की की मौत हो गई। लड़की की मौत के बाद सोमवार की देर रात जब परिजन बेटी के शव को लेकर गांव पहुंचे तो लोग गम और गुस्से में थे। हिंदूवादी संगठनों ने भी इस घटना के विरोध में पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए आरोपी के घर पर बुलडोजर चलाने की व घटना में शामिल अन्य आरोपियों को पकड़ने की मांग की थी।

Check Also

इस चुनाव में भी बसपा नहीं जीत सकी उत्तर प्रदेश में एक भी सीट, जानें- कैसे बिगाड़ा खेल?

लखनऊ (हि.स.)। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव की तरह इस चुनाव में भी बसपा उत्तर ...