Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / बाराबंकी : दो पंचायतों के बीच सीमांकन को लेकर दिनों-दिन गरमाता जा रहा माहौल

बाराबंकी : दो पंचायतों के बीच सीमांकन को लेकर दिनों-दिन गरमाता जा रहा माहौल

हैदरगढ़ बाराबंकी। (आरएनएस ) लोनीकटरा थाना क्षेत्र में दो पंचायतों के बीच सीमांकन को लेकर माहौल दिनोंदिन गरमाता जा रहा है। एक धार्मिक स्थल को लेकर शुरू हुआ विवाद बीते दो माह के भीतर दोनों गाँवों के लोग ऐन केन मामले को थाने तक पहुंचा चुके हैं। लेकिन मामला शान्त होने के बजाय और बढ़ता जा रहा है। ऐसी स्थिति विकास क्षेत्र की ग्राम पंचायत गौरवाउसमानपुर के मजरे त्रिलोकपुर व पड़ोसी ग्राम पंचायत अखैयापुर के मजरे कनभरिया के बीच उत्पन्न हुई है। बतादें लोनीकटरा गौरवाउसमानपुर सम्पर्क मार्ग के किनारे त्रिलोकपुर गाँव के कई धार्मिक स्थल हैं।इसी में सम्पर्क मार्ग के उत्तर दिशा में कनभरिया तो दक्षिण में त्रिलोकपुर बसा हुआ है।

सम्पर्क मार्ग के दोनों तरफ गौरवाउसमानपुर ग्राम पंचायत की जमीन बताई जा रही है। इस जमीन पर त्रिलोकपुर के ग्रामीणों का पूर्व से कब्जा भी रहा। इसके चलते एक नई बस्ती बस गयी है। इसी बस्ती के पीछे व कनभरिया गाँव के मध्य तालाब भी है। तालाब दो हिस्सों में बँटा हुआ है। इसी के पूर्वी हिस्से पर त्रिलोकपुर वासी तपस्वी संत मथुरा प्रसाद की समाधि बनी है। सैकड़ों वर्षाे से इस स्थान पर मेले का आयोजन होने के अलावा श्रद्धालु मन्नत रवि व मंगल मानते, प्रसाद चढ़ाते व विभिन्न पारिवारिक आयोजन करते आ रहे हैं। त्रिलोकपुर वासियों के मुताबिक इस वर्ष भी आगामी 30नवम्बर को मेले का आयोजन होना है। त्रिलोकपुर निवासियों के मुताबिक पूर्व में इस जमीन के एक हिस्से पर गांव के मृत मवेशियों को भी डाला जाता रहा।

जिसे बहानेबाजी के द्वारा कनभरिया के लोगों ने जानवर डालने से मनाकर धीरे धीरे कब्जा कर निर्माण भी करना शुरू कर दिए। मामला दोनों गाँवों के बीच बीते नवरात्र में तब उलझा जब दुर्गा पूजा समिति त्रिलोकपुर ने माँ दुर्गा की प्रतिमा स्थापित की। तब इस जमीन पर कब्जा कर गोबर के उपले(कण्डे)पाथने वाले कनभरिया के लोगों ने विरोध किया और मामले की शिकायत थाने पर की। इस पर लोनीकटरा पुलिस ने स्थापित मूर्ति को राजनीतिक दबाव में हटवा कर बगल में त्रिलोकपुर की बड़ी मातन स्थल पर रखवा दी। और दोनों पक्षों के दर्जनों लोगों के खिलाफ शान्ति भंग की धारा में कार्रवाई कर कर्तव्यों की इति कर ली। तभी से दोनों गाँवों के लोगों में तनावपूर्ण हालत उत्पन्न बताई जाती है। बीते मंगलवार को एक बार पुनः माहौल अखैयापुर पंचायत द्वारा कनभरिया में नाली निर्माण कराने के दौरान सीमा विवाद के रूप में खराब हुआ। इस दौरान वहाँ पहुंचे हल्का लेखपाल की भूमिका से असंतुष्ट ग्रामीणों की कहासुनी हो गयी।मामले की शिकायत जहाँ ग्रमीणों ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर की है तो हल्का लेखपाल ने लोनीकटरा पुलिस से की है।

Check Also

सीतापुर : कोविड लक्षणयुक्त व टीकाकरण से वंचित बुजुर्गों की पहचान के लिए 24 से चलेगा अभियान

सीतापुर। कोविड के प्रति जनजागरूकता व संवेदीकरण के साथ ही कोविड के लक्षणयुक्त व्यक्तियों व ...