बहराइच : हरियाणा के गन्ने से खुशहाल होगें आइपीएल के किसान, जानिए कैसे

करनाल ने विकसित की तीन नई प्रजाति के गन्ने की बीज

 
जरवल/बहराइच। आईपीएल शुगर इकाई जरवलरोड द्वारा शरद कालीन गन्ना बुवाई में नई गन्ना प्रजातियों का भरपूर विकास किया गया है जिसमें प्रसिद्ध गन्ना संस्थानों करनाल शाहजहांपुर से नई विकसित शीघ्र गन्ना प्रजाति सीओएल ,14201 सीओएस 13235 व सीओ एस 15023 किसानों को आइपीएल शुगर मिल उपलब्ध करा रही  है। जिसमें सीओएस 15023 प्रजाति किसानों के बीच प्रशंसनीय  है।

इंडियन पोटाश लिमिटेड की शुगर इकाई जरवलरोड के बहराइच व गोंडा के संयुक्त गन्ना क्षेत्र मे ग्रीष्म कालीन गन्ना बुवाई चरम पर है। आईपीएल शुगर मिल के गन्ना विकास विभाग द्वारा नई नई प्रजातियों के गन्ने के बीज किसानों को उपलब्ध कराया जा रहा है। प्रसिद्ध गन्ना संस्थानों द्वारा विकसित की गई नई गन्ना प्रजाति के बीज उपलब्ध करा कर जहां एक ओर किसान बेहतर उत्पादन लेने की तकनीक मुहैय्या कराई जा रही है। वहीं दूसरी ओर चीनी मिल की रिकवरी के लिए भी ये प्रजातियां वरदान साबित हो सकती हैं। जिससे किसानों के साथ साथ चीनी मिल का उत्थान भी हो सकेगा।

आपूर्ति योग्य गन्ना खरीद कर ही सत्र समाप्त होगा: राणा

आईपीएल चीनी मिल के यूनिट हेड टी एस राणा ने बताया कि अब तक चीनी मिल के पेराई सत्र में 20 लाख 644 कुंटल गन्ने की खरीद कर दो लाख कुंटल से अधिक चीनी उत्पादन किया गया है। जब तक किसानों के पास आपूर्ति योग्य गन्ना मिलता रहेगा चीनी मिल चालू रहेगी तथा लक्ष्य के मुताबिक चीनी उत्पादन के उपरांत ही सत्र समाप्त किया जाएगा।श्री राणा ने बताया अब तक किसानों का बकाया ₹57 करोड़ 40 लाख गन्ना मूल्य भुगतान किया गया है शेष भुगतान भी शीघ्र ही किसानों के खाते में भेज दिया जाएगा।उन्होंने बताया कि चीनी मिल क्षेत्र के गन्ना किसानों को अधिक उपज दिलाने के लिए मिल प्रशासन कटिबद्ध है शीघ्र ही नई गन्ना प्रजातियों की और अधिक खेप मुहैया कराई जाएगी।