बहराइच : वर्षों से धर्मानंतरण के लिए होती थी प्रार्थनायें अब मामले ने फिर तूल पकड़ा !

0
798

….और चल गया कानून का चाबुक पूछ-तांछ शुरू मचा हड़कंप

जरवल/बहराइच। ईसाई मिशनरियों के एजेंटों पर प्रार्थना सभा आयोजित करने के नाम पर धर्म परिवर्तन कराने की ये दूसरी घटना सामने आई है। सूत्रों की माने तो एक दशक पूर्व कैसरगंज थाना क्षेत्र के कई ग्रामीण इलाकों में इसाईयो के धर्मगुरुओं ने एक योजनावद्ध तरीके से गाँवो की गरीब भोली-भाली जनता पर अपना सम्मोहन प्रार्थना सभा के जरिए कर बड़े पैमाने पर ईसाई मिशन पर काम करवाने का खाका तैयार किया था पर अखबार की सुर्खियों में जब मामले को तूल दिया गया तो इनके धर्मगुरुओं मे भगदड़ मच गई थी अब एक बार फिर जरवल रोड़ थाना क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों में इसकी चिंगारी दावानल के रूप मे फैल गई जिसको लेकर आरोप लगाते हुए ग्रामीणों ने पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है।

ग्रामीणों का आरोप है कि रविवार को ईसाई मिशनरियों के एजेंट भोले भाले ग्रामीणों को इकट्ठा कर प्रार्थना करने और प्रलोभन देकर ईसाई धर्म अपनाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। नायब तहसीलदार जरवल ने निरीक्षण कर प्रार्थना सभा बंद करने के निर्देश दिए है।रविवार को जरवलरोड थानाक्षेत्र के ग्राम तप्पेसिपाह, नई बाजार में ईसाई मिशनरियों के एजेंटों द्वारा भोले-भाले ग्रामीणों को प्रलोभन और प्रार्थना कराने के नाम पर इकट्ठा किया जाता है ।

विगत 5 वर्षों में प्रार्थना सभा में जाने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही हैं,और उनकी आस्था प्रभु ईसा मसीह में होती दिख रही है। गांव के लोगों ने इकट्ठा होकर के ईसाई मिशनरी के प्रार्थना सभा का विरोध करते हुए जरवलरोड पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। ग्रामीणों की सूचना पर जरवलरोड पुलिस ने पहुंच कर प्रार्थना सभा में इकट्ठा हुए करीब चार दर्जन लोगों से पूंछतांछ की है। धर्म परिवर्तन की सूचना पाकर नायब तहसीलदार जरवल विजय कुमार भी पहुंच गए उन्होंने पुराना सुबह में मौजूद लोगों से पूछताछ की। मजिस्ट्रेट ने बताया कि प्रार्थना सभा को बंद करवा दिया गया है,जिनको प्रार्थना करनी है,अपने घर पर करे।किसी के घर पर सामूहिक रुप से इकट्ठा हो न करे।

रविवार व गुरुवार को प्रार्थना कर जगाते हैं अलख
जरवल।तमाम जतन व विरोध के बावजूद भी जरवल रोड़ थाने के चंद कदम की दूरी पर ईसाई मिसिनरियो की प्रार्थना कुमरगड्डी गाँव मे हो गई सूत्रों की माने तो आने वाले गुरुवार को जरवल के बीबीपुर मार्ग पर भी इस प्रार्थनाएं होगी जिसकी भी तैयारी हो रही है।