Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / बहराइच : मुस्लिम बाहुल्य कैसरगंज की सीट पर क्या फिर भगवा…?

बहराइच : मुस्लिम बाहुल्य कैसरगंज की सीट पर क्या फिर भगवा…?

समीकरण से खिलता है यहाँ “कमल” मुस्कराते है देव दुर्लभ कार्यकर्ता

जरवल/बहराइच। भले ही मुस्लिम बाहुल्य विधान सभा कैसरगंज पर  केसरिया रंग के चटक रंग से ही भाजपा की ताज पोसी हो ही जाती है।है न हैरत की बात ! जिसकी सिर्फ एक ही वजह की इस विधान सभा का समीकरण जिसमे माइनॉरिटी का ही काफी योगदान भी रहता है।पुराने समीकरण तो यही बता रहे हैं।

फिर भाजपा के देव दुर्लभ कार्यकर्ता अपने”रहनुमा”को केसरिया रंग के चटक रंग से बड़े ही रहस्यमयी मुस्कान के साथ ताजपोशी भी कर देते है।वैसे राजनैतिक गलियारों से जो चैन कर हवा आ रही है उसमें असुद्दीनन ओवैसी की पार्टी एएमआईएम से विलाल अंसारी,राजा भइया की जनसत्ता दल(लोकतांत्रिक पार्टी) से हजरतदीन अन्सारीव बसपा से वकाउल्ला खान को चुनाव लड़ने के लिए हरी झण्डी दिख दी है।लेकिन भाजपा,सपा व कांग्रेस ने अभी तक अपने पत्ते नही खोले है इन पार्टियों के पत्ते खुलते ही चुनाव बड़ा ही दिलचस्प होगा।

क्योंकि इस सीट पर योगी सरकार के कैबिनेट मन्त्री मुकुट बिहारी वर्मा की प्रतिष्ठा जो दाँव पर लगी है वैसे सूत्र बता रहे हैं कि भाजपा इस बार इस सीट पर किसी नए चेहरे को भी ला सकती है जिसका सर्वे भी केंद्रीय टीम कर रही है।तो दूसरी ओर ये सीट सपा के खाते मे जाए के लिए सपा भी कोई जोखिम उठाना नही चाहती इस लिए सपा भी किसी दमदार प्रत्यासी को उतारने की फिराक मे है।वैसे इस बार कांग्रेस भी किसी दमदार प्रत्याशी को यहाँ उतारने के लिए उतावली सी दिख रही है।जिससे चुनाव बड़ा ही दिलचस्प दिखने वाला है।वैसे सूत्रों की माने तो यहाँ का मुस्लिम मतदाता फिलहाल चुप्पी साधे है पर भाजपा को उसके पाले से कैसे सीट हथिया ले कुछ इस बार चमत्कार करने के मूड मे है वक्त का इंतजार कर रहा है।
—————————————-
*288 विधान सभा कैसरगंज संभावित जातियों के आंकड़ों पर एक नजर*
—————————————-
मुस्लिम-1,67 000 लगभग
दलित72,460 ”
यादव-37,685 ”
वर्मा-28,500 ”
सवर्ण(ब्राह्मण-क्षत्रिय)-35000 ”
लोहार-18,200 ”
पाल-11,200 ”
कहार-9,800 ”
गोड़िया-38,600 ”
मल्लाह-9,800 ”
मौर्या-12000 ”
मुस्लिम-1,67000(जिसमे “बैकवर्ड मुस्लिम एक लाख “)
कुल वोटर-4,1,28 “

Check Also

प्रतापगढ़ : 42 वर्षों से रामपुर खास में फहरा रहा है कांग्रेस का झण्डा

– पिता से विरासत में मिली विधायिकी को बचाना मोना के लिये चुनौती लालगंज, प्रतापगढ़। ...