बहराइच : आबादी में लगातार हो रहे तेंदुए के आतंक से ग्रामीणों में दहशत

0
14

बृहस्पतिवार की रात तेंदुए ने एक गाय को बनाया निवाला

आबादी में कई ग्रामीणों पर आक्रमण कर चुका है इसी सप्ताह तेंदुआ

मिहींपुरवा/बहराइच l कतर्नियाघाट वन्यजीव प्रभाग के मोतीपुर रेंज के अंतर्गत ग्राम सभा परवानी गौढी में स्थित श्री जगदीश दास बाबा कुट्टी के जंगल से निकलकर परवानी गौढी गांव से लगभग 300 मीटर की दूरी रोहित वर्मा पुत्र बलभद्र वर्मा निवासी परवानी गौढी के खेत से 6 जनवरी की रात्रि में बाघ ने एक गाय पर हमला कर घसीटते हुए मोलहे रावत पुत्र दुबर रावत के अरहर के खेत में ले जाकर निवाला बना लिया। गाय के गर्दन तथा पेट को पूरी तरह से फाड़ दिया है। इतना ही नहीं इससे 3 दिन पहले भी यह तेंदुआ एक खरगोश को भी निवाला बना चुका है।

तेंदुए के जारी आतंक से गांव के लोग बहुत ही डरे और सहमे हुए हैं। ग्रामीणों ने घटना की जानकारी क्षेत्राधिकारी मोतीपुर महेंद्र मौर्य को सूचना दी गई। घटना की सूचना पाकर वन दरोगा कमला प्रसाद, वनरक्षक राममिलन एवं ठाकुर प्रसाद तथा बीट वाचर गोविंद एवं दिलीप कुमार ने मौके का मुआयना करते हुए गड्ढा खुदवाकर गाय के शव को दफना दिया गया है। इसी तरह लगातार नौसर गुमटी हा रेंज ककरहा मोतीपुर से सटे हुए जंगल से आबादी में लगातार तेंदुआ का आतंक जारी है जिससे कि ग्रामीणों में दहशत व्याप्त है जंगल के करीब में गन्ने के खेतों में अक्सर घटनाएं घट रही है इसके लिए रेंज की तरफ से कोई भी ऐसी व्यवस्था नहीं की जा रही है जिससे कि तेंदुए का आवागमन गन्ने के खेत में रोका जा सके रेंज कार्यालय की तरफ से आबादी के करीब में ग्रामीणों को जागरूक करने की जरूरत है जिससे कि जंगल से सटे हुए खेतों में गन्ने की बुवाई ना करके दूसरी अन्य फसलों की बुवाई करें या तो गन्ने की खेती के किनारे-किनारे तार फर्निशिंग कराई जाए।