Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / प्रतापगढ़ : सांगीपुर थाने के डांसर दरोगा को एसपी ने किया निलंबित, महिला डांसर के साथ किया था अश्लील नृत्य

प्रतापगढ़ : सांगीपुर थाने के डांसर दरोगा को एसपी ने किया निलंबित, महिला डांसर के साथ किया था अश्लील नृत्य

– बिना अनुमति के ही सिपाही के तिलक कार्यक्रम में गया था गाजीपुर
– महिला डांसर के साथ किया था अश्लील नृत्य, वीडियो हुआ वायरल

लालगंज, प्रतापगढ़। सांगीपुर थाने में तैनात एक दरोगा ने पद की गरिमा को शर्मसार कर दिया। एक कार्यक्रम मे हो रहे आर्केस्ट्रा के मंच पर चढ़ गया और नृत्य कर रही महिला डांसर के साथ खूब धमाल मचाया। इसे देख कर सभी लोग हैरत में पड़ गए। दरोगा जी बिना विभागीय अनुमति के ही एक सिपाही के तिलक में गाजीपुर गए हुए थे। मामले को गंभीरता से लेते हुए कप्तान ने डांसर दरोगा को निलंबित कर दिया।

सांगीपुर थाने में तैनात एक दरोगा बुधवार को आयोजित एक सिपाही के तिलक कार्यक्रम में बिना विभागीय अनुमति की ही गया हुआ था। आयोजक ने मनोरंजन के लिए आर्केस्ट्रा का प्रोगाम भी किया था। सभी लोग खाना-पीना खाकर नृत्य व संगीत का आनंद ले रहे थे। गीत खत्म होते ही जैसे मंच पर एक महिला डांसर आकर नृत्य करने लगी। अश्लील गाने पर हो रहे डांस पर दरोगा जी बेकाबू हो गए और मंच पर चढ़ गए। यह सब देख कर वहां मौजूद सभी लोग दंग रह गए। लोग करते ही क्या? मामला दरोगा जी का था। लोगो की माने तो महिला डांसर के साथ नशे में टल्ली साहब का डांस देखने लायक था। दरोगा जी महिला के साथ लिपट कर खूब नाचे। अश्लील गाने पर डांस को देख कर सभी लोग तरह-तरह की चर्चा करते नजर आए। इसी बीच किसी ने डांस का वीडियो बनाकर बुधवार को ही वायरल कर दिया। अब वीडियो में महिला डांसर के साथ नृत्य करते हुए दरोगा जी की पहचान सांगीपुर में तैनात राजेश यादव के रूप में की गई। इससे पहले वह मानधाता में तैनात थे। वायरल वीडियो सांगीपुर में तैनात सिपाही वरवा,पोस्ट चोचक जिला गाजी पुर का रहने वाला राजकशोर यादव की तिलक का बताया जा रहा है। दरोगा जी के कारनामों ने पुलिस विभाग के साथ ही पद की गरिमा को शर्मसार कर दिया। उक्त मामले को गंभीरता से लेते हुए एसपी सतपाल अंतिल ने सीओ से मामले की रिपोर्ट मांगी। रिपोर्ट मिलते ही डांसर दरोगा को कप्तान ने निलंबित कर दिया।

कार्यक्रम में थानेदार भी थे शामिल
लालगंज, प्रतापगढ़। सिपाही के तिलक समारोह कार्यक्रम में एसओ जीतेन्द्र सिहं भी शामिल हुए थे। वायरल फोटो में वह दरोगा राजेश यादव के ही बगल बैठे नजर आ रहे है।अब प्रश्न यह है कि इतनी बड़ी जिम्मेदारी के पद पर कार्यरत थानेदार क्षेत्र को छोड़ सैकड़ो किमी दूर पार्टी कर रहे है वही क्षेत्र में कोई घटना होती है तो उसका जिम्मेदार कौन होता? replicas relogios patek phillipe अब एक प्रश्न और खड़ा होता है कि क्या थानेदार ने गाजीपुर जाने की जानकारी उच्चाधिकारियों को दी थी या नही।यही नहीं बिना अनुमति के साथ गए डांसर दरोगा पर तो थानेदार को ही कार्रवाई हेतु उच्चाधिकारियों को अवगत करना था।लेकिन वीडियो वायरल के बाद कार्रवाई का होना कहीं न कहीं से एसओ की भी लापरवाही नजर आती है।थानेउक्त संबंध में सीओ से बात करने का प्रयास किया गया लेकिन बात नही हो सकी।

Check Also

Cash For Query Case: क्या है कैश फॉर क्वेरी केस? जानिए इससे पहले किसी की गई सांसदी

नई दिल्ली:  रिश्वत लेकर संसद में सवाल पूछने (Cash For Query) के मामले में शुक्रवार ...