देश को दिशा दिखाने वाला प्रदेश, गरीबी से भरा हुआ है : प्रियंका गांधी

लखनऊ :  लखनऊ। कांग्रेस की महासचिव और उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने आज बाराबंकी और गोंडा की विधानसभाओं में आयोजित जनसभाओं को संबोधित किया और रोडशो कर कांग्रेस उम्मीदवारों के लिए वोट देने की अपील। अपने संबोधन में उन्होंने महंगाई, बेरोजगारी, छुट्टा जानवरों के मुद्दे पर भाजपा सरकार को जमकर घेरा। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की धरती महान है, इस धरती ने रफ़ी अहमद किदवई जैसे आजादी की लड़ाई लड़ने वाले नेता दिए। उन्होंने कहा सबसे ज्यादा नौजवानों की ऊर्जा उत्तर प्रदेश में हैं। यहां की धरती उपजाऊ है, यहां खेती अच्छे से हो सकती है। यहां के शिक्षित नौजवानों को सक्षम किया जाए, तो देश की तरक्की में वह सर्वाधिक भागीदारी दे सकते हैं। हमेशा उत्तर प्रदेश की राजनीति ने देश को दिशा दिखाई। इसके बावजूद उत्तर प्रदेश में परिस्थितियां यह हैं की यहाँ गरीबी है, बेरोजगारी है, महंगाई से लोग परेशान हैं। पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ती ही जा रही हैं।

उन्होंने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री पूरी दुनिया घुमते हैं और वहां दिल्ली की सीमा पर 700 किसानों की मौत हो जाती है, प्रधानमंत्री मिलने तक नहीं गए। प्रधानमंत्री 16 हजार करोड़ के दो हवाई जहाज खरीदते हैं, लेकिन गन्ना किसानों का बकाया नहीं दिया जाता है। जब उनके ही मंत्री के बेटे ने लखीमपुर में 6 किसानों को अपनी जीप के नीचे कुचल डाला, तब प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री क्यों किसानों से, पीड़ितों से मिलने नहीं गए। उस मंत्री का इस्तीफा भी नहीं मांगा, प्रधानमंत्री उसके साथ मंच साझा करते हैं।

श्रीमती गांधी ने कहा कि इस सरकार ने एक बोरा राशन दिला दिया, खातों में कुछ पैसे भिजवा दिए, उनको लगता है कि उनकी जिम्मेदारी ख़त्म। भाजपा ने लोगों को एक बोरे राशन पर निर्भर बना दिया, लोगों को गरीब बना दिया। आपको रोजगार इसलिए नहीं मिल रहा है, क्योंकि आप बेरोजगार होंगे, तो आपमें गुस्सा चढ़ेगा, आप में आत्मविश्वास नहीं होगा, तो आपको फुसलाना आसान हो जाएगा। इसीलिए जब आपके सामने धर्म-जाति की बात होगी तो आप जज्बात के आधार पर उनको वोट दोगे। वह जानबूझकर जनता को गरीब बना रहे हैं। जानबूझकर उन उद्योगों को मोदी के उद्योगपति मित्रों को बेचा जा रहा है, जिनसे हजारों नौकरियां मिल सकती हैं।

उन्होंने कहा प्रदेश की तीनों पार्टियां एक बिसात पर खेल रही हैं, यह प्रदेश का कोई विकास नहीं करने वाली हैं। इनसे सिर्फ और सिर्फ इनके नेताओं और इनके बड़े उद्योगपति मित्रों का ही विकास होगा। यह प्रदेश इस देश को दिशा दिखाने वाला प्रदेश है और आज गरीबी से भरा हुआ है। आप आंखें नहीं खोलेंगे और हर चुनाव में जाति-धर्म के आधार पर वोट देते रहेंगे, तो आपको इस खाई से कोई नहीं निकाल पाएगा, जिसमें आपको जानबूझकर धकेला गया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी खोखली घोषणाएं नहीं कर रही हैं। हम समस्याओं के समाधान के रोडमैप के साथ आपके सामने आए हैं।

श्रीमती गांधी ने कहा कि लोगों को अपनी रोजमर्रा की जरूरतें पूरी करने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है। बीते पांच वर्ष में नौजवानों के रोजगार के लिए इस सरकार ने कुछ नहीं किया, महिलाओं पर रोज अत्याचार हो रहे हैं, किसान और नौजवान छुट्टा जानवरों से खेतों की रखवाली कर रहे हैं। किसानों को खाद नहीं मिलती, उपज का सही दाम नहीं मिल रहा है। नोटबंदी और जीएसटी से छोटे दुकानदार उबर ही रहे थे कि कोरोना में अनियोजित लॉकडाउन कर दिया गया। इससे उनका व्यवसाय चौपट हो गया। इस सरकार ने कोई राहत नहीं दी। कांग्रेस ने बुनकरों के लिए एक विशेष पैकेज बनाया था, अब उसे भी ख़त्म कर दिया गया। प्रदेश की असलियत आपके सामने हैं, परिस्थितियां गंभीर हैं।

उन्होंने कहा कि नौजवान सरकारी नौकरी के लिए परीक्षाएं देता है, लेकिन पेपर लीक हो जाते हैं, भर्तियां रद्द कर दी जाती हैं। परीक्षा के बाद कटऑफ़ चेंज हो जाता है। उत्तर प्रदेश में 12 लाख पद खाली पड़े हैं, और सरकार उन्हें भरने के लिए उदासीन है। नौजवानों की कोई सुनवाई नहीं हो रही है। प्रदेश के लोगों की जिंदगी परेशानियों और मुसीबतों से भरी हुई है। राजनीति का मकसद सेवा करना होता है। यही लोकतंत्र का उद्देश्य है, लेकिन यहां जो सत्ता में है, वह आपको दबा रहा है।

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि भ्रष्टाचार, महंगाई का सामना जनता कर रही है, किसान अपनी समस्या से जूझ रहे हैं, बेरोजगारी से नौजवान परेशान हैं, कोई मदद नहीं कर रहा, कोई सहायता नहीं मिल रही है। उल्टा जब आप आवाज उठाते हैं, तो आपको दबाने की, आपका दमन करने की कोशिश की जाती है। कांग्रेस के अलावा अन्य दल आपसे वोट धर्म और राजनीति के आधार पर मांग रहे हैं, क्यों? इसकी वजह कि उन्होंने काम नहीं किया, जब लोगों पर अत्याचार हुआ, अन्याय हुआ, क्या अखिलेश यादव बाहर आए।

उन्होंने कहा कि जब प्रदेश में लोगों पर अत्याचार हुए, कोरोना का संकट आया, तब क्या समाजवादी पार्टी के नेताओं ने आपकी मदद की ? नहीं की। तब कांग्रेस पार्टी ने लोगों की मदद की। और अब पीएम कह रहे हैं कि कांग्रेस ने लोगों की सहायता कर पाप किया। कांग्रेस पार्टी ने बीते 3 साल से लोगों के मुद्दों पर संघर्ष किया। या विपक्षी पार्टियां आपके हित में काम नहीं करना चाहतीं, क्योंकि उनको लगता है कि चुनाव से समय जब वह जाति-धर्म के नाम पर वोट मांगेंगी, आप वोट दे देंगे। भाजपा की सरकार 5 साल में 12 लाख पद भर सकती थी, पर उन्होंने नहीं किया। आज हवाई अड्डों का उद्घाटन कर रहे हैं, अब कह रहे हैं महंगाई पर रोक लगाएंगे, अब तक क्यों नहीं किया ? अब उन्हें महिलाएं याद आ रही हैं, कह रहे हैं कि महिलाओं के लिए योजनाएं बनाएंगे, तो अब तक क्यों नहीं बनाई ? अब महिलाओं को बरगलाने का काम कर रहे हैं। पांच साल में क्या किया आपने ? कुछ नहीं किया, जब कुछ नहीं, तब धर्म-जाति की ही बात करेंगे। पहले आपने जाति के नाम पर बसपा को जिताया, फिर जाति-धर्म के नाम पर सपा को जिताया और फिर आपने धर्म के नाम पर भाजपा को जिताया। क्या मिला आपको ? रोजगार मिला ? महंगाई कम हुई ? किसानों को कोई सुविधा मिली ? कोविड में कोई सहायता मिली ?

श्रीमती गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि छुट्टे जानवर की समस्या बीते पांच वर्ष से है। 2019 से मैं इस सरकार को आगाह कर रही हूं कि इस समस्या का कोई समाधान निकाला जाए। मैंने मुख्यमंत्री को इस समस्या को लेकर चिट्ठियां भी लिखी हैं। आज जब चुनाव आए हैं, तब देश के प्रधानमंत्री, सर्वज्ञानी, अंतर्यामी, जिनको हर चीज का संज्ञान होता है, वह कहते हैं कि मुझे तो संज्ञान ही नहीं था कि यह समस्या है। हमने छत्तीसगढ़ में इस समस्या का समाधान किया, वहां की सरकार 2 रुपये किलो गोबर खरीद रही है। यह समस्या वहां तक़रीबन ख़त्म हो गई है। हम उत्तर प्रदेश में यही योजना लागू करेंगे। हम किसानों का कर्ज माफ़ करेंगे। बिजली बिल हाफ और कोरोना काल का बकाया माफ़ किया जाएगा। भर्ती प्रक्रिया पारदर्शी बनाई जाएगी। कोई इससे खिलवाड़ करने की कोशिश करेगा, उसपर कार्रवाई की जाएगी। ब्लॉक स्तर तक के अस्पतालों में महिला डॉक्टर, नर्स की नियुक्ति करेंगे, छात्राओं को स्कूटी देंगे। 20 लाख रोजगार देंगे, उनमें 40 प्रतिशत सीटें महिलाओं के लिए होंगी। महिलाओं पर हुए अत्याचार की रिपोर्ट दर्ज कर 15 दिन में कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने कहा कि आजादी की लड़ाई कांग्रेस पार्टी ने लड़ी, इस देश की आजादी के लिए खून पसीना कांग्रेस के नेताओं, देश के किसानों ने बहाया। इस आजादी को बचाने के लिए कांग्रेस खड़ी रहेगी और काम करेगी। आजादी का मतलब था इस देश का नौजवान, किसान और महिलाएं सशक्त बने और आत्मनिर्भर बने। जब तक आप सशक्त नहीं होंगे, आप आजाद नहीं होंगे। कांग्रेस के अलावा बाकी सारी पार्टियां धर्म और जाति के आधार पर आपकी गुलामी चाहती हैं ताकि आपके जज्बातों को अपना हथियार बनाकर वह सत्ता में रहें। इसलिए ऐसी पार्टी को चुनिए, जो आपके लिए काम करे, आपको सशक्त करे। कांग्रेस सबका विकास चाहती है, इसलिए चुनाव में कांग्रेस के उम्मीदवार को वोट देकर उत्तर प्रदेश का भविष्य सुरक्षित बनाएं।