दिल्ली के बाद सहारनपुर की हवा सबसे ज्यादा खराब, प्रदूषण सबसे ज्यादा इनके लिए घातक

0
15

दिल्ली में पॉल्यूशन के कारण लगे लॉकडाउन जैसे खराब हालात वेस्टर्न यूपी के शहरों में भी बनते जा रहे हैं। नेशनल कैपिटल रीजन से सटे पश्चिमी यूपी के शहरों में एयर क्वालिटी इंडेक्स औसत से काफी नीचे गिरता जा रहा है। रविवार को दिल्ली के बाद सबसे खराब हवा सहारनपुर में हैं। सहारनपुर का AQI (एयर क्वालिटी इंडेक्स) 397 है। वहीं, मेरठ, गाजियाबाद, नोएडा और बागपत की हवा में प्रदूषण का स्तर औसत को पार कर चुका है।

मेरठ में बन रहे 2019 के हालात

मेरठ में रविवार सुबह से ही हवा की क्वालिटी खराब है। ऑफ डे पर भी मेरठ का एयर क्वालिटी इंडेक्स 365 पर था। जो बेहद खतरनाक कैटेगरी है। पिछले 5 दिनों का AQI देखें तो मेरठ में 2019 जैसे हालात बन रहे हैं। जब दिवाली के बाद हवा खराब होने के कारण मेरठ में 2 दिनों के लिए स्कूलों में अवकाश घोषित करना पड़ा। स्कूलों के लिए अलर्ट जारी कर बच्चों को मास्क लगाकर आने की हिदायत दी गई। छोटे बच्चों के स्कूलों का समय बढ़ाना पड़ा।

मल्टीफंग्शनल स्प्रिंकल से दबाना पड़ रहा पॉल्यूशन

मेरठ में पॉल्यूशन के कारण बिगड़ रहे हालातों पर काबू पाने के लिए नगर निगम शहर की सिंचाई करा रहा है। सड़कों पर 3 मल्टीफंक्शनल स्प्रिंकल उतारे गए हैं। इनसे दिनभर सड़कों पर पानी का छिड़काव हो रहा है। जल निगम और वन विभाग पेड़ों पर पानी पर दिन में दो बार छिड़काव कर रहा है ताकि पेड़ों पर जमे धूल के कण और पॉल्यूटेंट्स को हवा से हटाया जा सके।

रैपिड, मेट्रो के काम के लिए गाइडलाइन जारी
बढ़ते प्रदूषण के कारण जिला प्रशासन और पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड ने मेरठ में चल रहे रैपिड रेल और मेट्रो के निर्माण कार्य को जारी रखने के लिए एडवाइजरी जारी कर दी है। प्रशासन प्रोजेक्ट का काम करने के लिए गाइडलाइन जारी की है, इसको फॉलो करने पर ही रैपिड, मेट्रो का काम होगा। प्लास्टिक शीट का प्रयोग, मॉस्क प्रयोग, पानी का छिड़काव और मिक्सिंग प्लांट को कवर करके ही काम होगा। मेरठ में 17 हॉट मिक्स प्लांट को 15 दिनों के लिए फिलहाल बंद कर दिया गया है।

NCR से सटे यूपी के शहर

नोएडा, गाजियाबाद, मेरठ, बुलंदशहर, बागपत, सहारनपुर

वेस्टर्न यूपी के जिलों में हवा के हालात

जिला AQI
दिल्ली 412
सहारनपुर 397
गाजियाबाद 381
बागपत 374
नोएडा 371
मेरठ 365
बुलंदशहर 349
मुरादाबाद 349
मुजफ्फरनगर 335
रामपुर 301

 

लखनऊ सहित पूर्वांचल के जिलों में हवा के हालात

जिला AQI
लखनऊ 283
प्रयागराज 252
कानपुर 244
आगरा 238
वाराणसी 241

 

प्रदूषण सबसे ज्यादा इनके लिए घातक

  • गर्भवती महिलाएं
  • 12 साल से छोटे बच्चे
  • टीबी, अस्थमा, दिल, सांस और आंख के रोगी
  • 55 साल से अधिक उम्र के बुजुर्ग
  • सर्दी, जुकाम, एलर्जी से पीड़ित
  • फैक्टरी वर्कर, पेट्रोल पंप स्टाफ, रियल स्टेट से जुड़ी लेबर
AQI मानक
0-50 अच्छा
51-100 संतोषजनक
101-200 थोड़ा प्रदूषित
201-300 खराब
301-400 बहुत खराब
401- 500 खतरनाक