Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / थर्ड वेव के खतरे के बीच जानिए यूपी में कोरोना का हाल, प्रदेश में कहर बरपा रहा डेंगू

थर्ड वेव के खतरे के बीच जानिए यूपी में कोरोना का हाल, प्रदेश में कहर बरपा रहा डेंगू

यूपी में कोरोना संक्रमण दर में कमी आई है. रिपोर्ट की माने तो वायरस पर नियंत्रण बना हुआ है. बुधवार सुबह पांच मरीज कोरोना बीमारी की चपेट में मिले हैं, जबकि 27 लोग डेंगू से पीड़ित निकले. फाइनल रिपोर्ट दोपहर बाद आएगी.

लखनऊ: यूपी में मंगलवार को एक लाख 22 हजार से अधिक कोरोना टेस्ट किए गए. इसमें नौ मरीजों में कोरोना की पुष्टि हुई. वहीं 8 मरीज डिस्चार्ज किए गए. यह केस गत वर्ष मार्च के रहे. यूपी में देश में सर्वाधिक 8 करोड़ 56 लाख से अधिक टेस्ट किए गए. यहां एक व्यक्ति के पॉजिटिव आने पर 42.3 लोगों की जांच की जा रही है. यह डब्ल्यूएचओ के मानक से अधिक है. इस दौरान केजीएमयू, बीएचयू, सीडीआरआई की लैब में जीन सिक्वेंसिंग टेस्ट किए जा रहे. इसमें अब तक सिर्फ दो डेल्टा प्लस के केस रहे. वहीं 90 फीसद से ज्यादा डेल्टा वैरिएंट ही पाया गया.

एक्टिव केस 99 बचे

राज्य में एक्टिव केस की संख्या 99 है, मरीजों का यह आंकड़ा गत मार्च का रहा. वहीं, तीसरी लहर से निपटने की तैयारी जारी है. अस्पतालों में 549 में ऑक्सीजन प्लांट लगाने का काम जारी है. इसमें से 517 प्लांट शुरू हो गए हैं. इनके संचालन के लिए आईटीआई पास कर्मी तैनात किए जा रहे हैं. वहीं, 56 हजार से अधिक आईसोलेशन बेड, 18 हजार आईसीयू बेड, 6700 पीकू-नीकू बेड तैयार हो गए हैं. 30 हजार ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर असप्तालों को दिए गए.

ये जिले हैं कोरोना मुक्त

प्रदेश के 45 जिलों में एक भी एक्टिव केस नहीं है. वहीं 19 जिलों में एक-एक मरीज एक्टिव बचा. वहीं अलीगढ़, अमरोहा ,औरैया, बदायूं ,बागपत ,बलिया ,बलरामपुर, बाराबंकी, बस्ती, बहराइच ,बिजनौर, चित्रकूट, देवरिया, एटा, इटावा, फर्रुखाबाद, फतेहपुर, फिरोजाबाद, गोंडा, हमीरपुर, हरदोई, हाथरस, झांसी, कानपुर नगर, कानपुर देहात ,कासगंज, कौशांबी, कुशीनगर, लखीमपुर-खीरी, ललितपुर, महाराजगंज, महोबा, मैनपुरी, मिर्जापुर, मुरादाबाद, प्रतापगढ़, रायबरेली, सीतापुर, रामपुर, संतकबीरनगर, शामली, श्रावस्ती, सोनभद्र और उन्नाव आदि में अब कोविड का मरीज नहीं बचा है. यह जनपद कोरोना मुक्त हो गए हैं.

हर रोज घट-बढ़ रहे मरीजअगस्त : एक अगस्त को 36 मरीज मिले. दो अगस्त को 25, वहीं तीन अगस्त को 65 रोगी पाए गए. इसके अलावा 4 अगस्त को 61, 5 अगस्त को 34, 6 अगस्त को 41, 7 अगस्त को 28, 8 अगस्त को 58, 9 अगस्त को 23, 10 अगस्त को 20, 11 अगस्त को 27 व 12 अगस्त को 43 मरीज मिले. वहीं माह में सर्वाधिक मौतें 12 अगस्त को ही हुई. 13 अगस्त को 33 मरीज मिले. 14 अगस्त को 42, 15 अगस्त 72 नए मरीज पाए गए. 16 अगस्त को 17 नए मरीज मिले. 17 अगस्त को 27 मरीज मिले. 18 अगस्त को 29 केस मिले. 19 अगस्त को 26 केस रहे. वहीं 20 अगस्त को 26, 21 अगस्त को 19, 22 अगस्त को 19 व 23 अगस्त को 7 व 24 को 28 केस, 25 को 22, 26 को 19, 27 को 21, 28 को 26 केस, 29 को 15, 30 को 21, 31 को 19 केस मिले.

सितंबर : एक सितम्बर को 19 मरीज मिले. दो सितम्बर को 36 व तीन सितम्बर को 18, चार सितंबर को 26 मरीज, पांच सितम्बर को 18 केस,6 सितम्बर को 12 केस, 7 सितम्बर को 22, 8 सितंबर को 16, 9 सितम्बर को 11, 10 सितम्बर को 10 केस मिले, 11 सितम्बर 14, 12 सितम्बर 21, 13 सितम्बर को 14 केस, 14 सितम्बर को 33 केस, 15 सितम्बर को 19 केस , 16 सितम्बर को 24 केस, 17 सितम्बर को 18 केस मिले, 18 सितम्बर को 9 केस, 19 सितम्बर को 17 केस, 20 सितम्बर को 20, 21 सितम्बर को 13 केस, 22 सितम्बर को 17 केस, 23 सितम्बर 11, 24 सितम्बर 28 केस, 25 सितम्बर 14 केस, 26 सितम्बर को11, 27 सितम्बर को 7 केस मिले, 28 सितम्बर को 18, 29 सितंबर 8 मरीज, 30 सितंबर 14 केस मिले.

अक्टूबर : एक अक्टूबर को 24, दो अक्टूबर को 14 केस, तीन अक्टूबर 13 केस मिले, चार अक्टूबर को 16 केस, पांच अक्टूबर 21 केस, छह अक्टूबर को 9 केस, 7 अक्टूबर को 15, 8 अक्टूबर को 11 केस मिले, 9 अक्टूबर को 11 केस, 10 अक्टूबर को 18 केस मिले, 11 अक्टूबर को 12 केस, 12 अक्टूबर 20 केस मिले, 13 अक्टूबर को 11केस मिले, 14 अक्टूबर को 14 केस, 15 अक्टूबर को 6, 16 अक्टूबर को 5, 17 अक्टूबर को 10, 18 अक्टूबर को 9, 19 अक्टूबर को 12, 20 अक्टूबर को 11, 21 अक्टूबर को 12 केस, 22 अक्टूबर 3 केस, 23 अक्टूबर को 13 केस, 24 अक्टूबर 13 केस, 25 अक्टूबर को 7 केस, 26 अक्टूबर 5 केस, 27 अक्टूबर 13 केस, 28 अक्टूबर को 11 केस, 29 अक्टूबर 8 केस, 30 अक्टूबर 20 केस मिले, 31 अक्टूबर 6 केस मिले.

नवंबर : एक नवम्बर को तीन, दो नवम्बर को 7 केस, तीन नवम्बर को 6, चार नवम्बर पांच, पांच नवम्बर को चार, 6 नवम्बर 7 केस मिले, 7 नवम्बर 11 केस, 8 नवम्बर 8 केस, 9 नवम्बर को 11 केस, 10 नवम्बर को 14 केस मिले, 11 नवम्बर 10 केस मिले,12 नवम्बर को 10 केस, 13 नवम्बर 9 केस, 14 नवम्बर को 12 मरीज मिले, 15 नवम्बर को 7 केस, 16 नवम्बर को 9 केस मिले.

इन राज्यों को लेकर अलर्ट

जिन राज्यों में साप्ताहिक संक्रमण दर 3 फीसदी तक है, वहां से आने वाले लोगों की आरटीपीसीआर रिपोर्ट अनिवार्य है. इसके अलावा यदि वैक्सीन की दोनों डोज का प्रमाणपत्र है तो जांच की जरूरत नहीं है. बाहर से आने पर सात दिन क्वारन्टीन की सलाह दी गई है. इसमें मेघालय, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा, महाराष्ट्र, गोवा, उड़ीसा, आंध्र प्रदेश, मिजोरम, केरल राज्य शामिल हैं. कोविड सेंटर से इन यात्रियों का रोज हाल पूछा जा रहा है. एयर पोर्ट, बस स्टॉप पर हेल्थ टीम अलर्ट कर दी गई है.

अब सिर्फ 0.01 फीसदी से कम पॉजिटीविटी रेट

मरीजों की पॉजिटीविटी रेट 2.02 रह गई है. इसके अलावा राज्य में दैनिक पॉजिटीविटी रेट 0.01 फीसदी से कम हो गई है. वहीं, मृत्युदर अभी एक फीसदी पर बनी हुई है. जून में प्रदेश में संक्रमण दर का औसत एक फीसदी रहा, जबकि जुलाई में 0.3 फीसदी पॉजिटीविटी रेट की गई.

98.7 फीसदी पर रिकवरी रेट

30 अप्रैल को यूपी में सर्वाधिक एक्टिव केस 3 लाख 10 हजार 783 रहे. अब यह संख्या 99 हो गई है. वहीं, रिकवरी रेट मार्च में जहां 98.2 फीसदी थी, अप्रैल में घटकर 76 फीसदी पहुंच गई. वर्तमान में फिर रिकवरी रेट 98.7 फीसदी हो गई है.

Check Also

सीतापुर : कोविड लक्षणयुक्त व टीकाकरण से वंचित बुजुर्गों की पहचान के लिए 24 से चलेगा अभियान

सीतापुर। कोविड के प्रति जनजागरूकता व संवेदीकरण के साथ ही कोविड के लक्षणयुक्त व्यक्तियों व ...