ग्रेटर नोएडा : यमुना एक्सप्रेसवे पर रफ्तार का रोमांच होगा कम, पढ़िए पूरी खबर

0
15

– मौसम को देखते हुए वाहनों की स्पीड लिमिट घटाई गयी

ग्रेटर नोएडा। यमुना एक्सप्रेसवे पर कोहरे को देखते हुए वाहनों की स्पीड लिमिट कम की गई है। नए नियम के मुताबिक, अब हल्के वाहन 100 की जगह 80 किलोमीटर प्रति घंटा और भारी वाहन 80 के बजाए 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकेंगे। यह नियम 15 दिसंबर 2021 से 15 फरवरी 2022 तक लागू रहेगा। ग्रेटर नोएडा से आगरा तक जाने वाले यमुना एक्सप्रेसवे पर दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए बड़ा कदम उठाया गया है। यमुना प्राधिकरण के पत्र के बाद यमुना एक्सप्रेसवे का संचालन कर रही कंपनी जेपी इंफ्राटेक ने वाहनों की स्पीड लिमिट कम करने का फैसला किया है।

इसके तहत अब हल्के वाहन अब 100 की जगह 80 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चलेंगे। साथ ही भारी वाहनों की स्पीड लिमिट 80 से घटा कर 60 किलोमीटर प्रति घंटा कर दी है। यह नियम 15 दिसंबर 2021 से 15 फरवरी 2022 तक लागू रहेगा। यमुना एक्‍सप्रेसवे के अधिकारियों ने कहा कि स्‍पीड की निगरानी का काम कई जगह लगे सीसीटीवी कैमरों की मदद से किया जा रहा है, अगर कोई वाहन चालक इसका उल्लंघन करता है तो उसका ई-चालान कट जाएगा। कुछ दिन पहले यमुना प्राधिकरण जेपी इंफ्राटेक वाहनों की स्पीड लिमिट कम करने के लिए पत्र लिखा था। यमुना अथॉरिटी के सीईओ डॉ. अरुणवीर सिंह ने बताया कि एक्सप्रेसवे का संचालन कर रही कंपनी जेपी इंफ्राटेक को पत्र भेजकर इसके लिए जरूरी इंतजाम करने के निर्देश दिए गए हैं। यह कदम इस वजह से उठाया था कि सर्दियों में कोहरे के कारण विजिबिलिटी कम होने से हादसों की संख्या और बढ़ जाती है। सर्दियों में हादसों की रोकथाम के लिए यमुना अथॉरिटी के पत्र के बाद जेपी इंफ्राटेक ने वाहनों की अधिकतम लिमिट कम करने का फैसला किया है।