गोरखपुर : शांतिपूर्ण चुनाव के लिए गैंगस्टर के जमानतदारों पर कस रहा शिकंजा

गोरखपुर।चुनाव में किसी प्रकार का खलल न पड़े, इसलिए पुलिस गैंगस्टर के जमानतदारों पर सख्ती कर रही है। उन्हें हर सप्ताह थाने बुलाकर समझाया जा रहा है कि जमानत पर जेल से छूटे बदमाश अगर दोबारा अपराध करेंगे तो जमानतदारों पर भी कानूनी कार्रवाई कर मुकदमा दर्ज किया जाएगा। इसके बाद जमानतदार खुद कोर्ट में अर्जी देकर सक्रिय गैंगस्टर की जमानत कैंसिल करने की गुहार कर रहे हैं। वहीं, पुलिस भी कुछ गैंगस्टर की जमानत कैंसिल कराने के लिए अर्जी डाल रही है। साथ ही पुलिस बेल पर बाहर रहने वाले गैंगस्टर का भी सत्यापन कर रही है।गोरखपुर जिले में इस समय अलग-अलग थानों में रजिस्टर्ड 285 गैंगस्टर के मुकदमों के कुल 1177 गैंगस्टर और उनके जमानतदारों पर पुलिस सख्ती कर रही है।

जिले के कोतवाली थाने में 10 गैंग में 45 गैंगस्टर, राजघाट में 12 गैग में 42, तिवारीपुर में 6 गैंग में 27, कैंट में 33 गैंग में 114, खोराबार के 30 गैंग में 124, रामगढ़ताल के 7 गैंग में 20, गोरखनाथ के 6 गैंग में 27, शाहपुर के 22 गैंग में 93, कैंपियरगंज के 7 गैंग में 26, पीपीगंज के 2 गैंग में 8, सहजनवां के 7 गैंग में 26, चिलुआताल के 6 गैंग में 20, गीडा के 7 गैंग में 28, चौरी चौरा के 9 गैंग में 35, झंगहा के 12 गैंग में 80, पिपराइच के 9 गैंग में 41, गुलरिहा के 14 गैंग में 54, बांसगांव के 11 गैंग में 56, गगहा के 16 गैंग में 73, बेलीपार के 11 गैंग में 51, गोला के 13 गैंग में 52,बड़हलगंज के 14 गैंग में 56, उरूवा के 2 गैंग में 6, बेलघाट के 5 गैंग में 19, खजनी के 9 गैंग में 35, सिकरीगंज के 4 गैंग में 13 व हरपुर बुदहट थाने में एक रजिस्टर्ड गैंग में 5 गैंगस्टर शामिल हैं।

गोरखनाथ पुलिस ने इसी क्रम में कुछ दिन पहले सीएम योगी आदित्यनाथ पर टिप्पणी करने वाले गैंगस्टर पवन सिंह की जमानत कैंसिल कराने के लिए कोर्ट में अर्जी दे चुकी है। इसी प्रकार खोराबार, झंगहा, पिपराइच, कैंट, सहित छह थानों के 20 गैंगस्टर के जमानतदारों ने जमानत कैंसिल कराने के लिए या तो कोर्ट में अर्जी दे दी है या न्यायालय के चक्कर काट रहे हैं।वहीं दूसरी ओर जिले की राजघाट, शाहपुर, खजनी पुलिस ने पिछले 3 दिन में कच्ची शराब माफिया, लुटेरे, डकैत समेत तीन गैंग पंजीकृत कर 11 लोगों पर गैंगस्टर की कार्रवाई की है। एसएसपी विपिन टांडा ने कहा कि चुनाव को देखते हुए गैंगस्टर के खिलाफ कार्रवाई व जमानत कैंसिल कराने की कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी।