Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / गोरखपुर : कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की तैयारी का होगा मॉकड्रिल

गोरखपुर : कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की तैयारी का होगा मॉकड्रिल

गोरखपुर। कोरोना का नया वेरिएंट ओमिक्रान लगातार फैल रहा है। इसके साथ ही संक्रमण के मामले भी देश व विदेश में फिर से बढ़ने लगे हैं। लगातार बढ़ रहे संक्रमण के मामलों ने तीसरी लहर का खतरा मंडराने लगा है।इसको देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने अपनी तैयारियों को तेज कर दिया है। विभाग एक बार फिर कोविड अस्पतालों की तैयारियों को परखने जा रहा है। सबसे ज्यादा ध्यान ऐसे सरकारी अस्पतालों पर है जिनमें पीडियाट्रिक आईसीयू संचालित होंगे।

इसके अलावा सीएचसी और पीएचसी में बने कोविड वार्ड की तैयारियों पर भी शासन संजीदा है। इन अस्पतालों में प्लांट के जरिए ऑक्सीजन की सुविधा दी गई है। ऐसे सरकारी अस्पतालों के संसाधन को परखने के लिए आगामी 13 दिसंबर को मॉकड्रिल किया जाएगा।स्वास्थ्य विभाग ने बीते 13 नवंबर को मॉकड्रिल किया था। इस दौरान अस्पतालों में तैयारियों के दावे की पोल खुल गई। बड़े पैमाने पर खामियां मिली। सबसे ज्यादा खामिया जिले के पांच अस्पतालों में मिली थी। सीएचसी कैंपियरगंज और हरनही में मेडिकल गैस पाइपलाइन फंक्शनल नहीं मिला। 100 बेड टीवी अस्पताल के आईसीयू सेटअप में कोई एनेस्थीसिया विशेषज्ञ नहीं मिला।

बड़हलगंज स्थित राजा हरिप्रसाद मल्ल गवर्नमेंट होम्योपैथिक कॉलेज के कर्मचारी ट्रेंड नहीं थे। इतना ही नहीं उन्हें बायपैप का संचालन करना नहीं आता था। सीएससी चौरीचौरा में इंटीग्रेटेड कोविड कमांड कंट्रोल सेंटर का कोई भी व्यक्ति मॉकड्रिल में शामिल नहीं हुआ।महानिदेशक ने इन खामियों पर गहरी चिंता जताई है। उन्होंने मातहतों को पत्र लिखकर फौरन इन खामियों को दूर करने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही आगमी 13 दिसंबर को मॉकड्रिल करने का निर्देश भी दिया।सीएमओ डॉ. सुधाकर पाण्डेय ने बताया कि शासन से पत्र आया है। आगामी 13 दिसंबर को मॉकड्रिल करनी है। इससे पहले सभी खामियों को दूर कर लेना होगा।

 

Check Also

सीतापुर : कोविड लक्षणयुक्त व टीकाकरण से वंचित बुजुर्गों की पहचान के लिए 24 से चलेगा अभियान

सीतापुर। कोविड के प्रति जनजागरूकता व संवेदीकरण के साथ ही कोविड के लक्षणयुक्त व्यक्तियों व ...