गुड न्यूज़ : अब देश के 35 छावनी बोर्ड और 12 सैन्य अस्पतालों में भी होगा आयुर्वेद से इलाज

0
2779

– आयुष मंत्रालय ने इन केंद्रों पर आयुर्वेद चिकित्सकों को तैनात करने की व्यवस्था बनाई

– शाहजहांपुर और जबलपुर में छावनी बोर्डों के अस्पतालों में जल्द शुरू होंगे आयुर्वेद केंद्र

नई दिल्ली । भारतीय आयुर्वेद प्रणाली को बढ़ावा देने के मकसद से 37 छावनी बोर्ड अस्पतालों में से 35 और सशस्त्र सेना चिकित्सा सेवाओं के 12 सैन्य अस्पतालों में आयुर्वेद केंद्र शुरू किये गए हैं। सरकार की इस पहल से सशस्त्र बलों के कर्मियों, असैन्य कर्मचारियों के परिवारों सहित छावनियों के निवासियों को आयुर्वेद का लाभ मिल सकेगा। साथ ही पारंपरिक भारतीय आयुर्वेद प्रणाली की दवाओं को एक बड़े समुदाय में और अधिक लोकप्रिय बनाएगी।

इन आयुर्वेद केंद्रों को सक्रिय बनाने के लिए रक्षा मंत्रालय और आयुष मंत्रालय ने मिलकर कार्य किया है। इस पहल में सहयोग करने के लिए आयुष मंत्रालय ने इन आयुर्वेद केंद्रों पर आयुर्वेद चिकित्सकों को तैनात करने की व्यवस्था की है। अब तक 37 छावनी बोर्ड अस्पतालों में से 35 और सशस्त्र सेना चिकित्सा सेवा के 12 सैन्य अस्पतालों में आयुर्वेद केंद्रों को प्रारंभ कर दिया गया है। शाहजहांपुर और जबलपुर में छावनी बोर्डों के शेष दो अस्पतालों में आयुर्वेद केंद्रों को जल्द ही शुरू करने की योजना है।

रक्षा मंत्रालय प्रवक्ता के अनुसार उत्तर प्रदेश के आगरा, इलाहाबाद, बरेली, झांसी, बबीना, मथुरा, उत्तराखंड के देहरादून, रुड़की, कैम्पटी, रानीखेत, लैंसडाउन, मध्य प्रदेश के महू, पचमढ़ी, मोरार, श्रीनगर के बादामीबाग, पश्चिम बंगाल राज्य के उत्तर 24 परगना ज़िले में बैरकपुर, गुजरात के अहमदाबाद, महाराष्ट्र के देहू रोड, खड़की, तेलंगाना के सिकंदराबाद में आयुर्वेद केंद्र खोले गए हैं।

इसके अलावा हिमाचल प्रदेश राज्य के सोलन ज़िले में दगशाई, कसौली, सुबाथु, शिमला जिले में जतोग, खास्योल, चम्बा ज़िले में बकलोह और डलहौजी, पंजाब के फिरोजपुर, जालंधर, अमृतसर, जम्मू, बिहार के दानापुर, झारखंड के रामगढ़, कर्नाटक के बेलगाम, तमिलनाडु के वेलिंगटन में छावनी बोर्ड के अस्पतालों में आयुर्वेद केंद्र खोले गए हैं।

सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा के 12 सैन्य अस्पतालों की सूची में सेना के बेस अस्पताल दिल्ली कैंट-पश्चिमी कमान, सीएच (डब्ल्यूसी) चंडीमंदिर-पश्चिमी कमान, सीएच (सीसी) लखनऊ-मध्य कमान, सीएच (एससी) पुणे-दक्षिणी कमान, सीएच (ईसी) कोलकाता-पूर्वी कमान, एमएच जबलपुर-सेंट्रल कमांड, एमएच जयपुर-दक्षिणी पश्चिमी कमान, 166 एमएच, जम्मू-उत्तरी कमान, 151 बीएच, गुवाहाटी-पूर्वी कमान में आयुर्वेद केंद्र खोले गए हैं। नौसेना के आईएनएचएस अश्विनी, मुंबई में वायु सेना के सीएच (एएफ) बैंगलोर और वायु सेना अस्पताल, हिंडन में आयुर्वेद केंद्र खोले गए हैं।

इससे पहले, आयुष मंत्रालय के साथ रक्षा मंत्रालय ने दो समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए थे। पहला समझौता 37 छावनी अस्पतालों में आयुर्वेद केंद्र शुरू करने के लिए और दूसरा सशस्त्र बल चिकित्सा सेवाओं के 12 सैन्य अस्पतालों में आयुर्वेद केंद्र शुरू करने के लिए था।