Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / गुड न्यूज़ : 180 करोड़ से चमकेगा गाजियाबाद शहर, एयर क्वालिटी में सुधार और…

गुड न्यूज़ : 180 करोड़ से चमकेगा गाजियाबाद शहर, एयर क्वालिटी में सुधार और…

-अवस्थापना निधि एवं 15वां वित्त आयोग से मिलने वाली धनराशि को लेकर हुई बैठक

गाजियाबाद (हि.स.)। यदि सब कुछ ठीक रहा तो गाजियाबाद महानगर का पूरी तरह से कायाकल्प हो जाएगा। गाजियाबाद नगर निगम नागरिकों को सुविधा देने के लिए 180 करोड़ रुपये खर्च करेगा, जिसमें अवस्थापना निधि से 30 करोड़ एवं 15वां वित्त के लगभग 150 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इसको लेकर गुरुवार को महापौर सुनीता दयाल की अध्यक्षता में अवस्थापना व 15वें वित्त आयोग को बैठक सम्पन्न हुई। बैठक के बाद महापौर ने बताया कि इसके महानगर की एयर क्वालिटी में सुधार तथा सॉलिड वेस्ट मैनेजमेन्ट पर कार्य प्राथमिकता होगी। उन्होंने कहा कि कार्यो की गुणवत्ता में जीरो टॉलरेंस, नालों के ढलान का रखें विशेष ध्यान वह खुद करेंगी।

उन्होंने बताया कि शहर के विकास के लिए लगातार शासन द्वारा अवस्थापना निधि एवं 15वां वित्त आयोग का पैसा नगर निगम को मिलता है जिससे शहर में बड़े बड़े कार्य किये जायें हैं ।जिससे शहर की सड़के,जल निकासी जतु नाला निर्माण,पेयजल आपूर्ति के लिए लाइन का कार्य,पम्प अधिष्ठापित,भवन निर्माण,सॉलिड वेस्ट के कार्य,एयर क्वालिटी पर कार्य,कूड़ा निस्तारण, वाहन क्रय, एवं अन्य कार्य किये जाते है। जिससे शहर में विकास होता है और शहर सुंदर बनता है।

-निर्माण विभाग से सम्बंधित कार्य

1.बुलंदशहर रोड इंडस्ट्रियल एरिया में आई एम एस कॉलेज से रोड न 4 बड़े नाले त आर सी सी नाला निर्माण लागत 5 करोड़ 57 लाख।

2. साउथ साइट जी टी रोड औद्योगिक क्षेत्र में बालाजी ट्रेडर्स से कार्बन फैक्ट्री बड़े नाले तक आर सी सी नाला निर्माण लागत 1 करोड़ 12 लाख।

3. ब्रिज विहार साईं प्रयास मेडिकल से डी 349 व श्री दुर्गा मंदिर से बाल भर्ती स्कूल तक आर सी सी नाला निर्माण लागत 1 करोड़ 47 लाख।

4.शालीमार गार्डेन मेन 80 फूटा रोड पर प्लाट न 41 से 790 एव बीकानेर स्वीट तक अवशेष आर सी सी नाला निर्माण लागत 2 करोड़ 28 लाख।

5.नवयुग मार्केट में मुरैना गजक से अम्बेडकर पार्क एवं जी डी ए की पुलिया/एटलस साईकल तक व पुलिस चौकी से रेमांड्स शोरूम तक आर सी सी नाला निर्माण लागत 1 करोड़ 48 लाख।

6.रमतेराम रोड स्थित निगम मार्किट के जीणोद्धार का कार्य लागत 4 करोड़।

7. राजकीय आयुर्वेद/यूनानी चिकित्सालय का निर्माण लागत 60 लाख।

8. राज नगर एक्सटेंशन में प्रधानमंत्री आवास योजना में जल निकासी हेतु बरसाती नाला निर्माण लागत 5 करोड़ 39 लाख।

9. प्रताप विहार प्रधानमंत्री आवास योजना की जल निकासी हेतु नाला निर्माण लागत 58 लाख।

प्रकाश विभाग से सम्बंधित कार्य

1. उद्योगिक क्षेत्र बुलंदशहर रोड,साईट 3,मेरठ रोड,साईट 4 साहिबाबाद, लोहा मंडी,हर्षा कंपाउंड, अजन्ता कंपाउंड, अमृत स्टील, राजेन्द्र नगर इण्ड एरिया, पाइप मार्केट में प्रकाश व्यवस्था हेतु 500 नग 110 वाट एल ई डी लाइट्स लागत 55 लाख।

2. उद्योगिक क्षेत्र एस एस जी टी रोड,कविनगर इण्ड एरिया, मेरठ रोड,उद्योग कुंज,आनन्द इण्ड एरिया, पांडव नगर,पंजाब एस्पेलर कंपाउंड, मुकंद नगर,बोंझा, हिण्डन विहार में प्रकाश व्यवस्था हेतु 600 नग 110 वाट एल ई डी लाइट्स लागत 66 लाख।

3.समस्त जोनों के सभी वार्डो के लिए 50 वाट एल ई डी लाइट्स का क्रय लागत 1 करोड़ 4 लाख।

स्वास्थ्य विभाग से सम्बंधित कार्य

1. कविनगर ज़ोन,वसुंधरा जोन,सिटी ज़ोन के अंतर्गत डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन का समस्त कार्य लागत 7 करोड़ 62 लाख।

2.समस्त जोन में सेकेंडरी कूड़ा कलेक्शन का कार्य लागत 48 करोड़ 53 लाख।

3. नगरीय क्षेत्र में मुख्य मार्गो की मशीनीकृत सफाई का कार्य लागत 13 करोड़ 60 लाख।

4. नगरीय क्षेत्र में रात्रिकालीन सफाई व्यवस्था का कार्य लागत 6 करोड़ 30 लाख।

5.नगरीय क्षेत्र में उत्सर्जित ठोस अपशिष्ट के प्रबंधन, प्रसंस्करण एवं निपटान का कार्य लागत 23 करोड़ 4 लाख।

6.नगरीय क्षेत्र में संचालित सार्वजनिक शौचालय, सामुदायिक शौचालय एवं पिंक शौचालय की मशीनीकृत सफाई का कार्य लागत 1 करोड़ 44 लाख।

7. नगरीय क्षेत्र में संचालित मूत्रालयों की मशीनीकृत सफाई का कार्य लागत 96 लाख।

8. नगरीय क्षेत्र में 350 नए डोर टू डोर सीएनजी वाहनों के संचालन एवं अनुरक्षण का कार्य लागत 5 करोड़ 25 लाख।

बैठक में नगर आयुक्त डॉ नितिन गॉड, अपर जिलामजिस्ट्रेटे प्रशासन राजस्व रणविजय सिंह, अपर नगर आयुक्त अरुण यादव,सहायक नगर आयुक्त पल्लवी सिंह, जी एम जल आनंद त्रिपाठी, मुख्य अभियंता एन के चौधरी, मुख्य अभियंता जी डी ए मानवेन्द्र सिंह, अधिशासी अभियंता पीडब्ल्यूडी रामराज, लेखाधिकारी गीता कुमारी,नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मिथलेश कुमार,उद्यान प्रभारी डॉ अनुज सिंह एवं अन्य लोग शामिल रहे।

Check Also

सांप के जहर को भी काट देता है ऊंट का आंसू, ‎क्यों माना जाता है करामाती

-दुबई की सीवीआरएल में हो रहा शोध, जल्दी ही प‎‎रिणाम आने की उम्मीद दुबई (ईएमएस)। ...