Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्डधारी नेहा ने अंगुली के निशान से बनाई विश्व की सबसे बड़ी गौमाता की पेंटिंग

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्डधारी नेहा ने अंगुली के निशान से बनाई विश्व की सबसे बड़ी गौमाता की पेंटिंग

-नए गिनीज रिकॉर्ड के लिए दावा पेश करेगी, बीएचयू वैदिक विज्ञान की है छात्रा

वाराणसी (हि.स.)। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के वैदिक विज्ञान की छात्रा गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्डधारी नेहा सिंह ने विश्व की सबसे बड़ी गौ माता की पेंटिंग बनाने का दावा किया है। यह चित्रण 62.46 वर्ग मीटर (672 वर्ग फीट) कैनवास पर लगभग तीन लाख, पचपन हजार, चार सौ अट्ठासी अंगुली के निशान से बनाया है। नेहा ने बिना ब्रश के केवल अपने अंगुली के निशान से गौ माता की पेंटिंग बनाई है। जिसे बनाने में उन्हें दो महीने का समय लगा था। नेहा सिंह ने पहली बार विश्व की सबसे बड़ी एकल फिंगर प्रिंट पेंटिंग कामधेनु बनाई है। नेहा गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपनी कृति पेश करेंगी। मंगलवार को पेंटिंग कामधेनु का विमोचन विश्वविद्यालय के वित्ताधिकारी डॉ अभय कुमार ठाकुर ने किया।

पेंटिंग का पूरा साइज- लंबाई 12.8 मीटर (42 फ़ीट) है और चौड़ाई 4.88 मीटर (16 फ़ीट है) पूरा साइज 62.464 वर्ग मीटर यानी 672 वर्ग फ़ीट है। गौ माता पेंटिंग एक साल पहले ही पूरा हो चुका था। 2021 के कोरोना काल के लॉकडाउन एवं नवरात्रि के छुट्टियों में विश्वविद्यालय के कला संकाय में डॉ मनीष अरोरा, सुरेश के. नायर, हीरालाल प्रजापति आदि गुरुजनों के सहयोग एवं देखरेख में ही इस कार्य को पूर्ण किया गया था। शोध कार्य एवं पढ़ाई में व्यस्त रहने के कारण विमोचन में काफी विलंब हो गया।

आठ किताबों की लेखिका एवं अभी तक 5 विश्व रिकॉर्ड बना चुकी नेहा सिंह का यह छठवें विश्व रिकॉर्ड की तैयारी है। डॉ नेहा सिंह हमेशा इस तरह के अद्भुत कार्यों से सनातन संस्कृति के प्रचार प्रसार में ही जुड़ी रहती हैं। उन्होंने हनुमान चालीसा, दशोपनिषद, गीता विषयों पर विश्व रिकार्ड बनाया है।

Check Also

कानपुर : फेरों से पहले दूल्हे के गहने लेकर दुल्हन हुई रफूचक्कर, जब बराती ने रास्ता रोका तो

 बराती ने रास्ता रोका तो भाइयों ने उठाकर पटका कानपुर। ग्यारह हसबैंडों का बैंड बजाने ...