Breaking News
Home / बड़ी खबर / क्या होगा अगर 7 दिन तक कोई लगातार भूखा रहे? क्या होगा शरीर पर असर? कितना कम होगा वजन, जानें सब कुछ

क्या होगा अगर 7 दिन तक कोई लगातार भूखा रहे? क्या होगा शरीर पर असर? कितना कम होगा वजन, जानें सब कुछ

– वैज्ञानिकों ने निकाल लिया वजन कम करने का नया फॉर्मूला

नई दिल्ली (ईएमएस)। ताजा अध्ययन में पाया गया है कि सात दिनों तक बिना कुछ खाए जो व्यक्ति रहता है, उनके शरीर में हजारों तरह के परिवर्तन होते हैं और इस दौरान औसतन वे 5.7 किलो वजन कम कर सकता है। भारत में लोग धार्मिक कारणों से फास्ट करते हैं। लेकिन वजन कम करने के लिए फास्ट करना आज दुनिया में चलन हो गया। अब तक इसे लेकर कोई ठोस स्टडी नहीं हुई थी लेकिन अब नेचर मेटाबोलिज्म जर्नल में इस संबंध में जो स्टडी हुई है, उसमें कई तरह के फायदे सामने आए हैं। क्वींस मैरी यूनिवर्सिटी लंदन और नोर्वियन स्कूल ऑफ स्पोट्स साइंस के वैज्ञानिकों ने अपने अध्ययन में यह जानना चाहा कि अगर कोई व्यक्ति 7 दिनों तक सिर्फ पानी पीकर रहे तो उसके शरीर पर क्या असर होगा। एक स्टडी में शोधकर्ताओं ने 12 हेल्दी लोगों को शामिल किया।

इन लोगों को स्टडी में शामिल करने से पहले भी कई तरह के टेस्ट किए गए। इसके बाद सात दिनों तक कुछ भी नहीं खाने को कहा गया। इस दौरान वे सिर्फ पानी पीकर रहे। वैज्ञानिकों ने प्रयोगशाला में इन व्यक्तियों में 3000 प्लाज्मा प्रोटीनों की जांच की। ये प्लाज्मा प्रोटीन शरीर के विभिन्न अंगों में मौजूद कोशिकाओं से लिए गए। वैज्ञानिकों ने कहा कि फास्ट के सिर्फ 3 दिनों बाद ही इन प्रोटीनों में कई तरह के बदलाव आने लगे। इतना ही नहीं वैज्ञानिकों ने यह भी पाया कि फास्टिंग के दौरान शरीर के लगभग सभी अंगों पर कुछ न कुछ प्रभाव देखने को मिला।

अध्ययन में ज्यादातर प्रभाव अच्छा ही था। यहां तक कि दिमाग की कोशिकाओं में परिवर्तन देखने को मिला। अध्ययन में सबसे बेहतर प्रभाव यह रहा कि जिन व्यक्तियों ने 7 दिनों तक लगातार फास्ट किया और सिर्फ पानी पीकर रहा, उन लोगों में औसतन 5.7 किलो वजन कम हुआ। आपके शरीर की अतिरिक्त चर्बी कम हो जाएगी। वैज्ञानिकों ने कहा कि तीन दिनों के बाद ही फैट में स्टोर हुई एनर्जी खर्च होने लगती है जिसके कारण शरीर में नुकसान पहुंचाने वाली जो चर्बी होती है, वह एनर्जी के रूप गलने लगती है। अध्ययन में 212 प्रोटीनों पर खास रूप से विश्लेषण किया गया। इनके 500 से ज्यादा परिणाम आए।

इनमें अधिकतर में फायदा ही हुआ। हालांकि अब तक फास्टिंग के दौरान शरीर के अंगों पर किसी तरह के नुकसान का कोई बड़ा मामला सामने नहीं आया लेकिन वैज्ञानिक अभी इन डाटा का विस्तार से जानकारी जुटा रहे हैं। बता दें कि भारत में अधिकतर लोग पेट की चर्बी वाले मोटापे से परेशान रहते हैं। इसलिए ये लोग अक्सर वजन को कम करने की तरकीब खोजते रहते हैं। यदि आप भी उनमें से एक हैं तो यह आपके लिए खुशखबरी है।

Check Also

अलर्ट : भारतीय बच्चों के लिए खतरा साबित हो रहे नेस्ले के प्रोडक्ट, चौंकाने वाली रिपोर्ट आई सामने

-भारत सरकार ने दिए जांच के आदेश -सेरेलैक में मिली अधिक मात्रा में चीनी नई ...