Breaking News
Home / धर्म / क्या आपकी पत्नी करती है अधिक गुस्सा? जन्म के महीने से जानिए महिलाओं के स्वभाव और छुपे राज

क्या आपकी पत्नी करती है अधिक गुस्सा? जन्म के महीने से जानिए महिलाओं के स्वभाव और छुपे राज

स्त्री को सृष्टि का सबसे रहस्यमय प्राणी बताया गया है। ऐसा इसलिए क्योंकि स्त्री को आज तक कोई भी समझ ही नहीं पाया है। ऐसा माना जाता है कि बड़े-बड़े ज्ञानी-महाज्ञानी भी स्त्री के स्वभाव और उसके विचारों को नहीं समझ पाए हैं। इतना ही नहीं बल्कि स्त्रियों का स्वभाव कैसा होता है आज तक खुद भगवान भी नहीं जान पाए तो फिर आम मनुष्य कैसे जान सकते हैं।

मौजूदा समय में लड़के, लड़कियों को समझने के चक्कर में सालों साल शादी नहीं करते और जीवन भर उन्हें समझने की कोशिश में ही लगे रहते हैं। शास्त्रों-पुराणों में महिलाओं के शारीरिक अंगों और बनावट के साथ-साथ उनके जन्म के महीने के अनुसार भी उनके स्वभाव के बारे में बताया गया है, जिसके बारे में आज हम आपको जानकारी देने जा रहे हैं कि आखिर किस महीने में जन्मीं स्त्रियों का स्वभाव क्या होता है।

जनवरी और फरवरी महीने में जन्मीं स्त्रियां

जिन महिलाओं का जन्म इन दोनों माह में हुआ है वह देखने में बेहद आकर्षक होती हैं। यह महिलाएं सामान्य गोरे रंग या फिर गेहुआ रंग की होती हैं। इनकी आंखें और मुस्कान बहुत मनमोहक होती है। इन महिलाओं का हंसमुख स्वभाव होता है। यह महिलाएं सर्वगुण संपन्न होती हैं। उनका स्वभाव बहुत शांत होता है। इन महिलाओं को आराम करना बहुत अधिक पसंद होता है जिसके कारण यह कभी आलसी और असावधान भी हो जाती हैं।

इन महिलाओं की शादीशुदा जिंदगी में अक्सर मतभेद उत्पन्न होता रहता है परंतु यह महिलाएं अपने परिवार की सेवा के लिए हमेशा सबसे आगे रहती हैं। इन महिलाओं को अतिथि सत्कार करना बखूबी तरीके से आता है। इसी वजह से लोग इनसे मिलना जुलना बहुत पसंद करते हैं। इन महिलाओं को पीछे से लोगों की तारीफें भी मिलती हैं।

मार्च और अप्रैल में पैदा हुई स्त्रियां

मार्च और अप्रैल के महीने में जिन महिलाओं का जन्म हुआ है उनकी बोली बहुत मीठी होती है। यह महिलाएं संस्कारी होती हैं और इनका व्यवहार भी बहुत अच्छा होता है। यह महिलाएं मन की बहुत साफ होती हैं। इन महिलाओं को अपने मन में कुछ भी रखना बिल्कुल भी पसंद नहीं है। जो इनके मन में होता है, वह साफ-साफ कह देती हैं। इन दोनों माह में पैदा हुई महिलाएं बहुत ही धनवान और पुत्र वाली होती हैं। इन महिलाओं को भगवान पर अटूट विश्वास होता है। धर्म-कर्म के मामले में यह महिलाएं सबसे ज्यादा ज्ञान ध्यान रखती हैं।

यह महिलाएं बहुत सुंदर होती हैं। इनका व्यवहार इतना अच्छा होता है कि यह सबके साथ आसानी से मिल जाती हैं। इनका स्वभाव थोड़ा हठीला भी होता है। अगर इन्हें कोई बात बुरी लग जाती है तो वह उस बात को मन में बैठा लेती हैं, जिसके कारण लोगों से व्यवहार बहुत ही जल्द टूट जाता है परंतु यह महिलाएं जिसको भी प्यार करती हैं, उसका पूरा साथ निभाती हैं। अपने प्यार के लिए यह महिलाएं कुछ भी करने को तैयार हो जाती हैं।

मई और जून में जन्मीं स्त्रियां

जिन स्त्रियों का जन्म इन दोनों महीने में हुआ है, तो उनका स्वभाव काफी गुस्सैल होता है। यह महिलाएं छोटी-छोटी बातों में बहुत ज्यादा गुस्सा करती हैं। इनका रूप रंग साफ और गुलाबी रंग का होता है। यह अपने परिवार से बहुत प्यार करती हैं। यह महिलाएं बहुत चतुर और कामुक भी होती हैं। जब कोई भी व्यक्ति इनसे पहले दिन मिलता है, तो इनसे प्रभावित हो जाता है। इन महिलाओं का लोगों से बहुत जल्दी संबंध बन जाता है परंतु उतनी ही जल्दी खराब भी हो जाता है।

जुलाई और अगस्त में पैदा हुई स्त्रियां

इन महीनों में जिन स्त्रियों का जन्म होता है तो इनके अंदर बहुत अच्छे अच्छे गुण पाए जाते हैं, जिसके चलते इन्हें हर स्थान पर आदर सम्मान की प्राप्ति होती है। यह महिलाएं अपने जीवन में रानी जैसा सुख प्राप्त करती हैं। यह महिलाएं धैर्यवान होती हैं और इनका स्वभाव बहुत शांत होता है। यह महिलाएं उसूलों की भी पक्की होती हैं। इन्हें अनुशासन पसंद होता है।

सितंबर और अक्टूबर में पैदा हुई स्त्रियां

इन दोनों महीने में जिन स्त्रियों का जन्म होता है वह बहुत भाग्यशाली मानी जाती हैं। यह महिलाएं अपने जीवन में अपने परिवार का सबसे ज्यादा ख्याल रखती हैं। यह महिलाएं धनवान, मेहनती और सभी कार्यों को करने में निपुण भी होती हैं। इन महिलाओं को अपने काम और भावना को दबाकर रखना पसंद होता है। इनका स्वभाव ऐसा होता है कि यह हर चीज को जांचती परखती हैं।

इनका स्वभाव हंसमुख होता है लेकिन इन्हें बहुत जल्द गुस्सा भी आ जाता है, जिसके चलते इन्हें नुकसान का सामना करना पड़ जाता है। जब यह किसी काम को करने का ठान लेती हैं और वह काम सफल नहीं हो पाता है, तो ऐसी स्थिति में बहुत जल्द निराश हो जाती हैं।

नवंबर और दिसंबर में जन्मीं स्त्रियां

जिन स्त्रियों का जन्म इन दोनों महीने में होता है यह छोटे कद की होती हैं। इन स्त्रियों की गर्दन छोटी व सांवले रंग की होती है। यह किसी भी बात से बहुत जल्दी डर जाती हैं। इन महिलाओं को अपने प्रेम पर ज्यादा शक होता है। काम के प्रति भी यह महिलाएं लापरवाह मानी जाती हैं, जिसके चलते इनका जीवनसाथी इनसे कटा कटा रहता है। कभी-कभी तो यह गलत शब्द भी बोल देती हैं, जिसकी वजह से इनके परिवार में मुश्किलें झेलनी पड़ जाती है।

वैसे इन महीनों में पैदा हुई स्त्रियां बचत के मामले में बहुत माहिर होती हैं। यह भविष्य के लिए पैसा बचा कर रखती हैं। जब परिवार को बुरे समय से गुजरना पड़ता है, तो उस समय वह अपने द्वारा जोड़कर रखे गए धन से अपने परिवार को बुरे समय से बाहर निकालती हैं।

Check Also

इस बार वरुण गांधी की जगह पीलीभीत सीट से संजय सिंह गंगवार को मिल सकता टिकट !

लखनऊ (ईएमएस)। यूपी की पीलीभीत सीट से बीजेपी इस बार वरुण गांधी का पत्ता काट ...