Breaking News
Home / Slider News / कैसरगंज की विधान सभा सीट पर ई “का बा”….?

कैसरगंज की विधान सभा सीट पर ई “का बा”….?

गैर जनपद के प्रत्याशी को उतार कर बड़बोले नेताओ को दिखाया बाहर का रास्ता

मुलायम के करीबी रामतेज का टिकट कटा

 जरवल/बहराइच। कैसरगंज विधानसभा मे नामांकन के दूसरे दिन समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने जो चमत्कार किया इलाकाई सपा के दिग्गज नेताओं को मानो सांप ही सूंघ गया।अभी तक इस सीट पर सपा का हाई कमान किस पहलवान पर दाँव लगाते बीरबल की खिचड़ी से कम कतई नही था।जिससे सपा खेमे मे लोग ये कहते नजर आ रहे हैं की कैसरगंज मे”का बा”पर अटकले काफी तेज सी थी।जिस पर विराम लगाते हुए सपा के हाई कमान ने पड़ोसी जनपद गोण्डा के कटरा विधानसभा के रहने वाले मसूद आलम खान को उम्मीदवार बना कर चौका दिया।यहाँ तक कि मुलायम सिंह यादव के करीबी कैसरगंज के पूर्व सपा विधायक एवं फायर ब्रांड नेता राम तेज यादव को भी बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। वैसे सूत्रों की माने तो सपा हांड कपा देने वाली सर्द हवाओं मे भी दिग्गजो के पसीना छुड़ा दिया।

सूत्रों की माने तो सपा मुखिया दो फरवरी को बागपत और तीन फरवरी को गौतमबुद्ध नगर जाने से पहले ही सभी उम्मीदवारों को क्षेत्र मे रहने की सलाह भी दी थी जिससे ज्यादातर सपा नेताओ ने अपने घर की ओर राजधानी से यह समझ कर कूँच भी कर लिया है कि अब अखिलेश भइया के आने पर ही टिकट फाइनल होगा लोग अपने-अपने क्षेत्र मे वोटरों से दुहाई देने पर मजबूर से हो गए।बताते चले कैसरगंज विधानसभा सीट से सपा की बैतरणी पर करने का दंभ भर रहे सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष लक्ष्मी नारायण यादव,पूर्व विधायक राम तेज यादव,रामतेज यादव के साले का पुत्र आनंद यादव,रामतेज का भतीजा अनिल यादव,पुत्र कुलदीप यादव समेत प्रदीप यादव,आनन्द प्रकाश यादव,,आलम सरहदी,सुरैया सिद्दीकी, अनवार खान,मसूद आलम जो जनपद गोण्डा के कटरा विधान सभा के बताए जा रहे हैं जिनके अलावा पूर्व बसपा विधायक के पुत्र बाबू खान,रेनू शर्मा,प्रमोद सिंह जादौन,अवधेश वर्मा,व अतुल सिंह रैकवार है तो जरूर पर चर्चा हो ही रही थी।की अचानक पड़ोसी जनपद गोण्डा के रहने वाले मसूद आलम खान को इस विधान सभा से उतार कर सपा सुप्रीमो ने सबको चौका ही दिया।वैसे जानकारों की माने तो इस विधानसभा मे यादव व मुस्लिम मतदाता अभी प्रत्याशी की घोषणा न होने से साइलेंट जरूर है सपा उम्मीदवार की घोषणा होते ही इस विधानसभा मे समीकरण भी बदले नजर आवेगे कोई बड़ी बात नही है।

मंत्री पुत्र का ओवरकांफीडेंस खराब कर सकता है खेल

जरवल। कैबिनेट मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा का मिलनसार व्यवहार शालीनता और मीठे वचन के साथ प्रखर वक्ता की इस कर्म भूमि “यूपी मे बाबा है यूपी मे बाबा”ऊपर से मोदी का जादू जैसा करिश्मा भी कैसरगंज की विधानसभा पर भाजपा प्रत्याशी कैबिनेट मंत्री श्री वर्मा के पुत्र गौरव वर्मा को चुनावी बैतरणी पार करवाने मे उनका ओवर कांफीडेंस पर पानी भी फेर सकता है।वैसे हालात को देखते हुए जानकारों की माने तो भाजपा प्रत्याशी गौरव वर्मा को सतर्क रहने की भी जरूरत है।क्योंकि यहाँ पर हर साख पे उल्लू बैठा है जो आबाद गुलिस्ता पर पानी भी फेर सकता है।

 

…..तो नाराज इलाकाई यादव कही बिगाड़ न दे सपा का खेल ?

जरवल। बात कैसरगंज विधानसभा की हो उसमे यदुवंसियो को अहम न माना जाए तो भी तो गलत ही होगा।सपा हाई कमान की चुनावी गणित मे जिस तरह से गैर जनपद के प्रत्याशी को उतार कर चमत्कार किया है।नाराज यादवों के वोटरों पर किस पार्टी का सम्मोहन होगा ताना बाना बुना जाने लगा है।जिससे सपा की डगर भी पनघट पर पहुचना काम आसान नही है।

Check Also

सांप के जहर को भी काट देता है ऊंट का आंसू, ‎क्यों माना जाता है करामाती

-दुबई की सीवीआरएल में हो रहा शोध, जल्दी ही प‎‎रिणाम आने की उम्मीद दुबई (ईएमएस)। ...