केन्द्र के 10 लाख नौकरियां देने की घोषणा से विपक्ष बेचैन, मायावती ने कही ये बात..

0
5088

-मायावती बोलीं, प्रधानमंत्री मोदी की घोषणा कहीं छलावा तो नहीं

लखनऊ । बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने केन्द्र सरकार और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर हमला बोला है। उन्होंने केन्द्र की गलत नीतियों की वजह से देश में गरीबी, महंगाई और बेरोजगारी बढ़ने का आरोप लगाया है।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने मंगलवार को ट्वीट किया कि केन्द्र की गलत नीतियों व कार्यशैली के कारण गरीबी, महंगाई, बेरोजगारी व रुपये का अवमूल्यन अपने चरम पर है। इससे सभी त्रस्त और बेचैन हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र ने अब अगले डेढ़ वर्ष में यानी लोकसभा आम चुनाव से पहले 10 लाख भर्ती की घोषणा की है। यह कहीं नया चुनावी छलावा तो नहीं है?

उन्होंने कहा कि एससी, एसटी व ओबीसी वर्गों के इससे कई गुणा अधिक सरकारी पद वर्षों से रिक्त पड़े हैं। जिनको विशेष अभियान चलाकर भरने की मांग बसपा संसद के अन्दर और बाहर भी लगातार करती रही है। उनके बारे में सरकार चुप है जबकि यह समाज गरीबी व बेरोजगारी से सर्वाधिक दुःखी और पीड़ित है।

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज अगले डेढ़ वर्षों में 10 लाख सरकारी नौकरियों में भर्ती की घोषणा की है। प्रधानमंत्री की इसी घोषणा पर विपक्षी सवाल खड़ा कर रहे हैं। इसी क्रम में बसपा अध्यक्ष ने भी सवाल उठाए हैं।