Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / किसान न करें चूक! ई-केवाईसी के बाद ही मिलेगी सम्मान निधि, पढ़ें पूरी डिटेल

किसान न करें चूक! ई-केवाईसी के बाद ही मिलेगी सम्मान निधि, पढ़ें पूरी डिटेल

मीरजापुर (हि.स.)। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ उठाने वाले किसान जरा भी चूक न करें वरना 14वीं किस्त से वंचित हो जाएंगे। पात्रता की जांच के लिए अब आधार आधारित भुगतान किया जाने लगा है। ऐसे में समय रहते ई-केवाईसी, भू-लेख अंकन व आधार सीडिंग समेत पूरी प्रक्रिया पूर्ण करा लें अन्यथा खाते में 14वीं किस्त 2000 रुपये नहीं आएंगे।

उप कृषि निदेशक विकेश कुमार पटेल ने ई-केवाईसी कराने के बाद ही किसानों के खाते में 14वीं किस्त भेजी जाएगी अन्यथा किसान सम्मान निधि से वंचित हो जाएंगे। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत एनपीसीआई से आधार सीडिंग कराने के लिए 46,635 अवशेष हैं। पोर्टल पर ई-केवाईसी कराने के लिए 99,444 अवशेष हैं व भूलेख अंकन कराने के लिए 64,037 किसान अवशेष है। किसान बिना सहज जनसेवा केंद्र पर गए घर बैठे ही स्मार्टफोन से ई-केवाइसी कर सकते हैं। उप निदेशक ने बताया कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभ से वंचित पात्र लाभार्थियों को जोड़ने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। प्रत्येक ग्राम पंचायत स्तर पर शिविर का आयोजन किया जा रहा है। इसमें किसानों की समस्याओं का निस्तारण किया जा रहा है।

ऐसे करें फेशियल ई-केवाइसी

उप कृषि निदेशक विकेश कुमार पटेल ने बताया कि किसान स्मार्टफोन में प्ले स्टोर से पीएम किसान एप डाउनलोड करें। इसके बाद भाषा का चयन करते हुए लाग इन पर क्लिक करें, फिर बेनीफिशरी का चयन करें। पीएम किसान पंजीकरण अथवा आधार संख्या भरने के बाद ओटीपी पर क्लिक करें। आधार से लिंक मोबाइल पर ओटीपी प्राप्त होगा। लाग इन बटन पर क्लिक करके एमपीन बनाएं। एमपीन छह डिजीट का होना अनिवार्य है। उसके बाद कंस्टेंट फार्म भरकर स्कैन फेस पर क्लिक करके किसान अपना स्वयं फोटो खींचकर डालें। उसके बाद पुनः एमपीन डालकर सबमिट बटन पर क्लिक करने पर ई-केवाइसी सफलतापूर्वक हो जाएगी।

Check Also

कानपुर : फेरों से पहले दूल्हे के गहने लेकर दुल्हन हुई रफूचक्कर, जब बराती ने रास्ता रोका तो

 बराती ने रास्ता रोका तो भाइयों ने उठाकर पटका कानपुर। ग्यारह हसबैंडों का बैंड बजाने ...