Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / कानपुर : पत्रकार के साथ अमानवीय व्यवहार मामले में सिपाही समेत चौकी इंचार्ज निलम्बित

कानपुर : पत्रकार के साथ अमानवीय व्यवहार मामले में सिपाही समेत चौकी इंचार्ज निलम्बित

– तीन दरोगा व एक सिपाही को भी किया गया लाइन हाजिर, आईजी ने प्रकरण में निष्पक्ष जांच का दिया भरोसा

कानपुर । जनपद के आउटर थाना क्षेत्र महाराजपुर इलाके में बीते दिनों पत्रकार चन्दन जायसवाल के साथ हुए अमानवीय व्यवहार को लेकर आईजी कानपुर ने सख्त रूख अपनाया है। आईजी ने मामले में पत्रकारों के विरोध और आंदोलन को देखते हुए एक चौकी इंचार्ज व सिपाही को निलम्बित कर दिया है। जबकि मामले में तीन दरोगा व एक सिपाही समेत चार पुलिस कर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया है।

बता दें कि, बीते 19 अप्रैल की रात को पत्रकार चंदन जायसवाल को महाराजपुर इलाके में बेरहमी से मारपीट के साथ नग्न कर वीडियो वायरल कर दिया गया था। इस दौरान मौके पर पुलिस भी मौजूद थे। पत्रकार द्वारा पुलिस कर्मियों पर पिटाई और नग्न किए जाने का आरोप लगाया गया। इस मामले में प्रकाश में आते ही पत्रकारों के साथ सामाजिक संगठनों व प्रबुद्व वर्ग द्वारा पुलिस की मौजूदगी और कार्यशैली को निंदा की गई। प्रकरण में देश भर के पत्रकारों ने दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मुहिम तेज कर दी गई। इस मामले में कानपुर आने पर रविवार को पुलिस महानिदेशक मुकुल गोयल के सामने पत्रकारों ने रखा जिस पर डीजीपी ने प्रकरण की जांच आईजी रेंज प्रशांत कुमार को दी।

आईजी से सोमवार को भारी संख्या में पत्रकारों ने मुलाकात कर कार्रवाई की मांग की। पत्रकारों के आंदोलन को देखते हुए आईजी ने मामले की नजाकत को देखते हुए सोमवार की शाम चौकी इंजार्च कुलगांव प्रद्युमन सिंह व सिपाही दरवेश सिंह को निलम्बित कर दिया। इसके साथ ही सब इंस्पेक्टर संजीव कुमार, आशीष कुमार, कृष्ण कांत, हेड कांस्टेबल पंकज विहान को लाइन हाजिर करने निष्पक्ष जांच कर कार्रवाई का भरोसा पत्रकारों को दिया है।

Check Also

प्रधानमंत्री मोदी ने वाराणसी में फुलवरिया फ्लाईओवर का किया निरीक्षण, देखें तस्वीरें

वाराणसी  (हि.स.)। गुजरात में पूरे दिन व्यस्त और लम्बे कार्यक्रम, हवाई सफर के बाद गुरुवार ...