कानपुर देहात में भाजयुमो के पूर्व उपाध्यक्ष की हत्या, जमीन पर कब्जे के विरोध को लेकर हुआ विवाद

0
14

कानपुर देहात में शनिवार की देर शाम भाजपा युवा मोर्चा के पूर्व जिला उपाध्यक्ष की लाठी-डंडे से पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। उनके परिवार वालों ने उन्हें अस्पताल पहुंचाया, लेकिन डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया है। हत्या की वजह जमीन विवाद सामने आया है। हत्या के बाद इलाके में तनाव है। लोगों ने अस्पताल और थाने में हंगामा किया है। तनाव को देखते हुए फोर्स तैनात कर दी गई है। साथ ही पुलिस ने हत्यारोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

जमीन पर कब्जे के विरोध को लेकर हुआ विवाद

मामला पुखरायां स्थित सघन क्षेत्र का शनिवार देर रात का है। यहां पर लालू पाल की चाय और पान की दुकान है। बताया जा रहा है कि उस जमीन पर कुछ लोग निर्माण कार्य करा रहे थे। इसकी भनक लगने पर पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष राजेश तिवारी के बेटे अंबरेश तिवारी को लग गई। वह कुछ दोस्तों के साथ मौके पर पहुंच गए। आरोप है कि अंबरेश ने निर्माण कार्य का विरोध किया तो दबंगों ने उसे लाठी-डंडों ने पीटना शुरू कर दिया। यह देखकर अंबरेश के दोस्त मौके से भाग गए। दोस्तों ने मामले की सूचना पुलिस को दी, लेकिन पुलिस नहीं पहुंची। उन्होंने अंबरेश के घर वालों को सूचना दी।

तनाव को देखते हुए पुलिस फोर्स तैनात
सभी आनन-फानन घटनास्थल पहुंचे। वहां पर अंबरेश लहूलुहान मिला। परिजनों उसे पुखरायां सीएचसी ले गए। डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। वहीं, भाजपा नेता के बेटे की मौत की सूचना पर पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए है। हत्या से आक्रोशित लोग थाने में जमावड़ा लगाए हैं। तनाव को देखते हुए क्षेत्र में पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है। पुलिस लोगों को समझाने का प्रयास कर रही है। उधर, दबंग फरार हो गए हैं। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। बता दें, मृतक अंबरेश तिवारी भाजपा युवा मोर्चा के पूर्व उपाध्यक्ष थे।

आरोपियों की चल रही तलाश

कोतवाली प्रभारी राजेश कुमार सिंह ने बताया, हमले में घायल पूर्व भाजयुमो उपाध्यक्ष की मौत हो गई है। शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है और वही तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश की जा रही है।