कानपुर दक्षिण में चार दिन पानी की रहेगी किल्लत, एक लाख से अधिक की आबादी होगी प्रभावित

0
588

कानपुर। शहर के दक्षिण इलाके में हर वर्ष गर्मी के दिनों में पानी की किल्लत हो जाती है। इस वर्ष भी कई बार जलकल की पाइप लाइन टूटी और एक बार फिर टूट गई। पाइप लाइन टूटने से करीब चार दिन तक पानी की किल्लत बढ़ गई और करीब एक लाख से अधिक की आबादी प्रभावित होगी।

गुजैनी वाटर वर्क्स से निराला नगर और उस्मानपुर जेडपीएस यानि जोनल पंपिंग स्टेशन से सप्लाई बंद है। जेडपीएस को जाने वाली 36 इंच की मुख्य पेयजल लाइन पटेल चौक के पास नहर के अंदर टूट गई है। इससे दोनों जेडपीएस तक पानी नहीं पहुंच पा रहा है। इसके चलते करीब एक लाख लोग पानी के लिए जूझ रहे हैं। जलकल के जेई अजीत यादव ने बताया कि करीब चार दिन लाइन बनाने में और लगेंगे। एक जेडीपीएस में करीब सात एमएलडी पानी पहुंचता है, जिससे 50 हजार से ज्यादा लोगों के घरों तक पानी पहुंचता है।

गुजैनी वाटर वर्क्स से रतनलाल नगर, बर्रा पांच, निराला नगर और उस्मानपुर जेडपीएस में पानी जाता है। लोग दूसरे के निजी सबमर्सिबल और सार्वजनिक सबमर्सिबल पंप या फिर कुछ चालू हैंडपंप पर लाइन लगाकर पानी भरने को मजबूर हैं। जेडपीएस से सप्लाई बंद होने से जूही लाल कालोनी, पीली कालोनी, हरी कालोनी, उस्मानपुर, निराला नगर, अंबेडकर नगर बस्ती, साकेत नगर समेत अन्य इलाकों में पानी की सप्लाई रुकी हुई है।